एडवांस्ड सर्च

मकर संक्रांति पर सर्वार्थ सिद्धि योग, ऐसे दौड़ेगी आपकी सफलता की रेल

(Makar Sankranti 2019 Snan Muhurta) मकर संक्रांति पर सर्वार्थ सिद्धि योग में कैसे दौड़ेगी आपकी सफलता की रेल. जानिए, मकर संक्रांति पर अपनी राशि पर प्रभाव और साथ ही सफलता के उपाय भी.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: पी.बी.]नई दिल्ली, 14 January 2019
मकर संक्रांति पर सर्वार्थ सिद्धि योग, ऐसे दौड़ेगी आपकी सफलता की रेल मकर संक्रांति 2019

(Makar Sankranti 2019 Snan Muhurta) मकर संक्रांति पर सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है जो आपकी नौकरी और बिजनेस में सफलता लाकर आपके सफलता की रेल को दौड़ाएगा. इस बार की मकर संक्रांति खास है क्योंकि इस मकर संक्रांति पर सदियों बाद चार अति शुभ योग बन रहे हैं- सर्वार्थ सिद्धि, अमृत सिद्दी, रवि योग और सध्या योग. इतना ही नहीं, ये दिन है बहुत खास है जो बनाएगा आपके जीवन को खुशहाल....     

शब्द संक्रांति सूर्य के संक्रमण याने राशि परिवर्तन से बना है. इसी दिन से धनुमास याने मल मास खतम होगा और दक्षिणायन समाप्त होकर उत्तरायण शुरू होगा. सूर्य सोमवार 14.01.19 को रात 20:06 पर धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेंगे.

शास्त्रों में दक्षिणायण को नकारात्मक याने देव रात्रि व उत्तरायण को सकारात्मक याने देव दिवस मानते है.

संक्रांति पल रात के समय अतः मंगलवार 15.01.19 को मकर संक्रांति मनाएंगे.

बवकरण में होगा सूर्य का मकर में प्रवेश. अतः शेर पर सवार होकर आएगी मकर संक्रांति.

बवकरण के कारण क्रूरता में होगी वृद्धि, सेना में वीरता का भाव जागेगा, लोगों में देश भक्ति बढ़ेगी.

मंगलवार 15.01.19 को सूर्योदय के समय बालवकरण इस लिए चीते पर चालयमान होगी मकर संक्रांति.

बहुत फुर्ती से होगा विकास - सरकार देगी लोगों को महंगाई से बड़ी राहत.

महंगाई पर लगेगा अंकुश. व्यापार में उत्तम लाभ होगा. किराना वस्तुओं के दाम घटेंगे.

सूर्योदय 07:19 से दोपहर 13:57 तक बन रहा है विशेष काल.

मंगलवार और अश्विनी नक्षत्र के मेल दिन 13:57 तक बन रहा है सर्वार्थ सिद्धि और अमृत सिद्धि योग.

मंगलवार और भारिणी नक्षत्र के मेल - दिन 13:57 से अगले दिन सुर्य्योदय तक बन रहा है रवि योग.

पूरे दिन बनेगा साध्य योग माता सरस्वती रहेंगी मेहरबान हैं - एजुकेशन, दीक्षा, मेडिटेशन के काम रहेंगे शुभ.

1 घं॰ 43 मि॰ का महापुण्यकाल मुहूर्त - सुबह 07:19 से सुबह 09:03 - अभ्यंग स्नान व विशेष दान के लिए बेस्ट.  

5 घं॰ 11 मि॰ का पुण्यकाल मुहूर्त सुबह 07:19 से मध्यान 12:30 तक - तीर्थ स्नान, दान और उपाय के लिए गुड.

अगले दिन बुधवार 16.01.19 सुर्योदय पर तैतिलकरण - गधे पर सवार होकर जाएगी मकर संक्रांति - प्रॉफ़ेशन में मेहनत से होगा बड़ा लाभ.

इस मकर संक्रांति का नाम राजसी है व यह जीवों हेतु कर्मफलदायी रहेगी. संक्रांति पीले वस्त्र पहने धनुष व ध्वजा धारण किए है.

मकर संक्रान्ति के दिन ही गंगा भगीरथ के पीछे-पीछे चलकर कपिल मुनि के आश्रम से होती हुई सागर में जाकर मिली थीं.

मकर संक्रांति पर दिया गए दान से सहस्त्र गुणा फल देता है. इस दिन सूर्य के विशेष पूजन उपाय व दान से प्रॉफेश्नल सक्सेस मिलती है.

कैसे करें मकर संक्रांति का पूजन:

* सूर्यदेव पर लोहबान दे धूप करें.

* सूर्यदेव के निमित तिल के तेल का दीपक जलाएं.

* सूर्यदेव पर उड़द की खिचड़ी और तिल के लड्डू का भोग लगाकर गरीबों में दान करें.

* तांबे के लोटे में पानी में काले तिल और गुड मिलाकर सूर्यदेव को अर्ध्य दें.

* हरिवंश पुराण का पाठ करें.

* ॐ सूर्याय नमः मंत्र का जाप करें

मकर संक्रांति पर 12 राशियों पर ये होगा असर और उसके साथ उपाय

मेष के लिए शुभ - सूर्यदेव पर रेवड़ियाँ चढ़ाकर गरीब मजदूरों को भेंट करें.

वृष के लिए संतोषजनक - धर्मस्थल में उनी कंबल दान करें.

मिथुन के लिए धनकारी - सूर्यदेव पर सिक्के चढ़ाकर गरीबों में बांटें.

कर्क के लिए असंतोषकारी - तिजोरी पर रोली से "ह्रीं" लिखें.

सिंह के लिए प्रमोशन - मस्तक पर लाल चंदन से तिलक करें.

कन्या के लिए सफलता - पक्षियों के लिए तिल व गेहूं रखें.

तुला के लिए यशकारी - पर्स में तांबे का सिक्का रखें.

वृश्चिक के लिए भयकारी - ह्रीं पितृमूर्तये नमः मंत्र का जाप करें

धनु के लिए सम्मानकारी - किसी मंदिर से कलाई पर मौली बंधवएं

मकर के लिए कार्य सिद्धि - सूर्यदेव पर चड़ी 10 रेवड़ियाँ गरीब मज़दूर को बांटें.

कुंभ के लिए हानिकारक - लाल आसान पर बैठकर सूर्य गायत्री का जाप करें.

मीन के लिए लाभकारक - लाल गाय को हरी घास खिलाएं.

महाभाग्य का महाउपाय-

1 रु के सिक्के पर रोली लगाकर सूर्यदेव को अर्पित करें और उसके बाद सिक्का पर्स में रख लें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay