खानाखराबः क्योंकि गुर्दे दो हैं और आईफोन..."/>खानाखराबः क्योंकि गुर्दे दो हैं और आईफोन..."/>

एडवांस्ड सर्च

Advertisement

खानाखराबः क्योंकि गुर्दे दो हैं और आईफोन...

जब स्टीव जॉब्स ने आईफोन पहली बार लॉन्च किया था तो कहा था, अब आपको घड़ी पहनने की जरूरत नहीं रहेगी. क्योंकि आईफोन में घड़ी है. जॉब्स साहेब स्वर्ग सिधार गए. अभी उनके उत्तराधिकारी टिम कुक ने आईफोन 6 से पर्दा उठाते हुए कहा कि हमको बस एक अदद घड़ी की जरूरत है. वह घड़ी एप्पल की है.
<b><span style="color:red">खानाखराबः</span> क्योंकि गुर्दे दो हैं और आईफोन...</b>
कमलेश सिंहनई दिल्ली, 17 September 2014

जब स्टीव जॉब्स ने आईफोन पहली बार लॉन्च किया था तो कहा था, अब आपको घड़ी पहनने की जरूरत नहीं रहेगी. क्योंकि आईफोन में घड़ी है. जॉब्स साहेब स्वर्ग सिधार गए. अभी उनके उत्तराधिकारी टिम कुक ने आईफोन 6 से पर्दा उठाते हुए कहा कि हमको बस एक अदद घड़ी की जरूरत है. वह घड़ी एप्पल की है.

टेक्नोलॉजी महज उपयोग की नहीं, पहनने की चीज हो गई है. और ये नई बात नहीं है. सैमसंग, एलजी और भतेरे चीनी नकलचियों ने नई घड़ियां बाजार में दो साल पहले से उतारनी शुरू कर दी थीं. ये घड़ियां मोबाइल फोन की तरह काम करती हैं. आपको आपकी ह्रदयगति और रक्तचाप भी बताती हैं. पर अभी तक दुनिया पगलाई नहीं थी. कुछ लोगों ने खरीदा भी तो बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं दिखे. पर अब चूंकि एप्पल ने एप्पल वॉच बनाया तो लोगों पर नया बुखार छा गया है. अचानक एक नई जरूरत पैदा हो गई है. ऐसा लगता है इस घड़ी के बिना जिंदगी अधूरी थी. ये घड़ी वह सब करती है जो आईफोन करता है. पर अगर आप ये सोच रहे हैं कि आईफोन न लेकर ये घड़ी ले लेंगे तो आप गलत हैं. ये घड़ी तभी काम करती है जब आपके पास आईफोन हो. चूंकि समय सबसे बड़ा धन है इसलिए इस घड़ी में समय देखने के लिए आपको बहुत सारा धन देना पड़ेगा. नया आईफोन बटुए का काम भी करता है. बशर्ते आप अपने बटुए को तिलांजलि दे दें. या गुर्दा. गुर्दे की बात इसलिए कर रहा हूं कि हर नए आईफोन की खबर के बाद ये खबरें आती हैं कि फलां देश के फलां शहर में एक आदमी ने आईफोन खरीदने के लिए अपने गुर्दे बेच दिए.

ये खबरें पढ़कर हम हमेशा सोचते थे कि दुनिया कितनी बौराई है. एक फोन के लिए गुर्दे का सौदा करने पर उतर आई है. पर गौर से सोचा तो लगा कि फायदे का सौदा है. एंड्रॉयड फोन भले आईफोन पर बीस पड़ें पर उनकी औकात उन्नीस की ही रहेगी. बात सिंपल है. आईफोन स्टेटस सिंबल है. भगवान ने हमें दो गुर्दे दिए, जबकि काम तो एक से ही चल जाता है. अगर भगवान को हमें गुर्दे बेचने से रोकना था तो वह एक ही देते. अल्लाह की मर्जी के बीच में बंदा क्यों आए. आईफोन 6 के लिए गुर्दा बेचने के 6 कारण ये रहे:

1. गुर्दे दिखने में थोड़े वो होते हैं. लथपथ और लुरलुरे. अगर हाथ में ले लो तो उल्टियां आ जाएं. दूसरी तरफ आईफोन आहा आहा! माशा अल्लाह! मेटल बॉडी, छरहरा बदन और मद्धम-मद्धम सुगम संगीत का रिंगटोन.

2. कौन जानता है कि अपन के पास दो गुर्दे हैं या एक. अपने पास अगर आईफोन हो तो सब जान जाते हैं. जेब में भी हो तो चेहरे का आत्मविश्वास बताता है. अगर नहीं पकड़ में आए तो चिंता नहीं क्योंकि आईफोन का स्वामी हर मिनट में एक बार इसे जेब से निकाल निहारता है.

3. किडनी का काम है खून साफ करना. बस एक ही काम. आईफोन से आप गाना सुन सकते हैं, फोटो खींच सकते हैं, कैंडी क्रश खेल सकते हैं. यानी मल्टी-टास्किंग कर सकते हैं. नए आईफोन से आप खरीदारी के दौरान भुगतान भी कर सकते हैं. हालांकि गुर्दे से भी भुगतान होता है पर ज्यादातर प्रतिष्ठान क्रेडिट कार्ड प्रेफर करते हैं.

4. आपके दो किडनी हैं, जैसे सबके होती हैं. एक निकाल दो तो भी आपके पास फुल्ली फंक्शनल किडनी रहती है और एक आईफोन भी आ जाता है.

5. किडनी की तकनीक सदियों पुरानी है. भगवान ने जब बनाया तब के बाद उसमें कोई अपग्रेड भी नहीं आया है. आईफोन भी आधुनिक तकनीक और डिजाइन के भगवान श्री स्टीव जॉब्स ने बनाया. उसमें हर साल सॉफ्टवेअर अपग्रेड भी होता है. भले ही नेक्सस से एक-दो साल पीछे चल रहा हो, पर किडनी से तो बेहतर ही है.

6. क्या आपको पता है कि आपकी किडनी और ऐश्वर्या राय की किडनी की शक्ल हूबहू मिलती है? यकीन नहीं होगा पर ये सच है. पर क्या आपको लोग उसी प्यार की नजर से देखते हैं जिससे लोग कभी ऐश्वर्या को देखा करते थे? नहीं. वह आपको हमेशा से उसी उदासीनता से देखते हैं, जिससे लोग आजकल ऐश्वर्या को देखा करते हैं. क्यों? क्योंकि आपकी हसीन किडनी दिखती नहीं है. जो दिखता है, वही टिकता है. एक आम लड़की और दीपिका पादुकोण के बीच की खाई को पाटता है आईफोन. जो फोन उसके पास, वही फोन आपके पास. संभव है कि आपका कवर उससे भी सुंदर हो.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay