एडवांस्ड सर्च

आज ही दिल्ली से उठी थी भगवा लहर, 5 साल में पूरे देश पर ऐसे हुआ कब्जा

2014 में नरेंद्र मोदी के सत्ता के सिंहासन पर विराजमान होने के बाद उत्तर से दक्षिण और पूर्वोत्तर से पश्चिम तक मोदी लहर के सहारे बीजपी ने कमल खिलाकर पूरे देश को भगवा रंग में रंग दिया.

Advertisement
aajtak.in
कुबूल अहमद नई दिल्ली, 16 May 2019
आज ही दिल्ली से उठी थी भगवा लहर, 5 साल में पूरे देश पर ऐसे हुआ कब्जा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी पांच साल पहले आज ही के दिन बीजेपी के इतिहास में सबसे बड़ी जीत के हीरो बनकर उभरे थे. उनके सिर जीत का सेहरा बंधा और गुजरात के सीएम से देश के पीएम बने. कश्मीर से कन्याकुमारी तक बीजेपी कमल खिलाने में कामयाब रही थी. मोदी के सत्ता के सिंहासन पर विराजमान होने के बाद उत्तर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम तक मोदी लहर के सहारे बीजपी ने कमल खिलाकर पूरे देश को भगवा रंग में रंग दिया.

2014 में पहली बार संसद पहुंचे नरेन्‍द्र मोदी ने प्रधानमंत्री की कुर्सी संभालते ही 'कांग्रेस मुक्त भारत' का नारा दिया था. इसके बाद बीते 5  सालों में बीजेपी ने पीएम मोदी के नेतृत्व में एक के बाद एक चुनाव में कांग्रेस को कई राज्यों में हराया. कभी पूरे देश पर राज करने वाली 132 साल पुरानी कांग्रेस की स्थिति आज यह है कि वह पूरे देश में सिर्फ 5 राज्यों में सिमटकर रह गई है. आजादी के बाद से ऐसा पहली बार है जब कांग्रेस की ऐसी बुरी हालत हुई है.

बता दें कि साल 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद 25 राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए जिनमें से 13 राज्यों में बीजेपी ने सरकार बनाई है. पिछले 5 सालों में जहां बीजेपी-एनडीए 8 राज्यों से बढ़कर 20 राज्यों में पहुंच गई हैं वहीं, कांग्रेस 14 से घटकर अब सिर्फ तीन राज्यों में सिमट गई है थी. लेकिन 2018 में मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हुए चुनाव में कांग्रेस की वापसी हुई और बीजेपी को करारी मात मिली. इस तरह से कांग्रेस की सरकारों का कुछ आंकड़ा बढ़ा.

पिछले 5 सालों में बीजेपी ने महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, असम, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, गोवा, गुजरात, हिमाचल,  मेघालय, त्रिपुरा, नगालैंड में अपनी सरकार बनाई है. इसके अलावा बिहार में बीजेपी को हार मिली थी लेकिन करीब डेढ़ साल बाद ही उसका गठबंधन जेडीयू के साथ हुआ और इस तरह बीजेपी यहां भी सत्ता में आ गई. कर्नाटक में  बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी, लेकिन बहुमत साबित न कर पाने के चलते सरकार बनाने के मंसूबों से पानी फिर गया.

बीते पांच साल में ना सिर्फ बीजेपी ने कांग्रेस को हराया है बल्कि क्षेत्रीय दलों पर भी वो भारी पड़ी है. यहां तक कि अब वो उत्तर-पूर्व में लेफ्ट को भी हरा रही है. वहीं कश्मीर में भी बीजेपी ने पीडीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने में कामयाब रही थी. लेकिन 2018 में कश्मीर में यह गठबंधन टूट गया.

कभी पूरे देश पर राज करने वाली कांग्रेस की हालत यह हो गई थी कि सिर्फ 2 राज्यों (मिजोरम,पंजाब) और एक केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी की सत्ता पर काबिज थी, लेकिन दिसंबर 2018 में कांग्रेस ने जबरदस्त वापसी की. पांच राज्यों में हुए विधानसभा में कांग्रेस ने मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में सरकार बनाई, लेकिन मिजोरम को खो दिया. इस तरह से कांग्रेस मौजूदा समय में कांग्रेस की पांच राज्यों में सरकार है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने केंद्र में पांच साल का सफर पूरा कर लिया है. इस तरह से नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी अपनी राजनीतिक इतिहास में सबसे ज्यादा सीटों पर इस बार चुनावी मैदान में उतरी है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 300 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay