एडवांस्ड सर्च

मुरादाबाद में लगे पोस्टर, रॉबर्ट वाड्रा को चुनाव लड़ाने की उठी मांग

फेसबुक पोस्ट में उन्होंने कहा कि कई साल के अपने अनुभव और सीख का बेहतर इस्तेमाल किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि एक दशक से ज्यादा समय से कई सरकारों ने देश के असली मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए मेरे नाम का प्रयोग कर मेरी छवि को खराब करने की कोशिश की है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in मुरादाबाद, 25 February 2019
मुरादाबाद में लगे पोस्टर, रॉबर्ट वाड्रा को चुनाव लड़ाने की उठी मांग मुरादाबाद में लगे पोस्टर (ANI)

यूपी के मुरादाबाद में रॉबर्ट वाड्रा के पोस्टर लगे हैं. पोस्टर में उनसे आगामी लोकसभा चुनाव लड़ने का आग्रह किया गया है. मुरादाबाद युवक कांग्रेस की ओर से लगाए गए पोस्टर पर लिखा है- रॉबर्ट वाड्रा मुरादाबाद लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए आपका स्वागत है. रविवार को वाड्रा ने एक फेसबुक पोस्ट लिखकर लोगों की सेवा करने की इच्छा जाहिर की थी.

वाड्रा ने इंडिया टुडे को बताया था कि उन्हें लोगों की सेवा करने के लिए राजनीति में जाने की जरूरत नहीं है लेकिन अगर राजनीति में जाने से वे लोगों में कोई बड़ा बदलाव ला सकते हैं, तो इसमें कोई हर्ज नहीं. वाड्रा ने अपनी राजनीतिक पारी शुरू करने या न करने का फैसला लोगों पर छोड़ा था.

रविवार के फेसबुक पोस्ट में उन्होंने कहा कि 'कई साल के अपने अनुभव और सीख' का 'बेहतर इस्तेमाल' किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि 'एक दशक से ज्यादा समय से कई सरकारों ने देश के असली मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए मेरे नाम का प्रयोग कर मेरी छवि को खराब करने की कोशिश की है.' वाड्रा ने कहा कि देश के लोग अब असलियत समझ गए हैं और उन्हें पता चल गया है कि इन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है. यही वजह है कि लोग उनके पास आकर सम्मान जता रहे हैं और उनके बेहतर भविष्य के लिए दुआ कर रहे हैं.

वाड्रा ने यह भी कहा कि जिन लोगों की उन्होंने मदद की, उनसे बहुत कुछ सीखा है और मजबूत बने हैं. उन्होंने कहा कि केरल, नेपाल और कई जगहों पर बाढ़ के दौरान उन्होंने मदद भेजी जो काफी संतोषजनक और सीखने वाला अनुभव रहा. वाड्रा ने कहा कि उन्होंने अलग अलग धर्मों के पूजा स्थलों की यात्रा की और मंदिरों के बाहर भूखे लोगों को खाना भी खिलाया.

अपने पोस्ट में उन्होंने कहा कि उन्होंने खुद को कभी कानून से ऊपर नहीं समझा और दिल्ली व राजस्थान में प्रवर्तन निदेशालय के सामने जाना, कई घंटों की पूछताछ के दौरान हर नियम का हमेशा पालन किया. अंत में उन्होंने लिखा था कि इस अनुभव और सीख को बर्बाद नहीं किया जा सकता है और इसका बेहतर उपयोग किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि एक बार मुझ पर लगे इन सभी आरोपों के खत्म हो जाने के बाद, मुझे लोगों की सेवा करने में एक बड़ी भूमिका निभानी चाहिए.'

वाड्रा की पत्नी प्रियंका गांधी कांग्रेस की महासचिव बनाई गई हैं जिन्हें पर पूर्वी यूपी का जिम्मा दिया गया है. उनके साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया भी हैं जिन्हें पश्चिमी यूपी की कमान मिली है. भावी लोकसभा चुनावों को देखते हुए कांग्रेस ने यूपी में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay