एडवांस्ड सर्च

दिल्ली में क्राइम सीरियल देखकर कत्ल, आरोपी गिरफ्तार

पीड़ित परिवार के मुताबिक किडनैपर ने जतिन को रिहा करने के एवज में 20 लाख रुपये की मांग की थी. जिसके बाद परिवार अचानक से सदमे में आ गया और तुरंत पुलिस को इस किडनैपिंग की जानकारी दी गई.

Advertisement
aajtak.in
कौशलेन्द्र बिक्रम सिंह/ चिराग गोठी नई दिल्ली, 30 October 2017
दिल्ली में क्राइम सीरियल देखकर कत्ल, आरोपी गिरफ्तार प्रतीकात्मक तस्वीर

राजधानी दिल्ली में एक ग्याहरवीं क्लास के स्टूडेंट के कत्ल का मामला सामने आया है. दिल्ली के मेहरौली इलाके में रहने वाला जतिन गोयल शनिवार की शाम को शनि धाम मंदिर जाने के लिए घर से निकला था लेकिन जब जतिन रात तक घर नहीं लौटा तो घरवालों ने उसके मोबाइल पर कॉल किया. पहले तो फोन कट गया लेकिन उसके बाद उसी फोन से एक कॉल आई, कॉल पर दूसरी ओर जतिन नहीं बल्कि किडनैपर था.

पीड़ित परिवार के मुताबिक किडनैपर ने जतिन को रिहा करने के एवज में 20 लाख रुपये की मांग की थी. जिसके बाद परिवार अचानक से सदमे में आ गया और तुरंत पुलिस को इस किडनैपिंग की जानकारी दी गई. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की. पुलिस ने पहले जिस नंबर से फोन आया था उसकी लोकेशन ट्रेस की. लोकेशन ट्रेस करते समय पुलिस को जतिन की स्कूटी बरामद हो गई.

स्कूटी मिलने के बाद पुलिस ने उस पूरे इलाके की सीसीटीवी फुटेज को खंगाला. सीसीटीवी फुटेज में पुलिस को एक बुलेट पर 3 लड़के नजर आए जिन्होंने नकाब पहना हुआ था. यहीं से पुलिस को सुराग मिला. अब पुलिस को तलाश थी उस बुलेट की. जतिन के दोस्तों को सीसीटीवी दिखा कर ये भी पता चल गया कि आखिरकार बुलेट किसकी है. बुलेट आकाश नाम के एक शख्स की थी. पुलिस ने आकाश को गिरफ्तार कर लिया. आकाश से पूछताछ में जो कहानी सामने आई उसने सब को हिला कर रख दिया.

आकाश ने पुलिस को बताया कि ये पूरी साजिश नवीन ने की थी. जिसमें इन्होंने एक नाबालिग को साथ में मिलाया था. पुलिस ने आकाश की निशानदेही पर नवीन को गिरफ्तार किया. इतना ही नहीं पुलिस को जांच के दौरान ये पता चला था कि बुलेट पर 'जाट' लिखा था, आकाश ने जाट वाले स्टिकर को हटा दिया था. पकड़े जाने के बाद वह स्टिकर उसकी जेब से बरामद हो गया.

जब पुलिस ने नवीन से पूछताछ की तो उसने बताया कि वो भी पहले उसी स्कूल में पढ़ता था जिसमे जतिन पढ़ता था. इसी स्कूल में नवीन की एक दोस्त भी पढ़ती है उसने नवीन को बताया कि जतिन कई दिनों से उससे बात करने की कोशिश कर रह है. बस इसी बात पर नवीन ने जतिन को सबक सिखाने की ठान ली. नवीन ने अपने साथ आकाश और एक नाबालिग को साथ में मिलाया. तीनों ने शनिवार शाम को जब जतिन शनि मंदिर जाने के लिए निकला तो समोसा खिलाने के बहाने उसे साथ बुलाया और फिर छतरपुर के पास एक फॉर्म में ले गए. वहां तीनों ने मिलकर जतिन का मर्डर कर दिया.

मर्डर के बाद उन्होंने लाश को एक जंगल में छिपा दिया. लेकिन अब इन तीनों को डर था कि ये कहीं पकड़े ना जाएं तो इन्होंने क्राइम पेट्रोल के एपिसोड को याद किया और उसी की तर्ज पर इस पूरी वारदात को किडनैपिंग से जोड़ दिया. इन्होंने जतिन के घर पर फोन कर 20 लाख की मांग की. पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर जतिन की लाश को बरामद कर लिया है. फिलहाल तीनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay