एडवांस्ड सर्च

Delhi Elections: अन्ना आंदोलन से निकले सत्येंद्र जैन हैं केजरीवाल के भरोसेमंद साथी

Delhi Elections 2020: सत्येंद्र जैन ने भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू हुए अन्ना आंदोलन में भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था. इसी वजह से जब आप की पहली सरकार बनी तो केजरीवाल ने उन्हें कैबिनेट में जगह दी. दूसरी सरकार में उन्हें कई अहम विभागों की जिम्मेदारी दी गई.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 24 January 2020
Delhi Elections: अन्ना आंदोलन से निकले सत्येंद्र जैन हैं केजरीवाल के भरोसेमंद साथी सत्येंद्र जैन की बेटी की नियुक्ति को लेकर हुआ था काफी विवाद (फाइल फोटो: PTI)

  • मोहल्ला क्लीनिक की योजना में सत्येंद्र जैन की थी अहम भूमिका
  • सत्येंद्र जैन पर अधिकारों के दुरुपयोग के भी कई आरोप लगे थे

दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन पेशे से आर्किटेक्ट हैं. सत्येंद्र को केजरीवाल का काफी करीबी नेता माना जाता है. यही वजह है कि केजरीवाल की छोटी कैबिनेट में उन्हें बड़ी जिम्मेदारियां मिली हुई थीं. सत्येंद्र जैन ने अन्ना आंदोलन में भी अहम भूमिका निभाई थी. जिसके बाद जैन आम आदमी पार्टी से जुड़ गए थे.

साल 2013 में चुनाव जीतने के बाद केजरीवाल की पहली कैबिनेट में जैन को स्वास्थ्य और उद्योग मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. उनका यह कार्यकाल सिर्फ 49 दिन (28 दिसंबर 2013 से 14 फरवरी 2014 तक) ही चल सका क्योंकि उसके बाद सरकार ही गिर गई थी. सत्येन्द्र जैन शकूर बस्ती विधानसभा सीट से 2015 में चुनाव जीते थे. आम आदमी पार्टी ने इस बार भी उन्हें शकूर बस्ती विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में उतारा है.

मोहल्ला क्लीनिक तैयार करने में निभाई अहम भूमिका

2015 में दोबारा जीतने पर जैन को स्वास्थ्य सहित कई और महत्वपूर्ण मंत्रालय भी दिए गए. स्वास्थ्य के अलावा उनके पास उद्योग, गृह, पीडब्ल्यूडी, बिजली, शहरी विकास और परिवहन जैसे विभाग भी थे. वह कई सामाजिक संगठनों से भी जुड़े हुए हैं. दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक की योजना को तैयार कराने व उसे मूर्तरूप देने में उनकी अहम भूमिका रही है.

satyendrajain_012320101007.jpgसत्येंद्र जैन के खिलाफ सीबीआई और ईडी कर चुकी है जांच

यूपी के बागपत जिले में हुआ सत्येंद्र जैन का जन्म

सत्येंद्र जैन का जन्म 3 अक्टूबर 1964 को यूपी के बागपत जिले में हुआ था. सत्येंद्र जैन के पिता उनके जन्म के बाद बागपत से दिल्ली आ गए थे. सत्येंद्र जैन उत्तर-पश्चिम दिल्ली के सरस्वती विहार इलाके में रहते हैं. फिलहाल उनका परिवार सिवल लाइन्स में मिले सरकारी बंगले में रह रहा है.

यह भी पढ़ें: AAP से बगावत के बाद कपिल मिश्रा बने BJP प्रत्याशी

विवादों से भी घिरे रहे हैं सत्येंद्र जैन

कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के साथ ही साथ सत्येंद्र जैन पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे. जैन पर अधिकारों के दुरुपयोग के भी कई आरोप लग चुके हैं. सत्येंद्र जैन की बेटी सौम्या जैन को मोहल्ला क्लिनिक के लिए सलाहकार नियुक्त किए जाने के मामले ने भी काफी तूल पकड़ा था. इस मामले की जांच सीबीआई तक को दी गई थी.

यह भी पढ़ें: एक 'भोजपुरी' चेहरा जो दिल्ली की राजनीति में वजूद की लड़ाई लड़ रहा

इसके अलावा जैन पर आरोप था कि अनुभवहीन लोगों को बेहतरीन कह कर पीडब्लयूडी में क्रिएटिव टीम में लाया गया था. आरोप के मुताबिक लगभग दो दर्जन लोगों को बिना अनुमति के बड़ी-बड़ी रकम की सैलरी के तौर पर दी गई, जिसके चलते सरकार को करोड़ों का घाटा हुआ था. इतना ही नहीं, एलजी से भी इस टीम को बनाने की अनुमति नहीं ली गई थी. इस मामले में सीबीआई ने उनके छापेमारी की थी. जिसके बाद काफी विवाद बढ़ गया था.

यह भी पढ़ें: केजरीवाल के इस सिपाही ने हैक कर दिखाई थी EVM

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी धन शोधन के एक मामले में दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य एवं ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन से पूछताछ कर चुकी है. ईडी ने 3 अप्रैल 2018 को कथित अवैध आय के मामले में आप नेता जैन से 5 घंटे लंबी पूछताछ की थी. दरअसल सीबीआई में आप नेता के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को संज्ञान में लेते हुए ईडी ने अगस्त 2017 में जैन और पांच अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay