एडवांस्ड सर्च

प्रियंका गांधी इफेक्ट? पूर्वांचल साधने को कुंभ से किसान तक, मोदी-शाह का प्लान

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के राजनीतिक असर को कम करने के लिए बीजेपी ने पूरी तरह से कमर कस लिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अवध और पूर्वांचल का साधने की रणनीति बनाई है. इसी मद्देनजर फरवरी के आखिरी सप्ताह में दोनों नेता उतर रहे हैं.

Advertisement
शिवेंद्र श्रीवास्तव [Edited By: कुबूल अहमद]लखनऊ\नई दिल्ली, 22 February 2019
प्रियंका गांधी इफेक्ट? पूर्वांचल साधने को कुंभ से किसान तक, मोदी-शाह का प्लान नरेंद्र मोदी और अमित शाह (फोटो-PTI)

उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल की कमान पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी को देना कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है. अब बीजेपी भी कांग्रेस के इस मास्टर स्ट्रोक की धार कुंद करने में जुट गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह 23 फरवरी से 3 मार्च तक उत्तर प्रदेश के अवध, काशी और पूर्वांचल के इलाके में डेरा जमाकर चुनावी रणनीति को अमलीजामा पहनाने और खास तौर पर किसानों को साधने की कवायद करेंगे.

अवध और पूर्वांचल के क्षेत्रों में बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाने के लिए नरेंद्र मोदी और अमित शाह साथ उतर रहे हैं. 23 फरवरी को प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अमित शाह सहकारी सम्मेलन को संबोधित करेंगे. इसके बाद शाह गोरखपुर में बीजेपी किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अधिवेशन का उद्घाटन करेंगे.

किसानों को रकम ट्रांसफर

गोरखपुर में बीजेपी किसान मोर्चा के अधिवेशन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पहुंचेंगे. दिलचस्प बात ये है कि इसी दिन मोदी गोरखपुर में राष्ट्रीय किसान सम्मेलन में 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' के तहत देश के 12 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में योजना की पहली किस्त के रूप में 2 हजार रुपये ट्रांसफर करेंगे.

पीएम मोदी 24 फरवरी को ही कुंभ में स्नान करेंगे. बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह से लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके कैबिनेट के करीब सभी मंत्री कुंभ में डुबकी लगा चुके हैं. माना जा रहा है कि इससे बीजेपी के सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और धार्मिक एजेंडे को धार मिलेगी.

अमित शाह पूर्वांचल के गाजीपुर में 26 फरवरी को कमल ज्योति अभियान के तहत लाभार्थियों के घर दीपक जलाने जाएंगे. ये 2019 के चुनाव की रणनीति ही है जिसके तहत बीजेपी केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों तक पहुंच रही है.

कांग्रेस के काउंटर की तैयारी

कांग्रेस अध्यक्ष को उनके घर में घेरने की रणनीति के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 मार्च को राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी भी जा रहे हैं. पीएम मोदी अमेठी में कई योजनाओं के उद्घाटन करने के साथ-साथ चुनावी रैली को भी संबोधित करेंगे. माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की ये रैलियां पूर्वांचल में जगह बनाने की कोशिश में जुटी कांग्रेस के मंसूबों के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकती हैं.

 बता दें कि कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश के अवध और पूर्वांचल इलाके की 41 लोकसभा सीटों की जिम्मेदारी सौंपी है. प्रियंका इन सभी संसदीय सीटों के लोगों से मुलाकात कर कांग्रेस की सियासी जमीन वापस पाने की कोशिशों में जुटी हुई हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay