एडवांस्ड सर्च

राहुल गांधी का बड़ा चुनावी ऐलान, सरकार आने के बाद हर गरीब को देंगे न्यूनतम आय की गारंटी

राहुल गांधी ने कहा कि हमारे करोड़ों भाई-बहन अगर गरीबी का दंश झलेंगे तो हम एक नया भारत नहीं बना सकते हैं. यदि कांग्रेस 2019 में सत्ता में आती है तो हम प्रत्येक गरीब आदमी को न्यूनतम आमदनी की गारंटी देने के लिए प्रतिबंद्ध होंगे ताकि गरीबी और भूखमरी से निपटा जा सके. यही हमारा दृष्टीकोण और वादा है. 

Advertisement
aajtak.in
कुबूल अहमद नई दिल्ली, 29 January 2019
राहुल गांधी का बड़ा चुनावी ऐलान, सरकार आने के बाद हर गरीब को देंगे न्यूनतम आय की गारंटी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो-ट्विटर)

कर्जमाफी के सहारे छत्तीसगढ़ की सत्ता में 15 साल लौटी कांग्रेस किसानों को अपने साथ मजबूती से जोड़े रखना चाहती है. कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को पहली बार प्रदेश के दौरे पर पहुंचे और किसानों को संबोधित किया. यहां राहुल 'किसान आभार सम्मेलन' को संबोधित किया और एक बड़ा ऐलान किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है. 2019 चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस पार्टी हर गरीब व्यक्ति को गारंटी के तौर पर न्यूनतम आमदनी देगी. यह हमारा वादा है. राहुल के इस ऐलान पर बीजेपी ने पलटवार किया है. बीजेपी ने कहा कि राहुल अपनी इस योजना की शुरुआत एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ से करें.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्होंने कहा, 'जब हम विपक्ष में थे तब भी हम किसानों के कर्जा माफ की बात करते थे और सरकार से पूछते थे, तो सरकार कहती थी हमारे पास पैसा नहीं है, हम ये काम नहीं कर सकते.' उन्होंने कहा, 'हिन्दुस्तान के चौकीदार के पास छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए 6000 करोड़ रुपये नहीं है, लेकिन अनिल अंबानी के लिए 30,000 करोड़ रुपये है. मेहुल चोकसी पैसा लेकर भाग सकता है, लेकिन किसानों के लिए केंद्र सरकार के पास नहीं है.'

राहुल गांधी ने कहा, 'क्या कारण है कि किसान अपना पैसा बीमा कंपनी को देता है और ओला पड़ने पर उसे उसका पैसा नहीं मिलता. पूरा फायदा अनिल अंबानी की कंपनी को जाता है. जैसे कांग्रेस पार्टी ने मनरेगा में 100 दिन का रोजगार गारंटी करके दिया, सूचना के अधिकार में गारंटी से ब्यूरोक्रेसी के दरवाजे खोले, भोजन का अधिकार गारंटी करके दिया; वैसे ही न्यूनतम आमदनी की गारंटी होगी.'

 

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस अध्यक्ष ने बड़ा ऐलान किया है. राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है कि 2019 चुनाव जीतने के एकदम बाद कांग्रेस पार्टी गारंटी करके न्यूनतम आमदनी देने जा रही है.

बाद में राहुल गांधी ने ट्वीट भी किया और कहा कि हमारे करोड़ों भाई-बहन अगर गरीबी का दंश झलेंगे तो हम एक नया भारत नहीं बना सकते हैं. यदि कांग्रेस 2019 में सत्ता में आती है तो हम प्रत्येक गरीब आदमी को न्यूनतम आमदनी की गारंटी देने के लिए प्रतिबंद्ध होंगे ताकि गरीबी और भूखमरी से निपटा जा सके. यही हमारा दृष्टीकोण और वादा है.

राहुल गांधी के इस ऐलान के फौरन बाद कांग्रेस नेताओं ने भी खुशी जताई. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज ग़रीबों के हित में एक ऐतिहासिक फ़ैसला लिया है. 2019 में केन्द्र में कांग्रेस की सरकार बनते ही हर ग़रीब के बैंक खाते में न्यूनतम आमदनी होगी. अब हिंदुस्तान में ना कोई ग़रीब भूखा रहेगा , ना भूखा सोयेगा. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तथा उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी राहुल के ऐलान का स्वागत करते हुए इसे ऐतिहासिक कदम बताया है. पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने भी राहुल के इस ऐलान का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि यूपीए के दौरान वर्ष 2004 से 2014 के बीच 14 करोड़ लोगों को गरीबी के चंगुल से बाहर निकाला गया. भारत से गरीबी का सफाया करने के लिये हमें दृढ़ता से कोशिश करनी होगी.

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान कांग्रेस के सत्ता में आने पर कृषि ऋण माफ करने का आश्वासन दिया था. कांग्रेस नेताओं ने इसी छत्तीसगढ़ में गंगाजल को हाथ में लेकर कसम खाया था कि सत्ता में आने के बाद किसानों का कर्जमाफ करेंगे. इसी मुद्दे पर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बंपर जीत मिली थी.

सरकार बनने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पहली बार प्रदेश के दौरे पर आएं  हैं और किसानों की रैली को संबोधित किया. राज्य में भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने चंद घटों के बाद ही किसानों के कर्जमाफी के वादे को अमली जामा पहनाने का काम किया था. कांग्रेस को सत्ता में पहुंचाने के लिए किसानों का आभार प्रकट करने के लिए राहुल गांधी पहुंचे. कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में कुल 90 सीटों में से 68 सीटें हासिल की थी और बीजेपी के 15 साल के शासन को समाप्त कर दिया था.

हाल ही में पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने किसानों की कर्जमाफी वादा किया था. कांग्रेस का किसान कार्ड सत्ता में वापसी की राह बना और तीन राज्यों में बीजेपी की सरकार को बेदखल करने में वह कामयाब रही. इसी के मद्देनजर राहुल गांधी अब किसानों का आभार प्रकट के लिए रैली कर रहे हैं. राहुल गांधी ने इसी महीने राजस्थान में किसान रैली को संबोधित किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay