एडवांस्ड सर्च

झारखंड: पहले चरण में 13 सीटों का संग्राम, 3 सीटों पर अपने ही बने BJP की मुसीबत

झारखंड विधानसभा चुनाव के पहली चरण की 13 विधानसभा सीटों में से तीन सीटों पर बीजेपी की टक्कर उनके बागी प्रत्याशियों के बीच होती दिख रही है. जबकि, तीन पर एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ रहे ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (एजेएसयू) से चुनौती मिल रही है और सात सीटों पर बीजेपी और महागठबंधन के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है.

Advertisement
aajtak.in
कुबूल अहमद नई दिल्ली, 18 November 2019
झारखंड: पहले चरण में 13 सीटों का संग्राम, 3 सीटों पर अपने ही बने BJP की मुसीबत झारखंड, सीएम रघुवर दास

झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 13 सीटों पर काफी रोचक मुकाबला होता नजर आ रहा है. पहले चरण की 13 सीटों पर 190 उम्मीदवार चुनावी मैदान में किस्मत आजमा रहे हैं. बीजेपी प्रत्याशी को पार्टी के बागी और एनडीए से नाता तोड़कर अलग मैदान में उतरी ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (एजेएसयू) ने मुश्किलें खड़ी कर दी हैं.

पहली चरण की 13 विधानसभा सीटों में से तीन सीटों पर बीजेपी की टक्कर उनके बागी प्रत्याशियों के बीच होती दिख रही है. जबकि, तीन पर एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ रहे ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (एजेएसयू) से चुनौती मिल रही है और सात सीटों पर बीजेपी और महागठबंधन के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है. 

बता दें कि पहले चरण में 9 सीटें पलामू प्रमंडल की हैं. यहां गढ़वा, डाल्टनगंज, विश्रामपुर, पनकी, मनिका, गुमला और बिशुनपुर में बीजेपी और कांग्रेस-जेएमएम गठबंधन के बीच सीधा मुकाबला है. भवनाथपुर, लातेहार और चतरा में बीजेपी को बागी प्रत्याशी चुनौती दे रहे हैं. लोहरदगा, छतरपुर और हुसैनाबाद सीट पर एजेएसयू बीजेपी का समीकरण बिगाड़ती नजर आ रही है.

बीजेपी ने भवनाथपुर से अनंत प्रताप देव का टिकट काटकर नौजवान संघर्ष मोर्चा से आए भानुप्रताप शाही को उम्मीदवार बनाया. इससे नाराज होकर अनंत प्रताप निर्दलीय तौर पर चुनावी मैदान में हैं. इसी तरह से लातेहार सीट पर बीजेपी ने जेवीएम से आए प्रकाश राम को मैदान में उतारा है, जिसके चलते बैद्यनाथ राम बगावत कर जेएमएम की ओर से मैदान में उतरे हैं. इसी तरह से चतरा सीट पर बीजेपी ने जय प्रकाश सिंह भगत का टिकट काटकर आरजेडी से आए जनार्दन पासवान को उतारा है. ऐसे में बीजेपी से इसी सीट पर विधायक रह चुके सत्यानंद भोक्ता ने आरजेडी से चुनावी ताल ठोक दी है.

इसके अलावा झारखंड में बसपा की इकलौती सीट रही हुसैनाबाद से पार्टी ने इस बार शेर अली को उतारा है, जिसके चलते विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता ने एजेएसयू से ताल ठोक दी है. महागठबंधन के फॉर्मूले में यह सीट आरजेडी के खाते में गई है और पार्टी ने संजय यादव को उतारा है तो निर्दलीय प्रत्याशी विनोद कुमार सिंह को बीजेपी ने अपना समर्थन दे रखा है. लेकिन हुसैनाबाद सीट के राजनीतिक समीकरण को देखते हुए यह सीट परंपरागत  रूप से बसपा के पास रही है. ऐसे में मुस्लिम मतों से जुड़ने से माहौल उसके पक्ष में नजर आ रहा है.

पहले चरण की 13 सीटों पर जेवीएम समेत अन्य दलों के उम्मीदवार भी बाजी बदल सकते हैं. इनमें चार सीटें काफी हाई प्रोफाइल मानी जा रही हैं. इनमें विश्रामपुर सीट पर रामचंद्र चंद्रवंशी और चंद्रशेखर दुबे पर सबकी नजर रहेगी. गढ़वा सीट पर बीजेपी सत्येंद्र नाथ तिवारी और जेएमएम के मिथिलेश ठाकुर के बीच मुकाबला है. ऐसे ही डालटनगंज सीट पर बीजेपी आलोक चौरसिया और कांग्रेस के कृष्णानंद त्रिपाठी के बीच सीधी टक्कर देखने को मिली रही है. ऐसे ही पनकी सीट पर बीजेपी के कुशवाहा उम्मीदवार शशिभूषण मेहता और कांग्रेस के देवेन्द्र कुमार सिंह के बीच कांटे का मुकाबला माना जा रहा है.

लातेहार सीट पर बीजेपी के प्रकाश राम और जेएमएम के बैद्यनाथ राम तो मनिका सीट पर बीजेपी के रघुपाल सिंह और कांग्रेस के रामचंद्र सिंह के बीच सीट लड़ाई मानी जा रही है. ऐसे ही गुमला सीट पर बीजेपी के मिशिर कुजूर और जेएमएम के भूषण तिर्की मैदान में हैं. बिशुनपुर सीट पर बीजेपी के अशोक उरांव और जेएमएम के चमरा लिंडा के बीच सीधी लड़ाई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay