एडवांस्ड सर्च

लोकसभा चुनाव में चर्चित हस्तियों के बेटे हारे, लेकिन बेटियों ने जीत ली बाजी

कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी अपनी परंपरागत अमेठी सीट को गंवा बैठे तो राजस्थान के मौजूदा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत जोधपुर सीट से नाकाम रहे. वहीं, एमपी की गुना सीट से ज्योतिरादित्य सिंधिया भी चुनाव हार गए.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: पुनीत सैनी]नई दिल्ली , 25 May 2019
लोकसभा चुनाव में चर्चित हस्तियों के बेटे हारे, लेकिन बेटियों ने जीत ली बाजी ज्योतिरादित्य सिंधिया

राजनीतिक विरासत को लेकर लोगों में यही भाव रहता है कि बेटा भी पिता के नक्शेकदम पर चलकर सफलता हासिल करेगा, लेकिन इस बार के आम चुनाव में यह गलत साबित हो गया. मशहूर सियासी लोगों के बेटों को 17वीं लोकसभा के चुनाव में पराजय का कड़वा स्वाद चखना पड़ा पर बेटियों ने अपनी राजनीतिक विरासत को बखूबी संभाल लिया.

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बेटे और कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी अपनी परंपरागत अमेठी सीट को गंवा बैठे तो राजस्थान के मौजूदा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत जोधपुर सीट से नाकाम रहे. राहुल गांधी को बीजेपी की स्मृति ईरानी ने करीब 55 हजार वोटों से तो वैभव को बीजेपी के गजेंद्र सिंह शेखावत ने 2.7 लाख वोटों से करारी शिकस्त दी. हालांकि, राहुल दो सीटों से चुनाव लड़े थे और वायनाड से उन्हें जीत मिली है.

वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री माधव राव सिंधिया के बेटे ज्योतिरादित्य सिंधिया, उनका गढ़ कही जाने वाली मध्य प्रदेश की गुना सीट से हार गए जबकि यह सीट उनके कब्जे में 1999 से लगातार बनी हुई थी. राजस्थान के बाड़मेर में बीजेपी के संस्थापक सदस्य जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह 3.2 लाख वोटों से पीछे रह गए.

पश्चिमी इलाके में अजित पवार के बेटे पार्थ पवार, मुरली देवड़ा के बेटे मिलिंद देवड़ा, शंकरराव चव्हाण के बेटे अशोक चव्हाण क्रमश: मावल, मुंबई दक्षिण और नांदेड़ सीट हार गए. एनसीपी के पार्थ 2,15,913 मतों से, मिलिंद 1,00,067 वोटों से तो अशोक 40,148 वोटों के अंतर से हार गए. देश के दक्षिणी हिस्से में कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के पुत्र निखिल कुमारस्वामी जदयू के टिकट पर मांड्या सीट से सवा लाख वोट से हार गए.

बेटों के बरक्स बेटियों ने इस बार पिता की पगड़ियों की रक्षा कर ली. मराठा क्षत्रप शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले ने एनसीपी के टिकट पर बारामती सीट से विजय पताका फहरा दी है. उन्होंने बीजेपी की कंचन राहुल कूल को डेढ़ लाख मतो के अंतर से हराया. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे एम करूणानिधि की बेटी कनिमोई ने द्रमुक के टिकट पर थुतुकुड़ी सीट 3.47 लाख वोटों के विशाल अंतर से जीत हासिल कर ली है. बीजेपी के टिकट पर यूपी के उपमुख्यमंत्री की बेटी संघमित्रा मौर्या की बेटी ने भी जीत दर्ज की. उन्होंने समाजवादी पार्टी के नेता धर्मेंद्र यादव को चुनाव हराया. मुंबई नॉर्थ सेंट्रल से पूनम महाजन जीतीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay