एडवांस्ड सर्च

Delhi Lok Sabha Chunav 2019: दिल्ली में मतदान के लिए 61 हजार पुलिसकर्मी तैनात, चप्पे-चप्पे पर नजर

Lok Sabha elections दिल्ली में इस बार कुल 13,819 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं. इनमें से 450 संवेदनशील जबकि 16 अतिसंवेदलशील हैं. इन 450 बूथों पर पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्सेज की ज्यादा तैनाती की गई है.

Advertisement
aajtak.in
हिमांशु मिश्रा नई दिल्ली, 12 May 2019
Delhi Lok Sabha Chunav 2019: दिल्ली में मतदान के लिए 61 हजार पुलिसकर्मी तैनात, चप्पे-चप्पे पर नजर दिल्ली में मतदान

दिल्ली पुलिस ने शांतिपूर्ण मतदान के लिए अपनी तैयारी पूरी कर ली है. बॉर्डर से लेकर दिल्ली के चप्पे-चप्पे पर पुलिस की निगाह रहेगी. दिल्ली की सुरक्षा में 61 हजार पुलिसकर्मियों के अलावा 47 कंपनी पैरा मिलिट्री फोर्सेज के जवान और 13 हजार होम गार्ड को तैनात किया गया है. इन सबकी जिम्मेदारी मतदान से पूर्व ईवीएम को सुरक्षित मतदान केंद्र तक लाने और मतदान खत्म होने के बाद इवीएम को सुरक्षित पहुंचाने तक रहेगी.

दिल्ली में इस बार कुल 13,819 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं. इनमें से 450 संवेदनशील जबकि 16 अतिसंवेदनशील हैं. इन 450 बूथों पर पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्सेज की ज्यादा तैनाती की गई है. होम गार्ड की जिम्मेदारी बूथों के अंदर मतदाताओं को संभालने और उन्हें गाइड करने की रहेगी.

पुलिस की सरगर्मी मतदान के एक दिन पहले यानी की शनिवार देर शाम से ही शुरू हो गई. खासकर बॉर्डर इलाकों और जहां पर मतदान केंद्र है वहां पुलिस की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं. इसके अलावा आतंकी हमले से निपटने के लिए भी पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है. स्वात टीम को कई संवेदनशील जगहों पर तैनात किया गया है.

10 मार्च से दिल्ली में आचार संहिता लागू

दिल्ली में 10 मार्च से आचार संहिता लागू है. उसके बाद से पुलिस ने अब तक 1 लाख 41 हजार लीटर अवैध शराब पकड़ी है, जिसकी कीमत 3 करोड़ 83 लाख रुपये है. 1566 किलो नशीली दवाएं जब्त की हैं, जिसकी कीमत करीब तीन सौ 73 करोड़ रुपये है. 694 अवैध हथियार और 3026 अवैध कारतूस पुलिस ने जब्त किए हैं. दिल्ली में कुल 46 हजार लाइसेंसी हथियार हैं जिनमें से 5 हजार पुलिस ने चुनाव के दिन तक के लिए जब्त कर लिए हैं.

पुलिस ने दो महीने में कुल 4 करोड़ 38 लाख रुपये कैश भी जब्त किए हैं, जिनकी जांच की जा रही है. मॉडल कोड ऑफ कंडक्त के तहत कुल 210 केस दर्ज किए गए हैं. खुले में शराब पी रहे 10 हजार से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया. 4 हजार से ज्यादा गैर-जमानती लोग भी पकड़े गए. लाखों अवैध बैनर और पोस्टर भी पकड़े गए.

पुलिस का कहना है कि इसके अलावा डीपी एक्ट के तहत भी कई लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है. इस बार पुलिस पिछले चुनाव के लिहाज से ज्यादा सतर्क नजर आ रही है और यही वजह है कि पुलिस ने पिछली बार के मुकाबले इस बार सुरक्षाकर्मी ज्यादा तैनात किए गए हैं.

अगर बात पार्टियों की करें तो आचार संहिता लागू होने के बाद इसके उलंघन के आरोप में सबसे ज्यादा एफआईआर आम आदमी पार्टी के खिलाफ दर्ज हुई है. आम आदमी पार्टी के खिलाफ कुल 18 एफआईआर, भाजपा के खिलाफ 15 एफआईआर, कांग्रेस के खिलाफ 4 एफआईआर और बसपा के खिलाफ कुल दो एफआईआर दर्ज हुई है.

दिल्ली पुलिस का कहना है कि मतदाताओं को किसी तरह की परेशानी ना हो इसके लिए होम गार्ड मतदान केंद में तैनात रहेंगे. साथ ही पुलिस ने मतदाताओं से भी कहा है कि वो नियमों का पालन करें और मतदान केंद्र में मोबाइल फोन लेकर ना आएं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay