एडवांस्ड सर्च

गुरु को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय

कुंडली में गुरु ग्रह से संबंधित कोई दोष हो तो व्यक्ति को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. इसलिए कुंडली के इस दोष को खत्म करने के लिए शास्त्रों में कई तरह की पूजा विधि के बारे में बताया गया है.

Advertisement
aajtak.in
वन्‍दना यादव नई दिल्ली, 11 May 2017
गुरु को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय पीली वस्तुओं का दान गुरु करे प्रसन्न करेगा

ग्रहों में गुरु ग्रह को सबसे बड़ा और प्रभावशाली माना जाता है. अगर कुंडली में गुरु ग्रह (बृहस्पति) उच्च भाव में और मजबूत होता तो इंसान बहुत प्रगति करता है. उसे हर क्षेत्र में सफलता और तरक्की मिलती है.
बृहस्पति देवताओं के गुरु भी हैं. गुरु वैवाहिक जीवन व भाग्य का कारक ग्रह है. गुरु स्वास्थ्य समस्याओं को बढ़ाते भी हैं और उनका निवारण भी करते हैं.

गुरु ग्रह को मजबूत बनाने के लिए या फिर इस ग्रह के दोष कम करने के लिए कुछ आसान उपाय यहां बताए जा रहे हैं:

1. गुरु ग्रह के दोष कम करने के लिए गुरुवार का व्रत रखें, जिसमें पीले वस्त्र पहनें व बिना नमक का भोजन करें. भोजन में पीले रंग की चीजें जैसे बेसन के लड्डू, आम आदि शामिल करें.
2. गुरु बृहस्पति की प्रतिमा या फोटो को पीले वस्त्र पर विराजित करें. इसके बाद पंचोपचार से पूजा करें. पूजन में केसरिया चंदन, पीले चावल, पीले फूल व भोग में पीले पकवान या फल अर्पित करें और सच्चे मन से प्रभु की आरती करें.
3. गुरु मंत्र का जप करें. मंत्र- 'ॐ बृं बृहस्पते नम:'. मंत्र जप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए.
4. गुरु से जुड़ी पीली वस्तुओं का दान करें. पीली वस्तु जैसे सोना, हल्दी, चने की दाल, आम (फल), केला आदि.
5.शिवजी को बेसन के लड्डू का भोग लगाएं.

इन उपायों से धन, संपत्ति, विवाह और भाग्य संबंधी बाधाएं दूर हो जाती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay