एडवांस्ड सर्च

दिग्विजय बोले- देश में गांधी की विचारधारा हारी, बापू के हत्यारों की सोच जीती

72 साल के दिग्विजय सिंह लंबे समय बाद 2019 में चुनावी राजनीति में उतरे थे. कांग्रेस ने उन्हें भोपाल से बीजेपी का कैंडिडेट बनाया. लेकिन बीजेपी ने दिग्विजय के मुकाबले में साध्वी प्रज्ञा सिंह को उतार कर मुकाबले को बेहद दिलचस्प बना दिया. पूरे चुनाव में भोपाल का चुनाव चर्चा का विषय रहा. कांग्रेस ने बीजेपी पर और दिग्विजय सिंह पर मु्स्लिम वोटों के तुष्टिकरण के लिए हिन्दू आतंकवाद की फर्जी थ्योरी गढ़ने का आरोप लगाया तो, कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी उस महिला को संसद भेजने की तैयारी कर रही है, जिस पर आतंकवाद में शामिल होने का आरोप लगा है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 24 May 2019
दिग्विजय बोले- देश में गांधी की विचारधारा हारी, बापू के हत्यारों की सोच जीती कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (फोटो-twitter/digvijaya_28)

कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह ने लोकसभा चुनाव नतीजों पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. दिग्विजय सिंह ने कहा है कि इलेक्शन के नतीजे हमारे लिए चिंता का विषय है. मध्य प्रदेश के भोपाल से कांग्रेस के उम्मीदवार रहे दिग्विजय सिंह ने कहा कि आज देश में गांधी की विचारधारा हार गई है और ये ट्रेंड हमारे लिए गंभीर चिंता की बात है.

भोपाल से चुनाव हारकर मीडिया से बात कर रहे दिग्विजय सिंह ने कहा, "आज इस देश में महात्मा गांधी के हत्यारों की विचारधारा जीत गई है और बापू और शांति की विचारधारा जीत गई है, ये हमारे लिए चिंता की बात है." दिग्विजय सिंह ने कहा कि वे नतीजों के लिए पीएम को बधाई देते हैं, साथ ही वह बीजेपी के सभी जीते हुए सांसदों को भी बधाई देते हैं. दिग्विजय सिंह ने कहा है कि वो साध्वी प्रज्ञा सिंह को पहले भी अपनी शुभकामनाएं भेज चुके हैं. दिग्विजय सिंह ने कहा कि वह हार के बावजूद भोपाल के लोगों के साथ बने रहेंगे और उनके लिए काम करते रहेंगे.

72 साल के दिग्विजय सिंह लंबे समय बाद 2019 में चुनावी राजनीति में उतरे थे. कांग्रेस ने उन्हें भोपाल से बीजेपी का कैंडिडेट बनाया. लेकिन बीजेपी ने दिग्विजय के मुकाबले में साध्वी प्रज्ञा सिंह को उतार कर मुकाबले को बेहद दिलचस्प बना दिया. पूरे चुनाव में भोपाल का चुनाव चर्चा का विषय रहा. कांग्रेस ने बीजेपी पर और दिग्विजय सिंह पर मु्स्लिम वोटों के तुष्टिकरण के लिए हिन्दू आतंकवाद की फर्जी थ्योरी गढ़ने का आरोप लगाया तो, कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी उस महिला को संसद भेजने की तैयारी कर रही है, जिस पर आतंकवाद में शामिल होने का आरोप लगा है. चुनाव नतीजों में दिग्विजय सिंह को निराशा हाथ लगी. साध्वी प्रज्ञा ने उन्हें लगभग 3 लाख 64 हजार वोटों से हराया.

चुनाव प्रचार के दौरान मामला तब बिगड़ गया जब साध्वी प्रज्ञा ने बापू के हत्यारे नाथू राम गोडसे को देशभक्त कह दिया. साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि नाथू राम गोडसे देशभक्त थे और रहेंगे. प्रज्ञा के इस बयान पर गंभीर सियासी बहस छिड़ गया. राजनीतिक निष्ठा से परे हटकर सभी लोगों ने प्रज्ञा पर एक्शन की मांग की. बीजेपी ने भी साध्वी प्रज्ञा को नोटिस भेजा. प्रज्ञा ने इस बयान के लिए तुरंत माफी मांग ली. साध्वी प्रज्ञा के इस बयान से पीएम नरेंद्र मोदी इतने खफा हुए कि उन्होंने कहा कि बीजेपी ने भले ही उन्हें माफ कर दिया हो, लेकिन वे साध्वी प्रज्ञा को माफ नहीं कर पाएंगे. दिग्विजय सिंह के ताजा बयान को इसी आलोक में देखा जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay