एडवांस्ड सर्च

शपथ लेने के बाद केजरीवाल ने सुनाई कविता, बताया क्या है नई राजनीति

Arvind Kejriwal Poem: अरविंद केजरीवाल ने रविवार को रामलीला मैदान में दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. वह तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने हैं. इसी  मौके पर उन्होंने एक कविता भी सुनाई.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in 16 February 2020
शपथ लेने के बाद केजरीवाल ने सुनाई कविता, बताया क्या है नई राजनीति अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने तीसरी बार मुख्यमंत्री के तौर पर दिल्ली की कमान संभानी है. उन्होंने रविवार को रामलीला मैदान पर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. शपथ लेने के बाद उन्होंने दिल्लीवासियों को शुक्रिया कहा और बताया कैसे दिल्ली के हर एक शख्स की वजह से ये जीत संभव हो पाई है. केजरीवाल ने मंच ने मंच से एक कविता भी सुनाई.  

अरविंद केजरीवाल ने सुनाई ये कविता

जब भारत का मां का हर बच्चा

अच्छी शिक्षा पाएगा

जब भारत के हर बंदे को

अच्छा इलाज मिल जाएगा

जब सुरक्षा और सम्मान

महिलाओं में आत्म विश्वास जगायेगा

हर नौजवान के माथे से

बेरोजगार का तमगा हट जाएगा

जब किसान का पसीना उसके

घर में भी खुशहाली लाएगा

जब हर भारतवासी

जीवन की मूलभूत सुविधा पाएगा

जब धर्म- जाति से उठकर

हर भारत वासी भारत को आगे बढ़ाएगा

तब ही अमर तिरंगा

आसमान में शान से लहराएगा

अरविंद केजरीवाल ने 'भारत माता की जय', 'वंदे मातरम' के साथ अपने संबोधन की शुरुआत की. उन्होंने कहा कि ये उनकी नहीं, दिल्लीवालों की जीत है. वह वोट देने वाले, नहीं देने वाले दोनों का मुख्यमंत्री हैं. उन्होंने कहा, 'मैं दिल्लीवालों के जिंदगी में खुशहाली लाने की कोशिश करूंगा.' इसी के साथ उन्होंने अंत में 'हम होंगे कामयाब, एक दिन' गीत गाया.

यह भी पढ़ें: केजरीवाल की कैबिनेट पर सहयोगी डडलानी ने उठाए सवाल

'पीएम का आशीर्वाद चाहता हूं'

केजरीवाल ने कहा- दिल्ली के विकास के लिए मैं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आशीर्वाद चाहता हूं.  हमारी सरकार केंद्र के साथ मिलकर काम करेंगे. आप किसी भी पार्टी या धर्म के हों, काम हो तो मेरे पास आ जाना. देश में दिल्ली से नई राजनीति की शुरुआत हुई है. दिल्ली के विकास के लिए प्रधानमंत्री का आशीर्वाद चाहता हूं. मैं सबके साथ मिलकर काम करना चाहता हूं.'

आपको बता दें,  साल 2015 में 70 में से 67 सीटें जीतने के बाद उन्होंने अपने शपथ ग्रहण में 'इंसान का इंसान से हो भाईचारा' गीत गाया था.  लोगों ने उम्मीद जताई थी कि वह इस बार भी यहीं गीत गाएंगे, लेकिन उन्होंने 'हम होंगे कामयाब' गाया.

यह भी पढ़ें: गोपाल राय ने ईश्वर नहीं, आजादी के शहीदों के नाम ली मंत्रिपद की शपथ

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay