एडवांस्ड सर्च

UP Board: पिछले 4 साल में तेजी से बढ़ी फेल होने वाले छात्रों की संख्या

यूपी बोर्ड के 10वीं-12वीं की परीक्षा के रिजल्ट जारी हो चुके हैं. आंकड़ों के मुताबिक, इंटरमीडिएट की परीक्षा में फेल होने वाले विद्यार्थियों की संख्या लगातार बढ़ रही है.

Advertisement
aajtak.in
प्रज्ञा बाजपेयी नई दिल्ली, 28 April 2019
UP Board: पिछले 4 साल में तेजी से बढ़ी फेल होने वाले छात्रों की संख्या UP Board Result

यूपी बोर्ड ने 27 अप्रैल 2019 को कक्षा 10वीं-12वीं की परीक्षा के परिणाम जारी कर दिए हैं. आंकड़ों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की इंटरमीडिएट की परीक्षा में फेल होने वाले विद्यार्थियों की संख्या निरंतर बढ़ रही है. इस बार यूपी बोर्ड 2019 की इंटरमीडिएट की परीक्षा में कुल 23,52,049 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. इनमें से कुल 16,47,919 परीक्षार्थियों ने ही यह परीक्षा पास की है. इस तरह से 30 प्रतिशत छात्र परीक्षा में फेल हो गए हैं.

साल 2018 में इतने परीक्षार्थी हुए फेल-

इस साल की तुलना में साल 2018 की इंटरमीडिएट की परीक्षा में करीब 26,04,093 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिनमें 18,86,050 परीक्षार्थियों को सफलता मिली थी. इस प्रकार से साल 2018 में 27.57 परीक्षार्थी फेल हुए थे.

साल 2017 में फेल होने वाले परीक्षार्थियों का आंकड़ा-

साल 2017 में उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में नई सरकार का गठन होने के बाद नकल विहीन परीक्षा पर विशेष जोर देने से पास होने वाले परीक्षार्थियों के प्रतिशत में तेज गिरावट आई थी. ऐसे में फेल होने वाले परीक्षार्थियों का आंकड़ा 17.38 फीसदी रहा था.

वहीं, साल 2016 की परीक्षा में फेल होने वाले परीक्षार्थियों की संख्या 12.01 फीसदी थी.

यूपी बोर्ड द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, साल 2015 की इंटरमीडिएट की परीक्षा में कुल 27,64,277 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिनमें 24,55,496 परीक्षार्थी पास हुए थे. साल 2015 में सिर्फ 11.17 फीसदी परीक्षार्थी फेल हुए थे.

शिक्षा निदेशक (माध्यमिक) विनय कुमार पांडेय ने बताया कि यूपी बोर्ड की 2019 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में कुल 51,91,333 परीक्षार्थी शामिल हुए. इसमें हाईस्कूल की परीक्षा में कुल 28,39,284 परीक्षार्थी शामिल हुए, जिनमें से 22,73,304 परीक्षार्थियों को कामयाबी मिली. पास होने वाले परीक्षार्थियों की प्रतिशत 80.07 रही.

उन्होंने बताया कि हाईस्कूल की परीक्षा 8,354 और इंटरमीडिएट की परीक्षा 8,291 परीक्षा केंद्रों पर कराई गई और उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन 8 मार्च 2019 से 25 मार्च 2019 तक करीब 230 मूल्यांकन केंद्रों पर संपन्न हुआ.

पांडेय ने आगे बताया कि परिषद मुख्यालय और क्षेत्रीय कार्यालय-प्रयागराज, मेरठ, बरेली, वाराणसी और गोरखपुर में 28 अप्रैल 2019 से 29 मई 2019 तक परीक्षार्थी ग्रीवांस सेल काम करेगा, जहां 2019 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा से जुड़े परीक्षार्थियों की समस्याओं का तेज गति से निस्तारण किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay