एडवांस्ड सर्च

तमिलनाडु चुनाव: कल्‍लाकुरिची लोकसभा सीट पर कौन मारेगा बाजी?

Kallakurichi lok sabha constituency 2019 लोकसभा चुनाव में तमिलनाडु की राजनीति में दो बड़ी पार्टी एआईएडीएमके और डीएमके के बीच कड़ा मुकाबला है. सूबे में एक तरफ जहां एआईएडीएके के साथ बीजेपी है तो वहीं डीएमके के साथ कांग्रेस का हाथ है. जानिए कल्‍लाकुरिची लोकसभा सीट क्यों महत्वपूर्ण है.

Advertisement
सना जैदीनई दिल्ली, 09 February 2019
तमिलनाडु चुनाव: कल्‍लाकुरिची लोकसभा सीट पर कौन मारेगा बाजी? प्रतीकात्मक तस्वीर

कल्लाकुरिची लोकसभा सीट तमिलनाडु राज्य के 39 संसदीय क्षेत्रों में से एक है. यह 2008 में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई. कल्‍लाकुरिची संसदीय क्षेत्र राज्य के सबसे नए और 33वें जिले कल्लाकुरिची के अंतर्गत है. बता दें कि जनवरी 2019 में विल्लुपुरम जिले के विभाजन के बाद कल्लाकुरिची जिला बना है. जिसकी घोषणा तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने की.

राजनीतिक पृष्ठभूमि

15वें लोकसभा चुनाव से ठीक पहले अस्तित्व में आई कल्लाकुरिची लोकसभा सीट पर दो बार (2009 और 2014) चुनाव हुए हैं. जिसमें से एक बार द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) पार्टी को जीत मिली तो वहीं एक बार ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) ने जीत दर्ज की है. यहां 2009 में पहली बार हुए लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करके डीएमके के आधि शंकर सांसद चुने गए थे तो वहीं 2014 में एआईएडीएमके के डॉ. के. कामराज 2,23,507 वोटों से जीतकर सांसद बने.  2014 लोकसभा चुनाव में यहां 78.39 फीसदी वोटिंग हुई थी. जिसमें एआईएडीएमके को 48.17 प्रतिशत,  बीजेपी को-%,  डीएमके को 27.99 और कांग्रेस को 3.58 प्रतिशत वोट मिले थे. 

सामाजिक ताना-बाना

कल्लाकुरिची शहर में लोगों का मुख्य व्यवसाय कृषि है, यहां कई शुगर फैक्ट्री हैं. 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की कुल आबादी 18,87,241 है. जिसमें से 79.65 फीसदी लोग ग्रामीण इलाके में रहते हैं तो वहीं 20.35 फीसदी शहरी आबादी है. यहां अनुसूचित जाति (SC) की जनसंख्या 27.83 प्रतिशत और अनुसूचित जनजाति (ST) की आबादी 7.62 फीसदी है. 2014 लोकसभा चुनाव में यहां 78.39 फीसदी वोटिंग हुई थी. आंकड़ों के मुताबिक 14,12,449 मतदाताओं में से कुल 11,07,241 मतदाताओं ने वोट दिया था, जिसमें 5,42,991 पुरुषों और 5,64,250 महिलाओं ने मतदान किया था. कल्लाकुरिची संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत विधानसभा की 6 सीटें हैं. जिसमें ऋषिवंदियम (Rishivandiyam), संकरापुरम (Sankarapuram), कल्लाकुरिची (Kallakurichi-SC), गंगावली (Gangavalli-SC), अत्तुर (Attur-SC) और यरकौड (Yercaud- ST) शामिल हैं.

कल्लाकुरिची लोकसभा सीट का 2014 का जनादेश

2014 लोकसभा चुनाव में सांसद डॉ. के. कामराज ने अपने प्रतिद्वंदी को 2,23,507 वोटों से हराकर जीत दर्ज की थी. एआईएडीएमके उम्मीदवार कामराज को 14,12,499 में से 5,33,383 वोट मिले थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी और डीएमके प्रत्याशी  को 2,89,337 वोट मिले थे. वहीं कांग्रेस को 21,461 और बीएसपी को 2,683 वोटों से संतुष्टि करनी पड़ी थी जबकि नोटा के हिस्से में सिर्फ 693 वोट आए थे. इस सीट पर कुल 76.78 फीसदी पुरुषों और 80 फीसदी महिलाओं ने मतदान किया था.

सांसद का रिपोर्ट कार्ड

कल्लाकुरिची लोकसभा सीट से सांसद डॉ. के. कामराज की उम्र 53 साल है. पेश से डॉक्टर के. कामराज ने मद्रास मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस, एमएस (जनरल सर्जरी) की डिग्री हासिल की. वहीं सांसद के प्रदर्शन की बात करें तो वह 321 में से 276 दिन सदन में उपस्थित रहे यानी उन्होंने 85.98 फीसदी उपस्थिति दर्ज कराई है. सदन में सवाल उठाने, प्राइवेट बिल पेश करने और डिबेट्स में शामिल होने के मामले में उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा. उन्होंने एक भी प्राइवेट बिल पेश नहीं किया और सिर्फ 52 बहसों में शामिल हुए. वहीं उन्होंने सिर्फ 212 सवाल ही पूछे जबकि सदन में सवालों की अधिकतम सीमा 1565 थी. इसके अलावा संसदीय क्षेत्र के विकास कार्यों में उन्होंने सिर्फ 11.06 करोड़ रुपये खर्च किए यानी प्राप्त राशि का 44.24 फीसदी ही धन खर्च किया. सांसद के. कामराज 1 सितंबर 2014 से स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण संबंधी स्‍थायी समिति के सदस्य हैं. साथ ही वह परामर्शदात्री समिति, विदेश और प्रवासी भारतीय कार्य मंत्रालय के सदस्य भी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay