एडवांस्ड सर्च

कॉरस्पोंडेंस से नहीं होगा कोई भी टेक्निकल कोर्स: सुप्रीम कोर्ट

देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट ने टेक्निकल कोर्स को लेकर साफ है कि अब टेक्निकल शिक्षा  टेक्निकल कॉरस्पोंडेंस कोर्स के माध्यम से नहीं दी जाएगी यानि अब कोई भी टेक्निकल कोर्स कॉरस्पोंडेंस मोड में नहीं होगा.

Advertisement
aajtak.in [Edited By- मोहित पारीक]नई दिल्ली, 04 November 2017
कॉरस्पोंडेंस से नहीं होगा कोई भी टेक्निकल कोर्स: सुप्रीम कोर्ट प्रतीकात्मक तस्वीर

देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट ने टेक्निकल कोर्स को लेकर साफ है कि अब टेक्निकल शिक्षा, कॉरस्पोंडेंस कोर्स के माध्यम से नहीं दी जाएगी. इससे साफ है कि अब कोई भी टेक्निकल कोर्स कॉरस्पोंडेंस मोड में नहीं होगा. कोर्ट ने इंजीनियरिंग जैसे विषयों में डिसटेंस एजुकेशन मोड में कोर्स करवाने के लिए शैक्षणिक संस्थानों को मना किया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक कोर्ट ने इस मसले पर अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के निष्कर्षों की पुष्टि की है. साथ ही कोर्ट ने ओडिशा हाई कोर्ट के उस फैसले को खारिज कर दिया है, जिसमें पत्राचार के माध्यम से टेक्निकल कोर्स को मंजूरी दे दी थी. कोर्ट का कहना है कि तकनीकि शिक्षा दूरस्थ पाठ्यक्रम और माध्यम से नहीं उपलब्ध कराई जा सकती.

शिक्षक भर्ती में देरी पर हाईकोर्ट सख्त, कहा- एक दिन की देरी करेगी प्रभावित

बता दें कि इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, फार्मेसी, मेडिकल समेत कई ऐसे कोर्सेज हैं जिसे टेक्निकल कोर्स कहा जाता है और इनके कॉरेस्पोन्डेन्स मोड पर रोक लगा दी गई है. इससे पहले पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने कम्प्यूटर साइंस में दूरस्थ माध्यम से ली गई डिग्री को रेग्यूलर मोड में ली गई कम्प्यूटर साइंस की डिग्री को एक समान मानने से इनकार कर दिया था.

IIM कोलकाता में 100 फीसदी प्लेसमेंट, नीति आयोग ने भी दी नौकरी

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay