एडवांस्ड सर्च

SP-BSP Alliance: गठबंधन से राहुल गांधी आउट, आज रणनीति का खुलासा करेगी कांग्रेस

Lok Sabha election 2019 में अभी समय है, लेकिन देश की राजनीति इस आम चुनाव से पहले लगातार गरमाती जा रही है. उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच गठबंधन हो गया, लेकिन इस गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किया गया. ऐसे में कभी महागठबंधन बनाने की कोशिश करने वाली कांग्रेस की अगली रणनीति क्या होती है.

Advertisement
सुप्रिया भारद्वाज [Edited By: सुरेंद्र कुमार वर्मा]नई दिल्ली, 13 January 2019
SP-BSP Alliance: गठबंधन से राहुल गांधी आउट, आज रणनीति का खुलासा करेगी कांग्रेस उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की अगली रणनीति पर सभी की नजर (फाइल, ट्विटर)

लोकसभा चुनाव में अभी समय है, लेकिन देश की राजनीति इस आम चुनाव से पहले लगातार गरमाती जा रही है. शनिवार को उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच गठबंधन हो गया, लेकिन इस गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किया गया. ऐसे में अब सबकी नजर इस पर है कि कभी महागठबंधन बनाने की कोशिश करने वाली कांग्रेस की अगली रणनीति क्या होगी.

आम चुनाव से ठीक पहले समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने कांग्रेस को बाहर रखते हुए गठबंधन कर लिया, ऐसे में कांग्रेस की अगली रणनीति पर सभी की नजर है. माना जा रहा है कि वह उत्तर प्रदेश में अकेले ही चुनावी समर में उतरने का फैसला कर सकती है. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा कि हम सभी सीटों पर अकेले ही चुनाव लड़ने जा रहे हैं. राहुल गांधी की रैली की योजना बनाई जा चुकी है, और बहुत संभावना है कि उनकी पहली रैली लखनऊ में हो.

'यूपी में कांग्रेस मजबूत'

कांग्रेस से जुड़े करीबी सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दुबई के दौरे पर जाने से पहले उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव को लेकर प्रदेश के अपने पदाधिकारियों से मुलाकात की थी. सूत्र ने यह भी बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष समेत उनके पदाधिकारियों का मानना है कि पार्टी की स्थिति राज्य में बेहद मजबूत है. लोकसभा चुनाव में अपने उम्मीदवारों के साथ कड़ा मुकाबला कर सकती है.

पार्टी से जुड़े सूत्रों के अनुसार, चुनावी तैयारी को लेकर पार्टी नेतृत्व की ओर से पहले ही उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति को वार रूम बनाने और बूथ स्तर पर पार्टी को और मजबूत करने का निर्देश दिया जा चुका है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया जो खुद उत्तर प्रदेश से ही हैं, ने कहा कि राहुल पहले ही कह चुके हैं कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को कमतर न आंका जाए. प्रदेश ईकाई की ओर से पार्टी कार्यकर्ता और बूर्थ वर्कर्स के जरिए जनता के बीच पैठ बनाने के लिए नए सिरे से जोरदार प्रयास किया जाएगा. और हम निश्चित तौर पर उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव में अप्रत्याशित रूप से जीत हासिल करेंगे.

कांग्रेस अध्यक्ष भी हाल ही में एक विदेशी अखबार के साथ बातचीत में उत्तर प्रदेश के राजनीतिक हालात पर कहा था कि प्रदेश में कांग्रेस बहुत ताकतवर है. हमें अपनी योग्यता पर भरोसा है और हम लोगों को चकित कर देंगे.

इस बीच, नए राजनीतिक हालात के बीच कांग्रेस के महासचिव और उत्तर प्रदेश के प्रभारी गुलाम नबी आजाद प्रदेश के दौरे पर हैं, जहां वह पार्टी के जिला स्तर और शहर यूनिट के अध्यक्षों से मुलाकात करने वाले हैं. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच गठबंधन पर गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कांग्रेस इस गठबंधन पर रविवार को लखनऊ में बात करेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay