एडवांस्ड सर्च

JNU ने बढ़ाई एंट्रेंस एग्जामिनेशन फीस, जानें कितनी बढ़ी

अगर आप जेएनयू में एडमिशन लेना चाहते हैं तो प्रवेश परीक्षा के लिए आपको ज्यादा फीस देनी पड़ेगी. क्योंकि जेएनयू ने 13 साल बाद एंट्रेंस एग्जामिनेशन फीस बढ़ा दी है. जानें कितनी बढ़ी है फीस...

Advertisement
aajtak.in
मेधा चावला नई दिल्ली, 25 January 2017
JNU ने बढ़ाई एंट्रेंस एग्जामिनेशन फीस, जानें कितनी बढ़ी जेएनयू

किसी न किसी वजह से विवादों में रहने वाले JNU एक बार फिस चर्चा में है. इस बार स्टूडेंट यूनियन की वजह से नहीं, बल्क‍ि entrance examination में लगने वाली फीस की वजह से.

खबर है कि जेएनयू ने प्रवेश परीक्षा की फीस 27 फीसदी बढ़ा दी है, जिसे आने वाले academic session से लागू कर दिया जाएगा.

JNU में एक साल में दूसरे चीफ प्रॉक्टर का इस्तीफा, क्या ये है वजह?

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी 13 साल बाद entrance examination fees बढ़ाई है. इससे पहले 2003 में फीस स्ट्रक्चर को रिवाइज किया गया था. यह फैसला यूनिवर्सिटी के दाखिला विभाग द्वारा लिया गया है.

हालांकि यह फीस स्ट्रक्चर SC/ST, दिव्यांग एवं गरीबी रेखा से नीचे के छात्रों समेत आरक्षित श्रेणियों के उम्मीदवारों पर लागू नहीं होगा.

जेएनयू में पांच महीने पहले हो सकता है एंट्रेस टेस्ट

बता दें कि इससे पहले बीए प्रोग्राम की ऐप्लिकेशन फीस 420 रुपये थी. एक विषय का चुनाव करने पर 630 रुपये और अतिरिक्त प्रोग्रामों का चुनाव करने पर 800 रुपये फीस देनी पड़ती थी, जिसे बढ़ाकर अब 530 रुपये, 800 रुपये और 1,000 रुपये कर दिया गया है.

बुक फेयर में डिस्प्ले होगी जेएनयू की सेंट्रल लाइब्रेरी

इसी तरह से एमफिल, पीएचडी, एमटेक, एमएससी, एमसीए और एमए प्रोग्रामों के लिए फीस को 300 रुपये से बढ़ाकर 400 रुपये कर दिया गया है. अतिरिक्त विषयों के लिए छात्रों को क्रमश: 575 रुपये और 750 रुपये का भुगतान करना होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay