एडवांस्ड सर्च

बीजापुर जिले के कलेक्टर ने परिवार सहित काटा धान

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में कलेक्टर परिवार सहित खेत में उतरे और हंसिया पकड़ा और धान कटाई करने लगे. यह देख ग्रामीणों के आश्चर्य का ठिकाना न रहा. कलेक्टर यशवंत कुमार धान कटाई का शौक पूरा करने के लिए परिवार सहित गांव जैतालूर पहुंचे.

Advertisement
aajtak.in
संदीप कुमार सिंह बीजापुर, 21 November 2015
बीजापुर जिले के कलेक्टर ने परिवार सहित काटा धान

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में कलेक्टर परिवार सहित खेत में उतरे और हंसिया पकड़ा और धान कटाई करने लगे. यह देख ग्रामीणों के आश्चर्य का ठिकाना न रहा. कलेक्टर यशवंत कुमार धान कटाई का शौक पूरा करने के लिए परिवार सहित गांव जैतालूर पहुंचे.

जिलाधीश की पत्नी भी खुद को धान काटने से रोक न सकीं और हाथ में हंसिया थाम ग्रामवासियों के धान काटने के तरीके देखकर उनका अनुकरण करने लगीं. बड़ी सफाई से धान काटकर उन्होंने अपना शौक पूरा किया. साथ में उनके दोनों बच्चे भी थे.

जिला प्रशासन ने सूखे के कारण धान की फसलों को हुए नुकसान का सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए हैं. कलेक्टर स्वयं धान की फसल काटकर धान की मिजाई की, तौल करवाया और उसका मूल्यांकन किया. इस अवसर पर तहसीलदार, राजस्व निरीक्षक, पटवारी और सरपंच धनेश्वरी बागड़े भी उपस्थित थीं.

कलेक्टर यशवंत ने बताया कि जिला बीजापुर के चारों तहसीलों को राज्य शासन द्वारा सूखा प्रभावित क्षेत्र घोषित किया गया है. सूखे से प्रभावित किसानों का फसलों की क्षति का सर्वेक्षण फसल कटाई के पूर्व तहसीलदारों द्वारा अपने हल्के के पटवारियों के साथ 15 दिनों के भीतर किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि जिन किसानों की फसल 33 फीसदी से ज्यादा बर्बाद हो, वे अपना आवेदनपत्र कार्यालयीन समय में अनुविभाविगीय अधिकारी राजस्व बीजापुर/भोपालपटनम के समक्ष पेश कर सकते हैं. पात्रता के आधार पर प्रभावित किसानों को आर्थिक मदद दी जाएगी.

इनपुट...IANS.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay