एडवांस्ड सर्च

JNUSU चुनाव: दिल्ली HC ने नतीजों पर लगी रोक हटाई, लेफ्ट पैनल में खुशी

बीते 6 सितंबर को हाइकोर्ट ने जवाहर लाल नेहरू छात्रसंघ के चुनाव नतीजों पर रोक लगा दी थी. इस रोक को मंगलवार को हटा दिया गया है. कोर्ट के इस फैसले से लेफ्ट पैनल में खुशी का माहौल है.

Advertisement
aajtak.in
पूनम शर्मा नई दिल्ली, 17 September 2019
JNUSU चुनाव: दिल्ली HC ने नतीजों पर लगी रोक हटाई, लेफ्ट पैनल में खुशी प्रतीकात्मक फोटो

बीते 6 सितंबर को हाइकोर्ट ने जवाहर लाल नेहरू छात्रसंघ के चुनाव नतीजों पर रोक लगा दी थी. इस रोक को मंगलवार को हटा दिया गया है. कोर्ट के इस फैसले से लेफ्ट पैनल में खुशी का माहौल है.

छह सितंबर को जेएनयू छात्रसंघ चुनाव को लेकर उम्मीदवारों ने याचिका लगाई थी. इसमें कहा गया था कि इन चुनावों में लिगदोह कमेटी और सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन्स का उल्लंघन किया गया है. लेकिन कोर्ट ने आज जेएनयू प्रशासन के जवाब के बाद याचिकाओं को ख़ारिज कर दिया क्योंकि जेएनयू ने कहा कि उम्मीदवारो को चुनाव लड़ने के लिए या तो अनुपयुक्त पाया गया, या फिर पीछे उनके खिलाफ की गई अनुशासनात्मक कारवाई को उन्होंने छुपाया.

जेएनयू ने कहा कि GRC (ग्रीवांस रिड्रेसल सेल ) ने पिछले चुनाव 30 काउंसलर के साथ कराया था. जबकि इस बार बार 46 काउंसलर के साथ कराया. याचिकाकर्ता का ये कहना कि 55 काउंसलर के साथ ही पिछले चुनाव होते आए हैं, ये पूरी तरह से ग़लत है.

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि किसी एक उम्मीदवार या फिर एक कॉलेज का चुनाव नहीं हुआ है, तो उसके लिए पूरे चुनाव के नतीजों पर रोक नहीं लगाई जा सकती है. कोर्ट सिर्फ ये निर्देश दे सकता है कि ग्रीवांस कमेटी के पास अगर कोई शिकायत आती है तो वो लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों के मुताबिक उनका निपटारा करें. ज्ञात हो कि जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में इस बार लेफ्ट पैनल की जीत हुई थी. रिजल्ट घोषित होने के बाद लेफ्ट पैनल से अध्यक्ष पद की उम्मीदवार आइश घोष अब जेएनयू की नई छात्रसंघ अध्यक्ष होंगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay