एडवांस्ड सर्च

पाकिस्तान को PM मोदी का अल्टीमेटम, कहा- बहुत सह लिया, अब घर में घुसकर मारेंगे

आतंकवाद के पनाहगाह पाकिस्तान और उसके आतंकियों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अल्टीमेटम देते हुए कहा कि भारत पिछले 40 साल से आतंकवाद की पीड़ा झेल रहा है, लेकिन अब हम घर में घुसकर मारेंगे. आतंकवादी चाहे सात पाताल में जाकर घुस जाएं, हम उनको वहां से निकालकर मारेंगे.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in अहमदाबाद, 05 March 2019
पाकिस्तान को PM मोदी का अल्टीमेटम, कहा- बहुत सह लिया, अब घर में घुसकर मारेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद के पनाहगाह पाकिस्तान और उसके आतंकी आकाओं को अब तक की सबसे बड़ी वार्निंग दी है. गुजरात के अहमदाबाद में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेहद सख्त लहजे में कहा, 'यह नया भारत है, आतंक के सामने कभी नहीं झुकेगा, चुन-चुन कर बदला लेगा और जरूरत पड़ी तो दुश्मन के घर जाकर भी हिसाब चुकता करेगा. 40 साल से आतंकवाद हिन्दुस्तान के सीने में गोलियां दाग रहा है, लेकिन वोट बैंक की राजनीति में डूबे लोग कदम उठाने से डरते थे.'

उन्होंने कहा, 'मुझे सत्ता की कुर्सी की परवाह नहीं है, मुझे चिंता मेरे देश और देश के लोगों की सुरक्षा की है. मैं अब लम्बा इंतजार नहीं कर सकता. चुन-चुन के हिसाब लेना मेरी फितरत है.' पाकिस्तान को सख्त नसीहत देते हुए मोदी ने कहा कि आतंकवादी चाहे सात पाताल नीचे जाकर छिप जाएं, लेकिन हम उनको छोड़ेंगे नहीं. हम सात पाताल से भी निकालकर आतंकवादियों को मारेंगे.

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेहद आक्रामक नजर आए. उनके अंदाज से साफ था कि अब आतंकवादियों की खैर नहीं है, फिर चाहे वो जहां जाकर छिप जाएं. इससे पहले भारतीय वायुसेना के एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई सिर्फ एक शुरुआत है. अभी आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन खत्म नहीं हुआ है. यह अब भी जारी है.

सोमवार को अहमदाबाद में पीएम मोदी ने भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले विपक्षी दलों और उनके नेताओं पर भी करारा प्रहार किया. उन्होंने कहा कि एयर स्ट्राइक से विपक्ष के पेट में दर्द होता है. देश का दुर्भाग्य है कि कुछ नेता जो बयानबाजी करते हैं, उन्हें पाकिस्तान के अखबारों में हेडलाइन बना दी जाती है.

पीएम मोदी ने सवाल किया कि अगर भारतीय वायुसेना का मिशन फेल होता, तो इस्तीफा किसका मांगा जाता? उन्होंने कहा कि जिस प्रोजेक्ट का हम शिलान्यास करते हैं, उसका उद्घाटन भी हम ही करते हैं यानी आज जिस प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया जा रहा है, उसके उद्घाटन पर हम ही मौजूद रहेंगे. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार की विशेषता है कि एक काम खत्म होते ही दूसरा काम शुरू हो जाता है. एक काम खत्म होने पर हम सोते नहीं हैं और दूसरे की तैयारी करते हैं.

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला किया था. इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी. इसके बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक की थी. भारतीय वायुसेना की यह कार्रवाई 21 मिनट तक चली थी, जिसमें 280 से ज्यादा आतंकियों के मारे जाने की बात कही जा रही है.

इससे पहले पीएम मोदी ने कॉमन-मोबिलिटी कार्ड की सुविधा का भी शुभारंभ किया है. उन्होंने कहा कि तमाम प्रयासों के बाद अब देश में One Nation-One Card का सपना सच हो गया. कॉमन-मोबिलिटी कार्ड से लोग पैसे निकाल पाएंगे, शॉपिंग कर पाएंगे और किसी भी मेट्रो या ट्रांसपोर्ट के अन्य साधन में वही कार्ड इस्तेमाल कर पाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay