एडवांस्ड सर्च

PM मोदी का प्रस्तावक बनाने के लिए वाराणसी में चौकीदार की तलाश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बनारस से नामांकन को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी जोर-शोर के शुरू हो गई है. इस बार नरेंद्र मोदी का चुनाव प्रस्तावक किसी चौकीदार को बनाया जा सकता है. पिछली बार मशहूर शास्त्रीय गायक छन्नूलाल मिश्र समेत 4 लोग प्रस्तावक थे.

Advertisement
कुबूल अहमदनई दिल्ली, 15 April 2019
PM मोदी का प्रस्तावक बनाने के लिए वाराणसी में चौकीदार की तलाश नरेंद्र मोदी वाराणसी सीट से नामांकन करते हुए (फोटो-फाइल)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बनारस से चुनाव नामांकन को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी जोर-शोर के शुरू हो गई है. पार्टी पिछली बार की तरह पीएम मोदी के चुनावी प्रस्तावक ऐसे शख्स को बनाना चाहती है, जिससे बड़ा संदेश दिया जा सके. सूत्रों के मुताबिक इस बार किसी चौकीदार को नरेंद्र मोदी का चुनावी प्रस्तावक बनाया जा सकता है.

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में वाराणसी सीट पर नरेंद्र मोदी के चुनावी प्रस्तावक के रूप में 4 मशहूर हस्तियां शामिल रही थी. इनमें मशहूर शास्त्रीय गायक छन्नूलाल मिश्र का नाम खास तौर से लिया जा रहा है. इसके अलावा गिरिधर मालवीय, नाविक भद्रा प्रसाद निषाद और बुनकर अशोक कुमार शामिल थे. हालांकि पहले शहनाई वादक बिस्मिल्लाह खां के बेटे को मोदी का प्रस्तावक बनने का ऑफर दिया गया था, लेकिन वो राजी नहीं हुए थे.

इस बार के लोकसभा चुनाव में भी नरेंद्र मोदी के नामांकन के लिए प्रस्तावक के तौर पर एक चौकीदार को शामिल करने की रणनीति पार्टी बना रही है. बीजेपी इस दांव से कांग्रेस को करारा जवाब देना चाहती है. इसीलिए बीजेपी वाराणसी के ही रहने वाले किसी चौकीदार की तलाश कर रही है, जो स्वच्छ छवि का हो और किसी तरह का कोई आरोप उस पर न हों.

दरअसल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी पार्टी राफेल के मुद्दे पर 'चौकीदार चोर' संबोधन के साथ नरेंद्र मोदी को घेरने की कवायद कर रहे हैं. विपक्ष के इसी हमले को बीजेपी ने अपने चुनावी प्रचार में शामिल कर लिया.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो के साथ अपने ट्वीट में कहा था कि आपका यह चौकीदार राष्ट्र की सेवा में मजबूती से खड़ा है, लेकिन मैं अकेला नहीं हूं'. हर कोई जो भ्रष्टाचार, गंदगी, सामाजिक बुराइयों से लड़ा रहा है, वह एक चौकीदार है. हर कोई जो भारत की प्रगति के लिए कठिन परिश्रम कर रहा है, वह एक चौकीदार है. आज हर भारतीय कह रहा है कि मैं भी चौकीदार. बीजेपी अब पीएम के चुनावी प्रस्तावक के तौर पर चौकीदार को बनाना चाहती है ताकि इस अभियान को और भी धार दिया जा सके.

वहीं, नरेंद्र मोदी के नामांकन को ऐतिहासिक बनाने की कवायद चल रही है. इसकी रूप रेखा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बनाई है. शाह ने हाल ही में दो दिन के दौरा करके पार्टी नेताओं के साथ मंथन किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 अप्रैल को नामांकन करेंगे. पीएम नामांकन से एक दिन पहले 25 अप्रैल को बनारस में रोड शो भी करेंगे. मोदी बनारस के लंका स्थित मालवीय प्रतिमा को माल्यार्पण करने के बाद रोड शो शुरू करेंगे और ये रोड शो गोदौलिया पर जाकर खत्म होगा. इसके बाद पीएम मोदी काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन कर गंगा आरती में शामिल होंगे.

नामांकन जुलूस मलदहिया स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा को नमन कर निकलेगा जो कचहरी पर जाकर खत्म होगा. अमित शाह ने पीएम मोदी के नामांकन कार्यक्रम को ऐतिहासिक बनाने के लिए कार्यकर्ताओं से अपील की है और कहा कि प्रत्येक पदाधिकारी अपने बूथ पर समय दे. नामांकन में करीब 5 लाख लोगों के शामिल होने का दावा किया जा रहा है.

पीएम के नामांकन को ऐतिहासिक बनाने के लिए पीछे बीजेपी की सोची समझी रणनीति है. नामांकन से ऐसा माहौल बनाने की है जिससे पूर्वांचल से लेकर बिहार तक को साधा जा सके. पिछले लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी ने इसी तरह से माहौल बनाया था, जिसका नतीजा था कि पूर्वांचल में आजमगढ़ छोड़कर बाकी सभी सीटें जीतने में बीजेपी कामयाब रही थी. एक बार फिर उसी फॉर्मूले के तहत बीजेपी रणनीति बना रही है.

चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़लेटर

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay