एडवांस्ड सर्च

नमक्‍कल लोकसभा सीट: AIADMK का चलेगा जादू या DMK की होगी वापसी?

Namakkal Lok Sabha Constituency तमिलनाडु राज्य में 2019 लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करना एआईएडीएमके और डीएमके दोनों बड़ी पार्टियों के लिए बड़ी चुनौती है. नमक्‍कल लोकसभा सीट पर दो बार हुए चुनाव में एक बार डीएमके तो वहीं एक बार एआईएडीएमके को जीत मिली है. ऐसे में नमक्कल सीट पर दोनों ही पार्टियों के बीच कांटे की टक्कर है.

Advertisement
सना जैदीनई दिल्ली, 09 February 2019
नमक्‍कल लोकसभा सीट: AIADMK का चलेगा जादू या DMK की होगी वापसी? प्रतिकात्मक तस्वीर

तमिलनाडु राज्य की नमक्कल लोकसभा सीट सेलम जिले में आती है. 2008 में परिसीमन के बाद इस सीट का गठन हुआ. 2009 में पहली बार हुए चुनाव में द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) ने जीत हासिल की तो वहीं 2014 के लोकसभा चुनाव में ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) के पी. आर. सुंदरमजीतकर यहां से सांसद बने.

राजनीतिक पृष्ठभूमि

अस्तित्व में आने के बाद इस सीट पर दो बार चुनाव हुए हैं. 2009 में हुए लोकसभा चुनाव में डीएमके नेता गांधीसेल्वम में एआईएडीएमके उम्मीदवार Vairam Tamilarasi को हराया था तो वहीं 2014 में एआईएडीएमके उम्मीदवार पी. आर. सुंदरम ने डीएमके नेता गांधीसेल्वम को हराकर सत्ता पर कब्जा किया.2014 में इस सीट पर 79.63 फीसदी वोटिंग हुई थी, जिसमें एआईएडीएमके को 53.2 फीसदी, बीजेपी को - %, डीएमके को 25.4 और कांग्रेस को 1.87 फीसदी वोट मिले थे. जबकि 2009 में 78.69 फीसदी मतदानहुआ था, जिसमें एआईएडीएमके को 31.83 फीसदी, डीएमके को 0.94 फीसदी और कांग्रेस को 43.95 फीसदी वोट मिले थे.

सामाजिक ताना-बाना

2011 की जनगणना के मुताबित यहां की आबादी 17,53,146 है. जिसमें 63.71 फीसदी लोग ग्रामीण इलाके में रहते है तो वहीं 36.29 फीसदी शहरी आबादी है. जिसमें 20.16 फीसदी लोग अनुसूचित जाति (SC) के अंतर्गत आते हैं जबकि अनुसूचित जनजाति (ST) की आबादी 3.3 फीसदी है. 2014 लोकसभा चुनाव केआकड़ों के मुताबिक यहां 6,61,113 पुरुष और 6,68,439 महिला मतदाताओं के साथ कुल 13,29,552 मतदाता हैं. जिनमें से 79.64 फीसदी पुरुषों और 79.62 फीसदी महिलाओं ने वोट दिया था. नमक्कल संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत छह विधानसभा सीटें हैं. जिसमें संकारी (Sankari), रसीपुरम (Rasipuram- SC), सैंथामंगलम (Senthamangalam-ST), नमक्कल (Namakkal), प्रमाथि वेलूर (Paramathi Velur) और तिरुचेंगोडे (Tiruchengode) शामिल हैं. जिसमें एक सीट अनुसूचित जाति और एक सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है.

नमक्कल लोकसभा सीट का 2014 का जनादेश

2014 के चुनाव में सांसद  पी. आर. सुंदरम ने 2,94,374 वोटों से जीत हासिल की थी. उन्हें 13,29,552 में से 5,63,272 वोट मिले थे. जबकि उनके प्रतिद्वंदी और डीएमके नेता एस गांधीसेल्वम को 2,68,898 वोट मिले थे. वहीं कांग्रेस उम्मीदवार को 19,800 और नोटा को 16,002 वोट मिले थे. 2014 में इस सीट पर 79.63फीसदी मतदान हुआ था.

सांसद पी. आर. सुंदरम का रिपोर्ट कार्ड

ग्रेजुएट सांसद पी. आर. सुंदरम की उम्र 67 साल है. वह दो बार (1996-2001 और 2001-2006 ) तमिलनाडु विधानसभा के सदस्य रहे हैं. वहीं संसद में प्रदर्शन की बात करें तो सांसद पी. आर. सुंदरम 265 दिन सदन में उपस्थित रहे हैं, सदन में उनकी 82.55 फीसदी उपस्थिति दर्ज हुई है. इसके अलावा सदन में उन्होंने 729सवाल पूछे और 99 बहसों में हिस्सा लिया है. वहीं सांसद पी. आर. सुंदरम ने कोई प्राइवेट बिल पेश नहीं किया जबकि अपने संसदीय क्षेत्र के विकास कार्यों में उन्होंने सांसद निधि के 20.15 करोड़ रुपये यानी 80.6 फीसदी रकम खर्च की. इसके अलावा पी. आर. सुंदरम 1 सितंबर 2014 से सभा मानव संसाधन विकास संबंधी स्‍थायी समिति के सदस्य हैं. गरीब बच्चों की मदद और समाजसेवा करने में उनकी खास रूचि है.

अपने बयान से हुए चर्चित

बता दें कि तमिलनाडु की सत्तारूढ़ पार्टी एआईएडीएमके के सांसद पी. आर. सुंदरम अपने बयान की वजह से साल 2015 में काफी चर्चा में रहे हैं. जयललिता की तबीयत खराब होने के दौरान सांसद पी. आर. सुंदरम ने कहा, जो कोई भी जयललिता के स्वास्थ्य के बारे में बयानबाजी करेगा, उसकी जुबान काट दी जाएगी. सांसद ने यह बयान करुणानिधि के उस बयान के जवाब में दिया था, जिसमें करुणानिधि ने कहा था कि जयललिता बीमार हैं, ऐसे में उन्हें अपना पद छोड़ देना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay