एडवांस्ड सर्च

ट्विटर पर आईं मायावती, घंटे दर घंटे ऐसे बढ़ रहे हैं फॉलोअर्स

बुधवार सुबह करीब 10 बजे मायावती के ट्विटर हैंडल को करीब 4 हजार लोग फॉलो कर रहे थे जो शाम 7 बजे के करीब 30 हजार के पार पहुंच गए हैं. दोपहर 12 बजे मायावती के फॉलोअर्स की संख्या 18 हजार और 1 बजे 19 हजार के पार थी.

Advertisement
अनुग्रह मिश्रनई दिल्ली, 06 February 2019
ट्विटर पर आईं मायावती, घंटे दर घंटे ऐसे बढ़ रहे हैं फॉलोअर्स मायावती का ट्विटर हैंडल

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने अब ट्विटर पर भी दस्तक दे दी है. मायावती के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर फॉलोअर्स की संख्या काफी तेजी से बढ़ रही है. बीते करीब 8 घंटों में मायावती को ट्विटर पर फॉलो करने वालों की संख्या 4 हजार से शुरू होकर 32 हजार के पार पहुंच गई है. हमने इस दौरान उनके फॉलोअर्स की संख्या का विश्लेषण भी किया है.

बुधवार सुबह करीब 10 बजे उनके ट्विटर हैंडल को करीब 4 हजार लोग फॉलो कर रहे थे जो शाम 7 बजे के करीब 30 हजार के पार पहुंच गए हैं. दोपहर 12 बजे मायावती के फॉलोअर्स की संख्या 18 हजार के करीब और 1 बजे 19 हजार के पार थी. इसके बाद शाम को 4 बजे तक उन्हें ट्विटर पर करीब 27 हजार लोगों ने फॉलो करना शुरू कर दिया. साढ़े पांच बजे मायावती को ट्विटर पर फॉलो करने वालों की संख्या 30 हजार के पार पहुंच चुकी थी. हालांकि मायावती सिर्फ एक ही हैंडल को फॉलो कर रही हैं और वह किसी नेता का नहीं बल्कि ट्विटर सपोर्ट का है.

ऐसे बढ़ते गए फॉलोअर्स

यूजर्स को जैसे-जैसे मायावती की ट्विटर पर एंट्री का पता चला, उन्हें फॉलो करने की होड़ मच गई. ज्यादातर फॉलोअर्स बहुजन समाज की विचारधारा का समर्थन करने वाले और बीएसपी के समर्थक ही हैं. इसके अलावा विभिन्न दलों के नेता और पत्रकार भी उन्हें ट्विटर पर फॉलो करना शुरू कर चुके हैं. तेजस्वी यादव और टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन भी उन्हें फॉलो कर रहे हैं.

मायावती ने आधिकारिक बयान के जरिए इस ट्विटर हैंडल की पुष्टि की है. बसपा प्रमुख आमतौर पर सार्वजनिक मंचों से दूर रहते हैं और ज्यादातर वह बयान जारी कर ही अपनी पार्टी का पक्ष रखती हैं. कुछ मौके पर उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए भी अपनी बात कही है. पार्टी के पास आधिकारिक प्रवक्ता भी नहीं है, ऐसे में मायावती का ट्विटर हैंडल बीएसपी का पक्ष और मायावती के बयानों के प्लेटफॉर्म के तौर पर काम करेगा.

बीजेपी पर साधा निशाना

मायावती ने अपने इसी ट्विटर हैंडल पर बयान जारी कर बीजेपी पर निशाना साधा है. इसमें कहा गया है कि बीजेपी अपने चुनावी वादों को पूरा नहीं कर पाने के कारण लोगों का ध्यान भटकाने के लिये सपा-बसपा गठबंधन को कोस रही है और विपक्षी पार्टियों के नेताओं को बदनाम करने की साजिश में लगी हुई है.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की ओर से अलीगढ़ में सपा-बसपा गठबंधन के बारे में दिये गये बयान के जवाब में मायावती ने कहा, ‘अगर बीजेपी इस गठबंधन से डरी नहीं है तो इनका शीर्ष नेतृत्व इस इसके संबंध में ‘खिसियानी बिल्ली खंभा नोंचे’ की तरह व्यवहार क्यों कर रहा है.’

बयान में कहा गया है कि अमित शाह ने अलीगढ़ में एक कार्यक्रम के दौरान गठबंधन को ‘ढकोसला’ बताया है. इस पर मायावती ने कहा ‘असल में बीजेपी को अब पूरी तरह से लग गया है कि बसपा-सपा गठबंधन की वजह से वह उत्तर प्रदेश में बुरी तरह से हारने वाली है और फिर केन्द्र की सत्ता भी उसके हाथ से निकलेगी.’मायावती ने कहा कि बीजेपी अपने चुनावी वादों से ध्यान भटकाने के लिए हमारे गठबंधन को कोस रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay