एडवांस्ड सर्च

Advertisement

फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु

ज्योतिषाचार्य अरुणेश कुमार शर्मा
08 November 2019
फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु
1/8
भारत की उत्तरी सीमा पर तनाव बढ़ सकता है. ज्योतिष की मानें तो ऐसी आशंका शनि-गुरु के योग से प्रबल नजर आ रही है. ज्योतिषाचार्य अरुणेश कुमार शर्मा के अनुसार, अग्नि तत्व राशि धनु में गुरु-शनि का योग ऐसी आशंका को बल दे रहा है. 5 नवंबर 2019 की भोर में धनु में देवगुरु बृहस्पति ने स्वराशि धनु में प्रवेश लिया है. शनि और केतु यहां पहले से हैं. ये युति तनाव की आशंकाओं को बढ़ा रही है. 1962 में इंडो-चाइना और 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान भी इसी तरह की ग्रह युति बनी थी.
फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु
2/8
26 मई 1999 को मेष राशि में गुरु-शनि की युति बनी थी. इसके बाद ही जून-जुलाई में कारगिल युद्ध छिड़ा था जिसमें भारत की विजय हुई थी. इस युद्ध में छिपकर हमला कर रहे पाकिस्तानी सैनिकों को पहाड़ों से पीछे हटना पड़ा था.

फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु
3/8
1962 में ऐसी ही युति से भारत और चीन के बीच भीषण युद्ध हुआ था. इस युति में केतु भी साथ था. ये लड़ाई भी घने बर्फीले पहाड़ों पर हुई थी.

फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु
4/8
शनि-गुरु सौरमंडल के प्रमुख ग्रहों में हैं. पृथ्वी पर इनकी चाल का गहरा प्रभाव होता है. शनि हवा एवं शीतलता और गुरु जल और बल का प्रतीक है. इन दोनों का योग समुद्री क्षेत्र से भीषण चक्रवातों को बना रहा है.

फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु
5/8
इसी युति के प्रभाव से तीन जलीय बवंडर महा, क्यार और बुलबुल अचानक बने हैं. सामान्यतः इतने कम समय में इतने बलशाली तूफान बनते कम देखे गए हैं.

फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु
6/8
1999 में भी शनि-गुरु के संयुक्त गुरुत्वीय प्रभाव से दुनिया में आधा दर्जन के करीब बड़े भूकंप आए थे. इनमें अगस्त 1999 में आए तुर्की के भूकंप में 17000 हजार से अधिक लोग मारे गए. इसके बाद सितंबर में ताइवान में ढाई हजार लोग मारे गए. भारत में चमोली भूचाल आया. इसी योग के प्रभाव से 2000-21 में तीन और बड़े भूकंप आए.
फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु
7/8
5 नवंबर 2019 से 25 जनवरी 2020 तक शनि-गुरु की युति रहेगी. इस दौरान भारत के उत्तरी हिस्से सहित दुनिया के विभिन्न भूभागों में बड़े भूचाल और समुद्रीय ज्वार की प्रबल आशंका है. शनि-गुरु की इसी युति के बीच 26 दिसंबर 2019 को कंकणाकृति सूर्यग्रहण भी बन रहा है. जो बड़े प्राकृतिक और राजनीतिक घटनाक्रमों को बढ़ाएगा.
फिर बनी करगिल और भारत-चीन युद्ध जैसी ग्रहदशा, सीमा पर तनाव बढ़ाएंगे शनि-गुरु
8/8
सूर्य ग्रहण के दौरान धनु में राशि में छह ग्रहों का योग होगा. सूर्य, चंद्र, गुरु, शनि, बुध और केतु के ये सामूहिक योग सर्दी की प्रबलता को बढ़ाने के साथ ही पृथ्वी पर प्राकृतिक रूप से जनजीवन को गहरा प्रभावित करेंगे.

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay