एडवांस्ड सर्च

हरियाणा: सोनीपत पर कांग्रेस का एकछत्र राज, क्या विपक्ष भेद पाएगा किला

सोनीपत जिले की छह विधानसभा सीटों के लिए सियासी जंग तेज हो गई है. इन छह विधानसभा सीटों पर 10 लाख 71 हजार 533 वोटर्स हैं और छह सीटों के लिए 72 प्रत्याशी मैदान में बचे हैं. सोनीपत कांग्रेस का मजबूत दुर्ग माना जाता है. पिछले चुनाव में जिले की छह सीटों में से कांग्रेस ने पांच सीटों पर जीत दर्ज की थी

Advertisement
aajtak.in
कुबूल अहमद नई दिल्ली, 10 October 2019
हरियाणा: सोनीपत पर कांग्रेस का एकछत्र राज, क्या विपक्ष भेद पाएगा किला सांकेतिक तस्वीर

  • हरियाणा के सोनीपत जिले में कुल 6 विधानसभा सीट
  • 5 सीट पर कांग्रेस और एक सीट पर बीजेपी काबिज

हरियाणा के सोनीपत जिले की छह विधानसभा सीटों के लिए सियासी जंग तेज हो गई है. इन छह विधानसभा सीटों पर 10 लाख 71 हजार 533 वोटर्स हैं और छह सीटों के लिए 72 प्रत्याशी मैदान में बचे हैं. सोनीपत कांग्रेस का मजबूत दुर्ग माना जाता है. पिछले चुनाव में जिले की छह सीटों में से कांग्रेस ने पांच सीटों पर जीत दर्ज की थी और बीजेपी के खाते में महज एक सीट गई. इस बार कांग्रेस के इस दुर्ग को तोड़ने के लिए बीजेपी ने पूरी ताकत झोंक दी है.

सोनीपत

हरियाणा की सोनीपत विधानसभा सीट कांग्रेस की मजबूत मानी जाती थी, पर फिलहाल बीजेपी का कब्जा है. 2014 विधानसभा चुनाव में सोनीपत सीट से बीजेपी की कविता जैन ने 56832 वोट हासिल करके विधायक चुनी गई थीं. जबकि, दूसरे नंबर पर कांग्रेस के देव राज दीवान रहे थे, जिन्हें 31022 वोट मिले थे. इस बार सोनीपत सीट से 14 उम्मीदवार मैदान में हैं. बीजेपी से कविता जैन, कांग्रेस से सुरेंद्र पंवार और इनेलो से बालकिशन शर्मा मैदान में हैं.

गनौर

सोनीपत जिले की गनौर विधानसभा सीट काफी महत्वपूर्ण मानी जाती है. 2014 विधानसभा चुनाव में गनौर सीट से कांग्रेस के कुलदीप शर्मा ने 46146 वोट हासिल किया था. जबकि दूसरे नंबर पर इनेलो के निर्मल रानी को 38603 वोट मिले और तीसरे नंबर पर बीजेपी के जितेन्द्र सिंह रहे थे. इस बार के चुनाव में कांग्रेस ने कुलदीप शर्मा, बीजेपी ने प्रत्याशी निर्मल चौधरी, बसपा ने जितेंद्र रंगा और जेजेपी ने रणधीर मलिक को उतारा है.

राई

सोनीपत जिले की राई विधानसभा सीट पर कांग्रेस का कब्जा है. 2014 विधानसभा चुनाव में राई सीट से कांग्रेस के जय तीरथ दहिया ने 36703 वोट हासिल कर जीत दर्ज की थी. जबकि, दूसरे नंबर पर इनेलो के इंद्रजीत को 36700 वोट मिले थे. इस बार राई सीट पर कुल 20 प्रत्याशी मैदान में हैं. इनमें बीजेपी से मोहनलाल बड़ौली, जेजेपी से अजीत आंतिल, कांग्रेस से जयतीर्थ दहिया, इनेलो से इंद्रजीत और बसपा से परमजीत चुनावी किस्मत आजमा रहे हैं.

खरखौदा

सोनीपत जिले की खरखौदा सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. 2014 विधानसभा चुनाव में खरखौदा सीट से कांग्रेस के जयवीर सिंह ने 37829 वोट हासिल करके विधायक बने थे. जबकि दूसरे नंबर पर निर्दलीय पवन कुमार को 23647 वोट मिले थे. इस बार खरखौदा विधानसभा सीट पर कुल 11 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं, जिनमें कांग्रेस से जयवीर सिंह, भाजपा से मीना रानी (नरवाल), इनेलो से विनोद, जजपा से पवन और बसपा से शादीलाल शामिल हैं.

गोहाना

सोनीपत जिले की गोहाना विधानसभा सीट काफी महत्वपूर्ण मानी जाती है. 2014 विधानसभा चुनाव में गोहाना सीट से कांग्रेस के जगबीर सिंह मलिक ने 41393 वोट हासिल कर जीत दर्ज की थी. जबकि दूसरे नंबर पर इनेलो के डॉक्टर कृष्ण रहे जिन्हें 38165 वोट मिले थे. इस बार के चुनाव में गोहाना सीट पर कुल 12 उम्मीदवार मैदान में हैं, इनमें बीजेपी के तीर्थ राणा, इनेलो के ओमप्रकाश, कांग्रेस के जगबीर सिंह मलिक, बसपा के धर्मबीर और जेजेपी के कुलदीप मलिक मैदान में हैं.

बरौदा

बरौदा विधानसभा सीट बेहद हाईप्रोफाइल मानी जाती है. कांग्रेस का लंबे समय से इस सीट पर कब्जा है. 2014 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के कृष्ण हुड्डा ने 50530 वोट हासिल कर जीत दर्ज की थी. दूसरे नंबर पर रहे इनेलो के डॉ कपूर सिंह नरवाल को 45347 वोट मिले थे. इस बार बरोदा विधानसभा सीट पर कुल 11 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. इनमें बीजेपी के ओलंपियन और पहलवान योगेश्वर दत्त, इनेलो के जोगिंद्र, बसपा के नरेश  और कांग्रेस के श्रीकृष्ण हुड्डा मैदान में है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay