एडवांस्ड सर्च

नई दिल्‍ली लोकसभा सीट: दिग्‍गज नेताओं की सीट पर बीजेपी का कब्‍जा

New Delhi Loksabha constituency 2019 लोकसभा चुनाव का शंखनाद हो चुका है. नई दिल्ली लोकसभा सीट पर  बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच मुकाबला है. चुनावों में ही पता चलेगा कि इस सीट पर किसका कब्जा होगा.

Advertisement
राहुल झारियानई दि‍ल्‍ली, 26 March 2019
नई दिल्‍ली लोकसभा सीट: दिग्‍गज नेताओं की सीट पर बीजेपी का कब्‍जा लोकसभा सांसद मीनाक्षी लेखी(फोटो-Facebook)

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के 7 संसदीय क्षेत्रों में से एक नई दिल्ली लोकसभा सीट देश के सबसे प्रतिष्ठित निर्वाचन क्षेत्रों में से एक है. देश की राजधानी होने के नाते नई दिल्ली भारत के राजनीतिक परिदृश्‍य में अहम भूमिका तय करता है. देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और बीजेपी के पूर्व उपप्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी जैसे दिग्‍गज राजनीतिक नेताओं के अलावा जगमोहन जैसे बड़े नेता नई दिल्ली सीट से सांसद रहे हैं. इस सीट से बीजेपी की मीनाक्षी लेखी वर्तमान में सांसद हैं. आम आदमी पार्टी (AAP)ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए यहां से बृजेश गोयल के नाम की घोषणा कर दी है.

राजनीतिक पृष्ठभूमि

यह निर्वाचन क्षेत्र 1951 में अस्तित्व में आया और बीजेपी के खास गढ़ों में से एक बना. इस सीट पर शुरुआती दो कार्यकाल देश की क्रांतिकारी महिला नेता सुचेता कृपलानी ने प्रतिनिधित्व किया, जिन्होंने किसान मजदूर पार्टी की स्‍थापना की थी और बाद में कांग्रेस से जुड़ गईं.

यह नई दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र ही था जहां से बीजेपी के जगमोहन ने पहले राजेश खन्ना को और फिर दो बार आर के धवन को हराया हालांकि, कांग्रेस ने 2004 और 2009 के लोकसभा चुनावों में इस सीट पर जीत हासिल की. उसे ये जीत अजय माकन की बदौलत मिली.

दिल्ली के सबसे ऐतिहासिक क्षेत्रों में से एक यह निर्वाचन क्षेत्र संसद भवन और दिल्ली सचिवालय के अलावा राजपथ, जनपथ, और कनॉट प्लेस जैसे क्षेत्रों तक फैला हुआ है.

सामाजिक ताना-बाना

इस संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत 10 विधानसभा क्षेत्र आते हैं, जिनमें करोलबाग, राजिंदर नगर, मालवीय नगर, पटेल नगर, नई दिल्‍ली, आरकेपुरम, मोती नगर, कस्‍तूरबा नगर, ग्रेटर कैलाश और दिल्‍ली कैंट शामिल हैं.

भारत निर्वाचन आयोग 2009 की रिपोर्ट के आंकड़ों के मुताबिक, नई दिल्ली लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र (निर्वाचन क्षेत्र संख्या 4) में कुल 1,373,146  मतदाता हैं. इनमें से 767,222 वोटर्स पुरुष हैं और बाकी 605,924 महिला वोटर्स हैं. यहां की आबादी 21,753,486 है.

2014 का जनादेश

इस सीट पर 2014 के चुनाव में कई राजनीतिक दलों के कुछ सबसे दिग्‍गज नेताओं के बीच मुकाबला रहा. जिनमें कांग्रेस के अजय माकन, बीजेपी की मीनाक्षी लेखी, आम आदमी पार्टी के आशीष खेतान और तृणमूल कांग्रेस के दिग्गज अभिनेता बिस्वजीत चटर्जी शामिल थे. लेकिन मीनाक्षी लेखी सांसद चुनी गईं. उन्‍हें कुल 453350(46.75%) वोटों के साथ ने अपने करीबी प्रतिद्वंदी आशीष खेतान को 162704 वोट के बड़े अंतर से शिकस्‍त दी. पत्रकार से राजनीतिज्ञ बने आशीष खेतान ने आम आदमी पार्टी से किस्मत अजमाई. उन्हें 290642(29.97%) वोट मिले. तीसरे पायदान पर रहे कांग्रेस के अजय माकन को 182893(18.86%) वोट मिले.

दिलचस्प बात यह है कि लेखी और खेतान दोनों पर ही बीजेपी और कांग्रेस ने पहली बार दांव खेला. वहीं कांग्रेस महासचिव और प्रवक्ता अजय माकन इस लोकसभा सीट से 2009 और 2004 के चुनाव में सांसद रह चुके हैं.

वर्तमान सांसद का रिपोर्ट कार्ड

नई दिल्ली लोकसभा सीट से बीजेपी की मीनाक्षी लेखी वर्तमान में सांसद हैं. 30 अप्रैल 1967 को जन्मीं मीनाक्षी लेखी ने एलएलबी की डिग्री हासिल की हुई है और वे पेशे से वकील हैं. उनके पति का नाम अमन लेखी है और उनके परिवार में दो बेटे हैं.

विकास कार्यों पर सांसद निधि से खर्च

जनवरी, 2019 तक mplads.gov.in पर मौजूद आंकड़ों के मुताबिक, बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने अभी तक अपने सांसद निधि से क्षेत्र के विकास के लिए 21.58 करोड़ रुपये खर्च किए हैं. उन्हें सांसद निधि से अभी तक 26.48 करोड़ (ब्याज के साथ) मिले हैं. इनमें से 5.10 करोड़ रुपये अभी खर्च नहीं किए गए हैं. उन्होंने जारी किए जा चुके रुपयों में से 121.87 फीसदी खर्च किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay