एडवांस्ड सर्च

DU: इस बार होंगे ज्यादा एडमिशन, सीटों में होगा 25 फीसदी इजाफा

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(यूजीसी) की ओर से दिल्ली विश्वविद्यालय को एक सर्कुलर जारी किया है, जिसके बाद सीटों में 25 फीसदी तक इजाफा हो सकता है.

Advertisement
नयनिका सिंघल [Edited By: मोहित पारीक]नई दिल्ली, 28 January 2019
DU: इस बार होंगे ज्यादा एडमिशन, सीटों में होगा 25 फीसदी इजाफा प्रतीकात्मक फोटो

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(यूजीसी) के संयुक्त सचिव ने दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलसचिव और कॉलेजों के प्राचार्यों को एक सर्कुलर भेजा है. इस सर्कुलर में शैक्षणिक संस्थानों में आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के छात्र-छात्राओं के प्रवेश के संदर्भ में लिखा गया है. यूजीसी की ओर से भेजे गए सर्कुलर में प्राचार्यों को कहा गया है कि आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों को सभी केंद्रीय शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण देते हुए उनके प्रवेश को सुनिश्चित करने के लिए नीति लागू की जाए.

दिल्ली विश्वविद्यालय की अकादमिक परिषद के सदस्य प्रो. हंसराज 'सुमन 'ने बताया है कि यूजीसी के इस सर्कुलर के आने के बाद से कॉलेजों के प्राचार्यों की ओर से आगामी शैक्षिक सत्र में छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों की कितनी सीटों की बढ़ोतरी होंगी, इसके लिए कर्मचारियों को आंकड़े एकत्रित कर सीटों का ब्यौरा तैयार कराया जा रहा है. साथ ही स्टूडेंट्स के एडमिशन के साथ ही वेबसाइट पर आरक्षण नीति की जानकारी देने के लिए कहा है.

साथ ही सर्कुलर में कहा गया है कि इसके अतिरिक्त कार्यक्रम के अनुसार सीटों के आंकड़े तय करें और संभावित वित्तीय आवश्यकताओं के बारे में 31 जनवरी 2019 से पहले यूजीसी को सूचित करें. यूजीसी के इस सर्कुलर आ जाने के बाद से आगामी शैक्षिक सत्र--2019--20 से विभिन्न विभागों/विषयों में 25 फीसदी सीटें बढ़ जाएंगी और सभी वर्ग की सीटों में इजाफा होगा.

दूसरी बार बढेंगी सीटें

उन्होंने बताया है कि डीयू में यह दूसरा अवसर है जब विद्यार्थियों की सीटों में बढ़ोतरी हो रही है. इससे पहले 2007 में ओबीसी आरक्षण लागू होने पर छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों की सीटें बढ़ी थीं और केंद्र सरकार ने शिक्षकों की नियुक्ति के पहले ट्रेंच में लगभग 1300 पद दिए थे. इसी तरह से ओबीसी कर्मचारियों की सीटों में इजाफा हुआ था.

प्रो. सुमन ने बताया है कि पिछले साल दिल्ली विश्वविद्यालय की अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में मान्य सीटें 58598 थीं और 70637 छात्रों को प्रवेश दिया गया, इसमें सामान्य वर्ग के 41514, ओबीसी वर्ग के 16134, एससी वर्ग के 9474, एसटी वर्ग के 2714,पीडब्ल्यूडी वर्ग के 801 छात्र शामिल थे. वहीं अगर आगामी शैक्षिक सत्र से सीटें बढ़ती है तो सामान्य वर्ग की 35671 , ओबीसी की 19072, एससी की 10596, एसटी की 5298 सीटें बढ़ जाएंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay