एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मणिपुर: 82 फीसदी वोटरों ने किया मतदान

मणिपुर की 60 सदस्यीय विधानसभा के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच शनिवार को हुए मतदान में शुरुआती आंकड़ों के अनुसार 82 फीसदी मतदान होने की खबर है.
मणिपुर: 82 फीसदी वोटरों ने किया मतदान मणिपुर
आजतक वेब ब्‍यूरो/आईएएनएसइम्फाल, 28 January 2012

मणिपुर की 60 सदस्यीय विधानसभा के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच शनिवार को हुए मतदान में शुरुआती आंकड़ों के अनुसार 82 फीसदी मतदान होने की खबर है. मतदान अपराह्न् तीन बजे समाप्‍त हो गया.

पिछले एक सप्ताह के दौरान श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोटों और उग्रवादी खतरों के बावजूद लोग अपने लोकतांत्रिक अधिकारों का इस्तेमाल करने घरों से निकले हैं और वे मतदान केंद्रों पर कतारबद्ध खड़े रहे.

तिपाईमुख विधानसभा क्षेत्र में घटी हिंसा की एक घटना को छोड़कर बाकी पूरे राज्य में मतदान शांतिपूर्वक जारी है. वहां कुछ नाराज मतदाताओं ने एक मतदान केंद्र पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को क्षतिग्रस्त कर दिया. इसके बाद सुरक्षाकर्मियों को गोली चलानी पड़ी, लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ.

राज्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदान 2,357 मतदान केंद्रों पर हो रहा है, जिनमें से 875 केंद्र अति संवेदनशील हैं. मुख्य निर्वाचन अधिकारी पी.सी. लवमकुंगा ने कहा, 'दोपहर तक हमने 40 प्रतिशत मतदान दर्ज किया है. राज्य भर में अच्छी संख्या में मतदाता मतदान के लिए निकल रहे हैं, और उम्मीद है कि दिन चढ़ने के साथ मतदान में तेजी आएगी.'

लवमकुंगा ने कहा, 'स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए सभी ऐहतियात बरते गए हैं.' उन्होंने कहा कि फर्जी मतदान या अन्य किसी तरह की गड़बड़ी रोकने के लिए सभी मतदान केंद्रों पर वीडियो कैमरे लगाए गए हैं. मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह और उनकी पत्नी लनधोनी देवी ने सुबह लगभग 7.30 बजे खंगबोक विधानसभा क्षेत्र में थौबल अफोकपाम लोवर प्राइमरी स्कूल में मतदान किया.

लनधोनी देवी खंगबोक सीट से मौजूदा विधायक हैं. मुख्यमंत्री ने वोट डालने के बाद कहा, 'मैं उम्मीद करता हूं कि कांग्रेस लगभग 45 सीटें हासिल करेगी. लेकिन कम से कम 35 सीटें तो हम हर हाल में जीत रहे हैं.' राज्य के दो बार मुख्यमंत्री रह चुके इबोबी ने कहा कि राज्य में 80 प्रतिशत से अधिक मतदान की सम्भावना है.

उन्होंने कहा, 'लोग उग्रवादियों की धमकी के बावजूद बाहर आएंगे, क्योंकि यह उनका एक लोकतांत्रिक अधिकार है जो हर पांच वर्ष बाद आता है और कोई भी इससे चूकना नहीं चाहता.' राज्य निर्वाचन प्रशासन सुचारू मतदान के लिए राज्य पुलिस बल के जवानों के अतिरिक्त केंद्रीय सैनिक बलों की 350 कम्पनियों का इस्तेमाल कर रहा है.

ज्ञात हो कि मतदान से एक दिन पूर्व संदिग्ध उग्रवादियों ने मणिपुर की राजधानी में इम्फाल पश्चिम जिले के तहत आने वाले थंगमेइबान लाइकमदिवान लेइकी मुहल्ले में एक बम विस्फोट किया था. शुक्रवार के इस विस्फोट में एक व्यक्ति को मामूली चोटें आई थीं.

इसके पहले गुरुवार को कांगला किले से मात्र दो किलोमीटर की दूरी पर एक विस्फोट हुआ था. वहां राज्य सरकार की ओर से गणतंत्र दिवस समारोह मनाया जा रहा था. इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ था. इसके अलावा इम्फाल पश्चिम जिले के काकवा इलाके में बुधवार रात दो शक्तिशाली बम विस्फोट हुए थे. इस घटना में भी कोई हताहत नहीं हुआ था.

मणिपुर विधानसभा चुनाव से सम्बंधित कुछ प्रमुख तथ्य इस प्रकार हैं:
मणिपुर में विधानसभा क्षेत्रों की संख्या-60
कुल मतदाता-1750304
पुरुष मतदाता-858390
महिला मतदाता-891914
कुल उम्मीदवारों की संख्या-279
कुल महिला उम्मीदवारों की संख्या-15
सर्वाधित उम्मीदवारों वाला विधानसभा क्षेत्र- खेस्त्रीगाओ (8 उम्मीदवार)
सबसे कम उम्मीदवारों वाले क्षेत्र- काकचिंग (2 उम्मीदवार), मोइरांग- (2 उम्मीदवार)
उम्मीदवारों की दलगत सूची :
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा)-24
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (रांकापा)-22
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी)-60
अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस -47
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)-19
मणिपुर राज्य कांग्रेस पार्टी -31
मणिपुर पीपल्स पार्टी-14
मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा)-2
निर्दलीय सहित अन्य-60
चुनाव में इस्तेमाल होने वाले ईवीएम की संख्या-2365
क्षेत्र के अनुसार सबसे बड़ा विधानसभा क्षेत्र- चैनल, 69पी/एस
मतदाताओं की संख्या के अनुसार सबसे बड़ा विधानसभा क्षेत्र -माओ, 52128 मतदाता
मतदाताओं की संख्या के अनुसार सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र -तिपाईमुख, 17487 मतदाता
कुल मतदान केंद्रों की संख्या-2357 और आठ सहायक पी/एस

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay