एडवांस्ड सर्च

जानिए- क्यों मनाई जाती है रंगपंचमी, ये है महत्व

Rangpanchami 2019: आज रंगपंचमी है. रंगपंचमी होली के 5 दिन बाद मनाई जाती है. ये देवी देवताओं को समर्पित होती है.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: नेहा]नई दिल्ली, 25 March 2019
जानिए- क्यों मनाई जाती है रंगपंचमी, ये है महत्व रंगपंचमी 2019

Rangpanchami 2019: चैत्रमास की कृष्णपक्ष की पंचमी को खेली जाने वाली रंगपंचमी देवी देवताओं को समर्पित होती है. होली के पांच दिन बाद श्री रंगपंचमी मनाई जाती है. यह सात्विक पूजा आराधना का दिन होता है. श्री रंगपंचमी को धनदायक माना जाता है. ये पर्व महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में खासतौर पर मनाया जाता है. रंगपंचमी में होली की तरह रंग खेले जाते हैं. इसमें राधा कृष्ण जी को भी अबीर गुलाल लगाया जाता है. इस बार चैत्र कृष्ण श्री रंग पंचमी 25 मार्च 2019 सोमवार के दिन है.

मान्यता है कि रंगपंचमी पर पवित्र मन से पूजा पाठ करने से देवी देवता स्वयं अपने भक्तों को आशीर्वाद देने आते हैं. कुंडली के बड़े से बड़े दोष को इस दिन पूजा पाठ से काफी हद तक कम किया जा सकता हैं.  

रंगपंचमी के दिन जल में गंगा जल डालकर मुंह-हाथ धोएं-

- मां लक्ष्मी को गुलाब के फूल चढ़ाएं.

- रुई की दो बाती वाले घी का दीपक जलाएं.

- गुलाब की अगरबत्ती जलाएं.  

- सफ़ेद मिठाई और सेब चढ़ाएं.  

सरकारी नौकरी पाने के लिए रंगपंचमी पर ये दिव्य उपाय करें-

- रंगपंचमी के दिन सुबह के समय जल्दी उठकर स्नान करके गुलाबी रंग के कपड़े पहनें.

- शंख में जल भरकर उसमें दो चुटकी रोली और हल्दी डालें.

- ॐ घृणि सूर्याय नमः मंत्र का 108 बार जाप करें.

- इसके बाद कुशा के आसन पर खड़े होकर भगवान सूर्य नारायण को अर्घ्य दें.  

- भगवान सूर्य नारायण की तीन प्रदक्षिणा करें और गायत्री मंत्र का 27 बार पाठ करें.

पारिवारिक कलह क्लेश को दूर करने के लिए रंगपंचमी पर ये उपाय करें-

- रंगपंचमी के दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठें और साफ वस्त्र पहनें.

- एक स्टील के लोटे में जल गुड़ और गंगाजल मिलाएं.

- ॐ श्री पितृदेवताय नमः मंत्र का 108 बार जाप करें और यह जल पीपल के वृक्ष की जड़ में अर्पण कर दें.

- थोड़ा सा जल बचाकर घर ले आए और अपने घर में छिड़काव करें.

- ऐसा करने से पारिवारिक कलह क्लेश बहुत जल्दी खत्म होगी.

धन के लाभ के लिए रंगपंचमी पर ये उपाय करें-

-  रंगपंचमी के दिन कमल के फूल पर बैठें. लक्ष्मी नारायण के चित्र को घर के उत्तर दिशा में स्थापित करें और लोटे में जल भरकर रखें.  

- गाय के घी का दीपक जलाकर लाल गुलाब के फूल लक्ष्मी नारायण जी को अर्पण करें.

- अब एक आसन पर बैठकर ॐ श्रीं श्रीये नमः मंत्र का तीन माला जाप करें.

- लक्ष्मी नारायण जी को गुड़ और मिश्री का भोग लगाएं.

- जाप के बाद पूजा में रखा हुआ जल सारे घर में छिड़क दें.

- आपके घर में धन की बरकत कुछ समय बाद जरूर दिखाई देगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay