एडवांस्ड सर्च

बुद्ध पूर्णिमा 2020: बौद्ध धर्म के इस चमत्कारी मंत्र से दूर होते हैं संकट

बौद्ध धर्म के अनुयायी एक चमत्कारी मंत्र में बड़ा विश्वास रखते हैं. उनका मानना है कि इस मंत्र का जाप करने से संकटों का भार खुद-ब-खुद कम होने लगता है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 05 May 2020
बुद्ध पूर्णिमा 2020: बौद्ध धर्म के इस चमत्कारी मंत्र से दूर होते हैं संकट बुद्ध पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु ने अपना 9वां अवतार भगवान बुद्ध के रूप में लिया था.

हिंदू धर्म में बुद्ध पूर्णिमा का विशेष महत्‍व बताया गया है. इस साल बुद्ध पूर्णिमा 7 मई को मनाई जाएगी. हिंदू कैलेंडर के अनुसार वैशाख महीने की पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है. माना जाता है कि बुद्ध पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु ने अपना 9वां अवतार भगवान बुद्ध के रूप में लिया था.

बौद्ध धर्म के अनुयायी एक चमत्कारी मंत्र में बड़ा विश्वास रखते हैं. उनका मानना है कि इस मंत्र का जाप करने से संकटों का भार खुद-ब-खुद कम होने लगता है. यह एक निम्न षडाक्षरीय मंत्र है. इस मंत्र का उल्लेख अवलोकितेश्वरा में भी किया गया है.

क्या है बौद्ध धर्म का चमत्कारी मंत्र?

बौद्ध धर्म के लोगो मानते हैं कि 'ॐ मणि पदमे हूम्‌' मंत्र का जाप करने से इंसान की मुश्किलें कम हो सकती हैं. इस मंत्र का जाप बौद्ध धर्म की महायान शाखा में प्रमुख रूप से किया जाता है.

प्रार्थना चक्र, स्तूपों की दीवार, धार्मिक स्थलों पर मौजूद पत्थरों, मणि आदि पर इस मंत्र को देखा जा सकता है. जिस प्रार्थना चक्र पर यह मंत्र छपा होता है उसे एक बार घुमाने पर यह समझा जाता है कि इस मंत्र का जाप 10 लाख बार किया गय है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay