एडवांस्ड सर्च

Surya Grahan 2019: कब, कहां और कैसे देख सकेंगे आज सूर्य ग्रहण?

सूर्य ग्रहण सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजकर 57 मिनट तक रहेगा. इसकी अवधि कुल 5 घंटे 36 मिनट तक होगी. इसे वलयाकार सूर्य ग्रहण का नाम दिया गया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 30 December 2019
Surya Grahan 2019: कब, कहां और कैसे देख सकेंगे आज सूर्य ग्रहण? आज वलयाकार सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2019)

साल 2019 का आखिरी सूर्य ग्रह लग चुका है. सूर्य ग्रहण सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजकर 36 मिनट तक रहेगा. इसकी अवधि कुल 5 घंटे 36 मिनट तक होगी (Surya Grahan Date and Time). यह सूर्य ग्रहण एक आग की अंगूठी की नजर आएगा. वैज्ञानिक इसे ‘रिंग ऑफ फायर’ का नाम दे रहे हैं. इस ग्रहण में सिर्फ सूरज का मध्य भाग ही छाया के क्षेत्र में आता है जबकि सूर्य के बाहर का क्षेत्र प्रकाशित रहता है. आइए जानते हैं यह सूर्य ग्रहण भारत समेत किन देशों में दिखेगा और इसे आप कहां देख सकते हैं.

क्या है सूर्य ग्रहण का समय (Timing of Surya Grahan 2019)

भारतीय समय अनुसार, आंशिक सूर्यग्रहण सुबह आठ बजे आरंभ होगा जबकि वलयाकार सूर्यग्रहण की अवस्था सुबह 9.06 बजे शुरू होगी. सूर्य ग्रहण की वलयाकार अवस्था दोपहर 12 बजकर 29 मिनट पर समाप्त होगी जबकि ग्रहण की आंशिक अवस्था दोपहर एक बजकर 36 मिनट पर समाप्त होगी.

कहां देखें सूर्य ग्रहण (where to watch Surya Grahan)

Time and Date.com की रिपोर्ट के मुताबिक, यह सूर्य ग्रहण भारत समेत एशिया में ज्यादातर जगहों पर दिखेगा. इसके अलावा यह नॉर्थ-ईस्ट अफ्रीका और नॉर्थ-वेस्ट ऑस्ट्रेलिया में भी नजर आने वाला है. ब्रिटेन और नॉर्थ अमेरिका जैसे इलाकों में इस सूर्य ग्रहण का कोई असर नहीं होगा.

कैसे देख सकेंगे सूर्य ग्रहण (how to watch Surya Grahan)

सूर्य ग्रहण को नग्न आंखों से देखना सही नहीं माना जाता है. वैज्ञानिक भी इसे सनग्लासेस पहनकर देखने की राय देते हैं. हालांकि कई वेबसाइटों पर आप इस सूर्यग्रहण को अपने स्मार्टगैजट पर भी देख सकेंगे. श्रीलंका के एक एस्ट्रोनॉमी चैनल Tharulowa Digital पर इसे देखने की सुविधा होगी. इसके अलावा स्पेस फोकस वेबसाइट Slooh.com के जरिए भी आप इस ग्रहण को ऑनलाइन देख सकेंगे.

कैसे लगता है सूर्य ग्रहण? (What is Solar Eclipse)

विज्ञान के मुताबिक, ग्रहण पूरी तरह खगोलीय घटना है. जब सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा आ जाता है तो सूर्य की चमकती सतह चंद्रमा के कारण दिखाई नहीं पड़ती है. चंद्रमा की वजह से जब सूर्य ढकने लगता है तो इस स्थिति को सूर्यग्रहण कहते हैं. जब सूर्य का एक भाग छिप जाता है तो उसे आंशिक सूर्यग्रहण कहते हैं. जब सूर्य कुछ देर के लिए पूरी तरह से चंद्रमा के पीछे छिप जाता है तो उसे पूर्ण सूर्यग्रहण कहते हैं. पूर्ण सूर्य ग्रहण हमेशा अमावस्या को ही होता है.

भारत में कैसा दिखेगा सूर्य ग्रहण? (how surya grahan visibility in india)

भारत के अलग-अलग हिस्सों में सूर्य ग्रहण की तस्वीरें अलग-अलग होंगी. बेंगलुरु में लगभग 89.4% सूर्य ढका हुआ दिखाई देगा. जबकि चेन्नई में 84.6% सूर्य का हिस्सा ढका हुआ होगा. अमहदाबाद में सूर्य का करीब 66% हिस्सा छिपा रहेगा. जबकि दिल्ली में इसका सिर्फ 55.5% हिस्सा ही नजर आएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay