एडवांस्ड सर्च

जामिया में नागरिकता कानून पर प्रोटेस्ट, रद्द हुई सेमेस्टर परीक्षा

नागरिकता कानून  के खिलाफ जामिया में प्रदर्शन हुआ, जिस कारण आज होने वाली सेमेस्टर की परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 14 December 2019
जामिया में नागरिकता कानून पर प्रोटेस्ट, रद्द हुई सेमेस्टर परीक्षा प्रतीकात्मक फोटो

  • नागरिकता कानून पर जामिया में हुआ था प्रदर्शन
  • अब स्थगित हुई सेमेस्टर की परीक्षा

नागरिकता कानून के खिलाफ कल जामिया मिलिया इस्लामिया के  स्टूडेंट्स ने काफी प्रदर्शन किया था. प्रदर्शन इतना उग्र हो गया था कि पुलिस ने लठियां और आंसू गैस के गोले दागे. स्टूडेंट्स के प्रदर्शन के कारण जामिया में होने वाले सेमेस्टर परीक्षा का शेड्यूल स्थगित कर दिया गया है. परीक्षा का आयोजन आज से होना था. जिस वजह से आज आयोजित होने वाली परीक्षा को रद्द कर दिया गया था.

सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गईं. नई तारीखों की घोषणा समय के अनुसार की जाएगी. वहीं शीतकालीन अवकाश 16 दिसंबर 2019 से 5 जनवरी 2020 तक घोषित किया गया है. विश्वविद्यालय 6 जनवरी 2020 को खुलेगा.

राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल (CAB) विधेयक पास होने के बाद राष्ट्रपति ने नागरिकता संशोधन बिल (CAB) विधेयक में मुहर लगा दी थी. अब ये कानून में बदल चुका है. इस नये नागरिकता कानून को लेकर पूर्वोत्तर भारत में स्‍थिति तनावपूर्ण बनी हुई है. जामिया मिलिया के आईसा के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष फरहान अहमद ने बताया कि एनआरसी और नागरिकता कानून के खिलाफ ये रैली थी.

स्टूडेंट्स संसद मार्च निकाल रहे थे. वहीं दूसरी ओर स्टूडेंट्स का कहना है कि प्रदर्शन करने का हमारा हक, इसके लिए हमें कोई नहीं रोक सकता. हम पूरी तरह से नागरिकता संशोधन बिल (CAB) के खिलाफ है.

आपको बता दें,  टीचर्स ने ये विरोध प्रदर्शन जामिया के सात नंबर गेट पर किया था. जिसमें  जामिया कर्मचारी एसोसिएशन, फोर्थ क्लास कर्मचारी एसोसिएशन शामिल थे. वहीं विभि‍न्न छात्र संगठन और स्टूडेंट्स भी शामिल हो गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay