एडवांस्ड सर्च

Punjab Exit Poll: क्या कहता है पंजाब? एग्जिट पोल में किसने मारी बाजी

लोकसभा 2019 चुनाव के लिए सातों चरण का मतदान पूरा हो चुका है और एग्जिट पोल के नतीजे आने शुरू हो गए हैं. देश के सबसे तेज न्यूज चैनल आजतक ने एक्सिस माय इंडिया के साथ मिलकर देश की 543 सीटों पर सर्वे किया, जिसमें 7 लाख लोगों से बात की गई.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: रचित कुमार]नई दिल्ली, 19 May 2019
 Punjab Exit Poll: क्या कहता है पंजाब? एग्जिट पोल में किसने मारी बाजी पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह।

लोकसभा 2019 चुनाव के लिए सातों चरण का मतदान पूरा हो चुका है और एग्जिट पोल के नतीजे आने शुरू हो गए हैं. देश के सबसे तेज न्यूज चैनल आजतक ने एक्सिस माय इंडिया के साथ मिलकर देश की 543 सीटों पर सर्वे किया, जिसमें 7 लाख से ज्यादा लोगों से बात की गई. पंजाब की बात करें तो यहां 13 लोकसभा सीट हैं, जिसमें से बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रहे हैं. बीजेपी 3 और अकाली दल 10 सीट पर चुनाव लड़ रही है. कांग्रेस और आप सभी 13 सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं.

आजतक के एग्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी 1-2, शिरोमणि अकाली दल 1-3, कांग्रेस 8-9 और आम आदमी पार्टी 0-1 सीट जीत सकती है. बीजेपी-SAD गठबंधन को 3-5 सीट मिल सकती हैं.  बीजेपी गठबंधन का वोट शेयर 35 प्रतिशत, कांग्रेस का 42 प्रतिशत, आम आदमी पार्टी का 14 प्रतिशत और अन्य का 9 प्रतिशत रह सकता है.

2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी गठबंधन को 6 सीट, कांग्रेस को 3 और आम आदमी पार्टी को 4 सीट मिली थीं. सर्वे के मुताबिक अगर पंजाब विधानसभा चुनाव के आंकड़े लोकसभा सीटों में कन्वर्ट किए जाए तो बीजेपी-SAD को शून्य, कांग्रेस को 11 और आप को 2 सीट मिल सकती हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी का वोट शेयर 35 प्रतिशत, कांग्रेस का 33 प्रतिशत और आम आदमी पार्टी का 24 प्रतिशत था. लोकसभा 2019 चुनाव के लिए 19 मई को सभी 13 लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ. नतीजे 23 मई को घोषित किए जाएंगे.

Exit Poll of the Polls: हर पोल की एक ही कहानी, आएगा तो मोदी ही

आजतक ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में CICERO के साथ मिलकर पूरे देश का मूड टटोलने की कोशिश की थी. इसमें बीजेपी की अगुआई वाली एनडीए को बहुमत मिलने की बात कही गई थी. इस सर्वे में एनडीए को 261-282, यूपीए को 110-120 और अन्यों को 150-162  सीट मिलने की संभावना जताई गई थी. नतीजे भी इसके आसपास ही आए थे. 

अप्रैल में आजतक ने पॉलिटिकल स्टॉक एक्सचेंज के तहत सर्वे कराया था, जिसमें कहा गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ग्राफ उन प्रदेशों में तेजी से बढ़ा है जहां तकरीबन डेढ़ साल पहले विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को कांग्रेस के हाथों करारी शिकस्त मिली थी. सर्वे में कहा गया था कि नरेंद्र मोदी की अगुवाई में एनडीए के दोबारा सत्ता में आने की संभावना दो में से एक यानी आधी है.

Exit Poll: यूपी में महागठबंधन का फॉर्मूला फेल, NDA को 62 से 68 सीट मिलने के आसार

वहीं जनवरी में मूड ऑफ द नेशन के तहत इंडिया टुडे-कार्वी इनसाइट्स से पता चला था कि 52 फीसदी लोग मानते हैं कि कांग्रेस में राहुल पीएम के लिए सबसे अच्छे उम्मीदवार हैं. 11 फीसदी ने मनमोहन सिंह, 7 फीसदी ने सोनिया गांधी और 5 फीसदी ने प्रियंका गांधी के पक्ष में वोट दिया.

 चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़ लेटर

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay