एडवांस्ड सर्च

पी. वैंकय्या ने किया था तिरंगा डिजाइन, एजुकेशन जान हैरान रह जाएंगे

भारतीय झंडे को डिजाइन करने का श्रेय पिंगाली वैंकय्या को दिया जाता है. आज उनका जन्‍मदिन है. जानिए उनके बारे में 10 ऐसी बातें, जो उन्‍हें आम से खास बनाती थीं...

Advertisement
aajtak.in
ऋचा मिश्रा नई दिल्‍ली, 02 August 2017
पी. वैंकय्या ने किया था तिरंगा डिजाइन, एजुकेशन जान हैरान रह जाएंगे तिरंगे के साथ पिंगाली वैंकय्या

भारतीय झंडे को डिजाइन करने का श्रेय पिंगाली वैंकय्या को दिया जाता है. आज उनका जन्‍मदिन है. जानिए उनके बारे में 10 ऐसी बातें, जो उन्‍हें आम से खास बनाती थीं...

1. विजयी विश्‍व तिरंगा डिजाइन करने वाले पिंगाली वैंकय्या का जन्‍म साल 1876 में 2 अगस्‍त को हुआ था. जानिए उनके बारे में खास बातें...

2. मछलीपत्तनम से हाई स्कूल उत्तीर्ण करने के बाद वो अपने वरिष्ठ कैम्ब्रिज को पूरा करने के लिए कोलंबो चले गए.

3. भारत लौटने पर उन्होंने एक रेलवे गार्ड के रूप में और फिर बेल्लारी में एक सरकारी कर्मचारी के रूप में काम किया.

4. बाद में वो एंग्लो वैदिक महाविद्यालय में उर्दू और जापानी भाषा का अध्ययन करने लाहौर चले गए.

5. 19 साल की उम्र में ब्रिटिश इंडियन आर्मी से जुड़े और अफ्रीका में एंग्‍लो-बोएर जंग में हिस्‍सा लिया. वहीं उनकी मुलाकात महात्‍मा गांधी से हुई थी.

6. उर्दू और जापानी समेत कई तरह की भाषाओं का उन्‍हें अच्‍छा ज्ञान था. वो जियोलॉजी में डॉक्‍ट्रेट थे.

7. हीरे के खनन में भी उन्‍हें विशेषज्ञता हासिल थी. इसी वजह से उन्‍हें डायमंड वैंकय्या नाम दिया गया था.

8.1906 से लेकर 1911 तक वे कपास की फसल की अलग-अलग किस्‍मों के तुलनात्‍मक अध्‍ययन में बिजी रहे थे. उन्‍होंने बॉम्‍वोलार्ट कंबोडिया कपास पर एक अध्‍ययन भी प्रकाशित किया था. इसके बाद उनका नाम पट्टी वैंकैया पड़ गया था.

9. साल 1921 में पिंगाली ने केसरिया और हरा झंडा सामने रखा था.

10. फिर जालंधर के लाला हंसराज ने इसमें चर्खा जोड़ा और गांधीजी ने सफेद पट्टी जोड़ने का सुझाव दिया था. पिंगाली का निधन 4 जुलाई 1963 को हुआ था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay