एडवांस्ड सर्च

इस भारतीय ने FB में ढूंढी खामी, कंपनी ने दिए 1.10 लाख रुपये

फेसबुक बग बाउंटी प्रोग्राम के तहत कई भारतीय हैकर और छात्र सोशल मीडिया की खाामियों को उजागर करते हैं. इसके लिए कंपनी इन्हें पैसे देती है. कई भारतीय ऐसे हैं जो बिना किसी हैकिंग या सिक्योरिटी का कोर्स किए ही फेसबुक पर खामियों को उजागर करके पैसे कमाते हैं.

Advertisement
मुन्ज़िर अहमद 12 November 2018
इस भारतीय ने FB में ढूंढी खामी, कंपनी ने दिए 1.10 लाख रुपये शुभम

सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक में आए दिन बग (खामियां) निकलती हैं. फेसबुक बग ढूंढने में भारतीय काफी आगे हैं. फेसबुक बग बाउंटी प्रोग्राम के तहत इन्हें इनाम देता है.

महाराष्ट्र के धूले के रहने वाले शुभम ने हाल ही में फेसबुक की खामी को उजागर किया और इसके लिए कंपनी ने उसे रिवॉर्ड दिया है. इतना ही नहीं इस 2018 के हॉल ऑफ फेम में शुभम को जगह भी दी जाएगी. फेसबुक ने शुभम को 1,500 डॉलर (लगभग 1,10,000 रुपये) दिए हैं.

क्या था बग

शुभम ने फेसबुक पेज में बग ढूंढा है. फेसबुक पेज के ऐडमिन रोल प्राइवेट होते हैं. लेकिन शुभम ने फेसबुक ग्रुप के जरिए पेज के एडमिन का नाम जान सकते थे. ये बग प्राइवेसी के लिहाज से काफी गंभीर हो साबित हो सकता था. किस पेज का एडमिन कौन है ये जानकारी सामने आना खुद में एक समस्या है.

शुभम के मुताबिक यह प्राइवेसी से जुड़ी खामी थी और इसका फायदा उठा कर किसी भी पेज के एडमिन की जानकारी और उसके पर्सनल प्रोफाइल को देखा जा सकता था. गौरतलब है कि फेसबुक पेज में एडमिन को प्राइवेट रखने का ऑप्शन होता है और ज्यादातर पेज के एडमिन्स प्राइवेट होते हैं ताकि यूजर्स उनका प्रोफाइल न देख सकें.

आपको बता दें कि शुभम के अलावा भी कई भारतीय ने फेसबुक में बग ढूंढकर करोड़ों रुपये कमाए हैं. ऐसे ही बंगलुरु के आनंद प्रकाश इस फेसबुक बग ढूंढने वाले में दुनिया के मामले में नंबर-1 रह चुके हैं.

शुभम में आजतक को बताया है कि वो फेसबुक के इस रिवॉर्ड से काफी खुश और उत्साहित हैं और वो फेसबुक के अलवा दूसरे प्लेटफॉर्म पर भी बग ढूंढते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि पिछले कुछ साल से वो फेसबुक में बग ढूंढना चाहते थे.

शुभम ने हमें बताया कि उन्होंने 9 सितंबर को उन्होंने फेसबुक को इस बग के बारे में बताया.  फेसबुक ने माना कि यह खामी है और 11 सितंबर को कंपनी ने इसे ठीक करने की बात कही. हालांकि फेसबुक पैच के बाद भी यह खामी वैसी ही बनी रही. शुभम ने एक बार फिर से फेसबुक को इस बात की जानकारी दी और फेसबुक ने इसे 23 अक्टूबर को पूरी तरह से ठीक किया. 3 नवंबर को कंपनी ने बाउंटी दी.

शुभम 21  साल के हैं और उन्होंने ने बीसीए किया है और अब वो पीजी कर रहे हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay