एडवांस्ड सर्च

मनोहर लाल खट्टर का तंज- पहले से ही MLA को कोई पप्पू ही उपचुनाव में उतार सकता है

मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने देश के इतिहास में पहली बार विधायक को ही विधायक बनने के लिए टिकट दिया. मैं पूछता हूं कि कैथल और जींद में क्या फर्क है. क्या कैथल की विधायक वाली सीट पर कांटे उग गए थे. जींद में मिली उपचुनाव की जीत के बाद वे कई दूसरे प्रदेशों में गए. लोगों ने उनको बीजेपी की जीत की नहीं बल्कि सुरजेवाला की हारने की बधाई दी है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: वरुण शैलेश]जींद, 12 February 2019
मनोहर लाल खट्टर का तंज- पहले से ही MLA को कोई पप्पू ही उपचुनाव में उतार सकता है हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जींद उपचुनाव में रणदीप सिंह सूरजेवाला को मैदान में उतारने को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसा है. उन्होंने कहा कि किसी विधायक को विधानसभा उपचुनाव में उतारने का काम कोई पप्पू ही कर सकता है. उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के उम्मीदवार कृष्ण मिड्ढा को मिली जीत पर कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करने जींद पहुंचे खट्टर ने यह टिप्पणी की.

उपचुनाव में पार्टी को मिली जीत पर खट्टर ने कहा, 'वह कार्यकर्ताओं के सामने नतमस्तक हैं और उन्हीं की मेहनत से यह सब हो पाया है. जींद में पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह नजर आया, वही पूरे प्रदेश में हैं.' मुख्यमंत्री ने राहुल गांधी की तरफ इशारा करते हुए कहा, 'उन्होंने यह क्या कर दिया. विधायक होते हुए सुरजेवाला को जींद में उपचुनाव लड़ा कर साबित कर दिया कि ऐसा वही कर सकते हैं और कोई दूसरा नहीं.' समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के अनुसार खट्टर ने कहा कि जिस रात 11 बजकर 50 मिनट पर सुरजेवाला को कांग्रेस ने जींद उपचुनाव के लिए टिकट दिया था, उसी दौरान वह टीवी देख रहे थे और तभी उनका माथा ठनक गया था कि ऐसा कोई और नहीं बल्कि कोई पप्पू ही कर सकता है.

खट्टर ने कहा, 'कांग्रेस पार्टी ने देश के इतिहास में पहली बार विधायक को ही विधायक बनने के लिए टिकट दिया. मैं पूछता हूं कि कैथल और जींद में क्या फर्क है. क्या कैथल की विधायक वाली सीट पर कांटे उग गए थे. जींद में मिली उपचुनाव की जीत के बाद वे कई दूसरे प्रदेशों में गए. लोगों ने उनको बीजेपी की जीत की नहीं बल्कि सुरजेवाला की हारने की बधाई दी है.'  

मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा प्रदेश की ढाई करोड़ जनता ही मेरा परिवार है, इस परिवार के विकास में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखा जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने एवं अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए हर जिले में एक-एक मेडिकल कॉलेज बनवाया जाएगा. फिलहाल, 750 नए डॉक्टर हर साल प्रदेश को मिल रहे हैं और आगामी कुछ वर्षों में इस संख्या को बढ़ाकर दो हजार करने का लक्ष्य तय किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay