एडवांस्ड सर्च

EXIT POLL: हिंदी बेल्ट राज्यों ने करा दी बीजेपी की नैया पार, कांग्रेस को करना पड़ेगा 5 साल का इंतजार

आजतक-एक्सिस माई इंडिया एग्जिट पोल के मुताबिक हिंदी बेल्ट के राज्यों में बीजेपी और उसके सहयोगी दलों का शानदार प्रदर्शन दिख रहा है. एग्जिट पोल के नतीजों के हिसाब से एनडीए की जोरदार वापसी हो रही है और केंद्र में एक बार फिर नरेंद्र मोदी की सरकार बनने जा रही है.

Advertisement
aajtak.in
सुरेंद्र कुमार वर्मा नई दिल्ली, 22 May 2019
EXIT POLL: हिंदी बेल्ट राज्यों ने करा दी बीजेपी की नैया पार, कांग्रेस को करना पड़ेगा 5 साल का इंतजार हिंदी बेल्ट में बीजेपी का जलवा

लोकसभा चुनाव के बाद आए एग्जिट पोल नतीजों में भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई वाली एनडीए एक बार फिर बड़ी जीत के साथ सत्ता में वापसी करती दिख रही है. एनडीए की इस संभावित जीत में हिंदी बेल्ट के राज्यों में गठबंधन में शामिल पार्टियों के शानदार प्रदर्शन का अहम योगदान माना जा रहा है. हालांकि कहा जा रहा था कि एनडीए को उत्तर प्रदेश और बिहार समेत कई हिंदी भाषी राज्यों में झटका लग सकता है लेकिन सर्वे की माने तो ऐसा कुछ भी होता नहीं दिख रहा और वह शानदार प्रदर्शन दोहराने जा रही है.

उत्तर प्रदेश में फिर से कमल

शुरुआत उत्तर प्रदेश से करें तो आजतक-एक्सिस माई इंडिया एग्जिट पोल के मुताबिक 80 लोकसभा सीटों में से बीजेपी गठबंधन को 62 से 68 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है. जबकि बड़ी जीत की आस लगाए रखने वाली सपा-बसपा-आरएलडी गठबंधन को 10 से 16 सीटें और कांग्रेस को 1 से 2 सीटें मिलने का अनुमान है. बीजेपी को अकेले दम पर 60 से 66 सीटें और अपना दल को 2 सीटें मिल रही हैं. जबकि सपा को 4 से 7 और बसपा को 3 से 7 सीटें मिल रही हैं. वहीं, कांग्रेस को 1 से 2 सीटें मिल सकती हैं.

जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए 42.30 फीसदी वोटों के साथ रिकॉर्ड 73 सीटें जीतने में सफल हुई थी. सपा को 22.20 फीसदी वोटों के साथ महज 5 सीटें हासिल हुई जबकि कांग्रेस 7.50 फीसदी वोटों के साथ 2 सीटें जीतने में कामयाब हुई. वहीं इस बार सपा के साथ गठबंधन करने वाली बसपा 19.60 फीसदी वोट हासिल करने के बाद भी खाता नहीं खोल सकी. 2019 के एग्जिट पोल सर्वे के लिहाज से उत्तर प्रदेश में वोट शेयर को देखें तो बीजेपी गठबंधन (एनडीए) को 48 फीसदी वोट मिल रहे हैं जबकि सपा-बसपा-आरएलडी गठबंधन को 39 फीसदी वोट मिल सकता है. कांग्रेस को महज 8 फीसदी और अन्य को 5 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है.

बिहार में क्लीन स्वीप

उत्तर प्रदेश की तरह बिहार में भी नरेंद्र मोदी के विजय रथ को रोकने के लिए विपक्षी दलों ने जोर-आजमाइश की थी. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) कई विपक्षी दलों कांग्रेस, आरएलएसपी, हिंदुस्तान आवाम पार्टी (HAM) और वीआईपी पार्टी को साथ लेकर चुनावी मैदान में उतरी थी जबकि बीजेपी जेडीयू और एलजेपी के साथ गठबंधन (एनडीए) कर चुनाव मैदान में थी. एग्जिट पोल सर्वे से पहले कयास लगाए जा रहे थे कि एनडीए को यहां बड़ा झटका लगने वाला है, लेकिन आजतक-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल के मुताबिक बिहार में एनडीए विपक्ष का पूरी तरह से सफाया (38 से 40 सीटें) करती दिख रही है.

राज्य की कुल 40 लोकसभा सीटों में से बीजेपी को 16-17 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है. जबकि जेडीयू को 15-17 सीटें और एलजेपी को 5-6 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है. जबकि तेजस्वी यादव के नेतृत्व में उतरा महागठंबधन पूरी तरह से नाकाम होता दिख रहा है. आरजेडी और कांग्रेस को 1-1 सीटें मिलती नजर आ रही है. जबकि उपेंद्र कुशवाहा, जीतनराम मांझी की पार्टी सहित महागठबंधन के बाकी सहयोगी दल खाता तक नहीं खोल पा रहे हैं.

बिहार में इस बार जेडीयू और बीजेपी 17-17 सीटों पर जबकि एलजेपी छह सीटों पर लड़ रही है. तो वहीं आरजेडी 20, कांग्रेस 9 आरएलएसपी 5 जीतन राम मांझी की हम (HAM)और मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी ने 3-3 सीटों पर चुनाव लड़ा.

2014 के लोकसभा चुनाव में बिहार की 40 संसदीय सीटों में बीजेपी को 22, एलजेपी को 6 और आरएलएसपी को 3 जबकि कांग्रेस को 2, एनसीपी को 1, आरजेडी को 4 और जेडीयू को 2 सीटें मिली थी.

5 महीने में बाद बीजेपी की जोरदार वापसी

दिसंबर में मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में राज्य की सत्ता गंवाने वाली बीजेपी का जादू लोकसभा चुनाव में लौटता दिख रहा है. आजतक-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल सर्वे में मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में 26-28 सीटें बीजेपी को मिलने जा रही हैं, जबकि कांग्रेस को मात्र 1-3 सीटें मिलेंगी. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को एमपी में 26 सीटें मिली थीं तो कांग्रेस के खाते में 3 सीटें आई.

छत्तीसगढ़ में एग्जिट पोल सर्वे के मुताबिक राज्य की 11 सीटों में 7 से 8 सीटें बीजेपी के खाते में जा सकती हैं. जबकि कांग्रेस को 3 से 4 सीटें मिलती दिखाई दे रही है. 2014 के लोकसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ में बीजेपी को 10 सीटें मिली थी, जबकि कांग्रेस ने एक सीट पर कब्जा जमाया था.

राजस्थान में भी बीजेपी अपना जलवा बिखेरने जा रही है. एग्जिट पोल सर्वे में राजस्थान की 25 सीटों में बीजेपी को 23 से 25 तो कांग्रेस को 0 से 2 सीटें मिलती दिख रही हैं. 2014 के चुनाव में भी बीजेपी ने सभी 25 सीटों पर कब्जा जमाया था.

उत्तराखंड में बीजेपी की बयार

बात उत्तराखंड की, इस पहाड़ी राज्य में भी बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. उत्तराखंड की सभी 5 सीटों पर एनडीए को जीत मिल सकती है. आजतक-एक्सिस माई इंडिया एग्जिट पोल की मानें तो उत्तराखंड में कांग्रेस, बीएसपी और अन्य को एक भी सीट नहीं मिलेगी. एग्जिट पोल के मुताबिक, उत्तराखंड में एनडीए को 48 फीसदी और यूपीए को 35 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं.

जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में उत्तराखंड की सभी 5 सीटें एनडीए के खाते में गई थी. उत्तराखंड में 2017 में विधानसभा चुनाव हुए थे. अगर इन चुनावों के हिसाब से अगर लोकसभा चुनाव देखें तो भी बीजेपी पाचों सीटों पर जीत दर्ज कर रही थी.

झारखंड में भी बीजेपी का जादू बरकरार है. एग्जिट पोल सर्वे के मुताबिक झारखंड में एनडीए को 12 से 14 सीटों पर जीत मिल सकती है. जबकि यूपीए को 0 से 2 सीटें मिलने का अनुमान है. बीजेपी ने 13 और साथी पार्टी AJSU ने एक सीट पर चुनाव लड़ा था. 2014 के चुनाव में एनडीए को 12 सीटें जबकि यूपीए को 2 सीटें मिली थीं.

दिल्ली में AAP 0, बीजेपी 6-7

अब दिल्ली और उसके आसपास के हिंदी बेल्ट राज्यों की बात करें तो यहां भी कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए कुछ खास करती नहीं दिख रही है और बीजेपी यहां भी अपना परचम लहराती दिख रही है. सर्वे में दिल्ली में सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगने जा रहा क्योंकि उसे एक भी सीट नहीं मिलने जा रही. पोल के मुताबिक बीजेपी दिल्ली में 7 में से 6 सीटों पर कब्जा जमा सकती है. एक सीट कांग्रेस के खाते में जा सकती है. 2014 के चुनाव में बीजेपी ने सभी 7 सीटों पर कब्जा जमाया था.

10 लोकसभा सीटों वाले हरियाणा में बीजेपी को 8 से 10 लोकसभा सीटों पर जीत मिलती दिख रही है, जबकि कांग्रेस के खाते में जीरो से 2 लोकसभा सीटें आती दिख रही हैं. जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हरियाणा 10 में से 7 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि कांग्रेस को सिर्फ एक सीट से संतोष करना पड़ा था. इसके अलावा 2 सीटों पर आईएनएलडी को जीत मिली थी.

हिमाचल प्रदेश में भी एग्जिट पोल सर्वे ने बीजेपी को क्लीन स्वीप करता दिखाया है. पिछले लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी ने चारों सीटों पर परचम लहराया था. 2014 की तुलना में बीजेपी का वोट शेयर इस बार बढ़ सकता है. 2014 के चुनाव में बीजेपी का 54 प्रतिशत था जो इस बार बढ़कर 58 फीसदी हो जाने की उम्मीद है.

एनडीए को 339 से 365 सीटें

आजतक-एक्सिस माई इंडिया एग्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए को 339 से 365 सीटें मिल सकती है, जिसमें बीजेपी की अकेले 293 से 316 के बीच सीटें आने की उम्मीद है. जबकि यूपीए को 77 में से 108 सीटें मिलने की उम्मीद जताई गई है. इसमें कांग्रेस के खाते में 48 से 65 सीटें मिलने की संभावना है.

सर्वे के मुताबिक हिंदी बेल्ट के 10 राज्यों में बीजेपी और उसके सहयोगी दलों का शानदार प्रदर्शन एनडीए को फिर से सत्ता में लौटा रही है और नरेंद्र मोदी अगले 5 साल के लिए प्रधानमंत्री के पद पर काबिज हो सकते हैं. एग्जिट पोल के नतीजों की मानें तो इन राज्यों के शानदार संभावित शानदार प्रदर्शन ने बीजेपी को खुश कर दिया तो कांग्रेस और राहुल गांधी का इंतजार और 5 साल के लिए बढ़ा दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay