एडवांस्ड सर्च

बजरंगबली को प्रिय सिंदूर का क्या है महत्व, जानें इससे जुड़े नियम

हिंदू धर्म के अनुसार मंगलवार का दिन मंगलमूर्ति की उपासना के लिए सबसे मंगलकारी होता है. मान्यता है कि आज के दिन हनुमान जी को प्रसन्न करना बेहद आसान होता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बजरंगबली को सिंदूर अति प्रिय है. आइए जानते हैं धार्मिक दृष्टि से क्या है सिंदूर का महत्व.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: मंजू ममगाईं]नई दिल्ली, 21 May 2019
बजरंगबली को प्रिय सिंदूर का क्या है महत्व, जानें इससे जुड़े नियम प्रतीकात्मक फोटो

हिंदू धर्म के अनुसार मंगलवार का दिन मंगलमूर्ति की उपासना के लिए सबसे मंगलकारी होता है. मान्यता है कि आज के दिन हनुमान जी को प्रसन्न करना बेहद आसान होता है. इस दिन बजरंगबली के भक्त उन्हें अलग अलग उपाय करके प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं. ऐसे ही उपायों में शामिल है सिंदूर का उपाय. इस उपाय को करने से आप शीघ्र ही पवनपुत्र को प्रसन्न कर पाएंगे.

हिंदू धर्म में सिंदूर को बहुत महत्व दिया जाता है. भारतीय परंपरा के अनुसार सिंदूर किसी भी सुहागन के माथे का ताज माना जाता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बजरंगबली को सिंदूर अति प्रिय है. आइए जानते हैं धार्मिक दृष्टि से क्या है सिंदूर का महत्व.

सिन्दूर का महत्व-

सिन्दूर मुख्यतः नारंगी रंग का होता है. महिलाएं इसे सौभाग्य और श्रृंगार के लिए प्रयोग करती हैं. बिना सिन्दूर के विवाह की कल्पना नहीं की जा सकती. सिंदूर को मंगल ग्रह से जोड़कर देखा जाता है यही वजह है कि ये मंगलकारी भी होता है. मंगलवार के दिन हनुमान जी को सिन्दूर अर्पित करने के साथ उसका लेपन करना भी अत्यंत शुभ माना जाता है. माना जाता है कि हनुमान जी ने एक बार सीता माता से प्रेरित होकर सिन्दूर लगा लिया था. जिसके बाद उन्हें सिन्दूर अर्पित करना शुभ माना जाता है.

राम भक्त हनुमान को सिंदूर बहुत ही प्रिय है. कहा जाता है कि हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करके आप अपने जीवन के कष्टों से छुटकारा पा सकते हैं. हालांकि ज्योतिषियों की मानें तो हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करने के कुछ खास नियम होते हैं.

हनुमान जी को सिन्दूर अर्पित करने के नियम-

- हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए मंगलवार को सिन्दूर अर्पित करना चाहिए.

- अगर मंगल बाधा दे रहा हो या कोई विशेष संकट हो तो  हनुमान जी को चमेली का तेल और सिन्दूर अर्पित करना चाहिए.

- पुरुष हनुमान जी को सिन्दूर अर्पित करने के साथ उनका लेपन भी कर सकते हैं लेकिन महिलाओं को सिन्दूर अर्पित करने की मनाही होती है.  

हनुमान जी को प्रसन्न करने के उपाय-

कलियुग में हनुमान जी को सिद्ध देव माना जाता हैं. कहा जाता है कि अगर किसी व्यक्ति को उनकी कृपा मिल जाए तो उसके जीवन के सभी कष्ट आसानी से दूर हो जाते हैं. हिंदू धर्म में हनुमान जी को प्रसन्न करने का सबसे उत्तम उपाय सिंदूर का प्रयोग बताया गया है. सिंदूर का प्रयोग दांम्पत्य जीवन की खुशहाली के लिए भी किया जाता है.

सिन्दूर का चमत्कारी प्रयोग-

-महिलाएं नहाने के बाद मां गौरी को सिन्दूर अर्पित करने के बाद खुद को भी सिन्दूर लगाएं. इसके बाद भगवान बजरंगबली से अपने सुखद दाम्पत्य जीवन के लिए प्रार्थना करें.

-हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करके कर्ज, मर्ज और दुर्घटना से भी बचा जा सकता है

बच्चे को अक्सर चोट लग जाती है तो करें ये उपाय-

-चोट और दुर्घटना से रक्षा के लिए मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर से सिन्दूर ले आएं. अब इस सिंदूर को किसी सुरक्षित जगह रख लें. बच्चे को हर सुबह इसी सिन्दूर का तिलक लगाएं. ऐसा करने से आपका बच्चा चोटों से सुरक्षित रहेगा.

दूर होगी नौकरी की बाधा-

- किसी भी मंगलवार को हनुमान जी के चरणों का सिन्दूर लाएं

- एक सफेद कागज पर उस सिन्दूर से स्वस्तिक बनाएं.

- इस कागज को अपने पास रख लें.

- आपकी नौकरी की हर समस्या दूर होगी.

यही नहीं अगर आप कर्ज के बोझ तले दबे हैं तो कर्ज से मुक्ति पाने के लिए भी उपाय कर सकते हैं. हनुमान जी की कृपा से आप शीघ्र ही कर्ज मुक्त हो जाएंगे.

कर्ज से मुक्ति के लिए करें ये उपाय-

- चमेली के तेल में सिन्दूर मिलाएं.

- जितनी आपकी उम्र है  उतने पीपल के पत्ते ले लें.

- हर पत्ते पर "राम" लिखें.

- मंगलवार को हनुमान जी को अर्पित करें.

- आपको कर्ज से मुक्ति मिलेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay