एडवांस्ड सर्च

राजधानी के दंगल में 'दिल्ली की लड़की' प्रियंका, मोदी को कितना दे पाएंगी चुनौती?

लोकसभा चुनाव की जंग अपने आखिरी दौर में है. छठे चरण में 12 मई को राजधानी दिल्ली की सभी सातों सीटों पर वोटिंग होगी, जिसको देखते हुए दिल्ली के चुनावी दंगल में दिग्गजों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 09 May 2019
राजधानी के दंगल में 'दिल्ली की लड़की' प्रियंका, मोदी को कितना दे पाएंगी चुनौती? प्रियंका गांधी ने उत्तर पूर्वी दिल्ली से चुनाव लड़ रही शीला दीक्षित के साथ रोड शो किया

लोकसभा चुनाव की जंग अपने आखिरी दौर में है. छठे चरण में 12 मई को राजधानी दिल्ली की सभी सातों सीटों पर वोटिंग होगी, जिसको देखते हुए दिल्ली के चुनावी दंगल में दिग्गजों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. बुधवार को प्रियंका गांधी ने उत्तर पूर्वी दिल्ली से चुनाव लड़ रही शीला दीक्षित के साथ रोड शो किया वहीं पीएम मोदी ने दिल्ली के रामलीला मैदान में रैली की.

पीएम मोदी ने कुछ दिन पहले चुनौती दी थी कि अगर कांग्रेस में दम है तो वह राजीव गांधी के नाम पर चुनाव लड़कर दिखाए. इसका जवाब प्रियंका गांधी ने यह कहकर दिया कि अगर मोदी में दम है तो वह आखिरी 2 चरणों का चुनाव नोटबंदी और जीएसटी के नाम पर लड़कर दिखाएं.

दिल्ली की लड़की के 47 साल vs मोदी के 5 साल

रोड शो के दौरान प्रियंका ने खुद को दिल्ली की बेटी बताया और मोदी से पूछा कि आप दिल्ली के बारे में क्या जानते हैं. मोदी जी दिल्ली 5 साल पहले आए हैं और मैंने 47 साल से दिल्ली की गलियां देखी हैं. प्रियंका ने कहा कि महरौली से लेकर मजनू का टीला मैं सारी दिल्ली जानती हूं. मैं दिल्ली वालों के दिल की बात बताती हूं.

मोदी के चैलेंज पर प्रियंका का चैलेंज

शीला दीक्षित का प्रचार करते हुए प्रियंका गांधी एक बार फिर पीएम मोदी पर जमकर बरसीं. उन्होंने पीएम मोदी की उस बात का भी जवाब दिया है कि जिसमें मोदी ने कांग्रेस को राजीव गांधी नाम पर चुनाव लड़ने का चैलेंज दिया था. प्रियंका ने कहा कि चुनाव के आखिरी दो चरण नोटबंदी पर लड़िए, जीएसटी पर लड़िए, महिलाओं की सुरक्षा पर लड़िए और उन वादों पर लड़िए जो आपने देश के नौजवानों से किए थे और धोखा दिया उन पर लड़िए.

118 सीटों पर मोदी को घेरने की कवायद

पांच चरणों के चुनाव हो गए. दो चरण के चुनाव बचे हैं जिनमें 118 सीटों पर उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला होना है. पिछले चुनाव में बीजेपी ने इन 118 सीटों मे 77 सीटें जीती थीं. अब उनको बचाने की चुनौती उसकी है तो उसमें सेंध मारने की विपक्ष की. विपक्ष तभी सेंधमारी में कामयाब हो सकता है, जब बीजेपी के स्टार प्रचारक यानी पीएम नरेंद्र मोदी को घेरने में वह कामयाब हो पाएगा. कांग्रेस की ओर से राहुल और प्रियंका ने यह जिम्मा उठाया है. पहले राहुल सीधे पीएम मोदी पर हमला बोलते थे. अब प्रियंका ने भी भाई के रास्ते पर चलते हुए अपनी रैलियों में पीएम मोदी को चुनौती दे रही हैं.

दिल्ली की सात सीटों पर सबसे ज्यादा फोकस

12 मई को जिन 59 सीटों पर चुनाव होने वाले हैं, उनपे पिछली बार बीजेपी ने 44, कांग्रेस ने 2, टीएमसी ने 8 और अन्य ने पांच सीटें जीती थी. 19 मई को जिन 59 सीटों पर चुनाव होने वाले हैं उनमें पिछले बार बीजेपी ने 33, कांग्रेस ने 3, टीएमसी ने 9 और अन्य ने 14 सीटें जीती थीं. छठवें चरण में ही दिल्ली की सभी सातों सीटों पर चुनाव होने हैं.

लड़ाई बीजेपी बनाम कांग्रेस बनाने की कोशिश

प्रियंका ने अपने रोड शो में मोदी को घेरने की पूरी कोशिश की. उन्होंने यह जताने का प्रयास भी किया कि दिल्ली में बीजेपी की लड़ाई कांग्रेस से है न कि आप से. लेकिन मोदी ने प्रियंका के रोड शो के बाद हुई रैली में दूसरे सवाल खड़े कर दिए. मोदी ने कहा कि उन पर आरोप लगाया जाता है कि सेना को वह अपनी जागीर मानने लगे हैं, लेकिन मोदी ने सवाल किया कि नामदार के परिवार ने पिकनिक मनाने के लिए आईएनएस विराट का टैक्सी की तरह इस्तेमाल किया. अब देखना है कि प्रियंका या राहुल इसका क्या जवाब देते हैं.

चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़ लेटर

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay