एडवांस्ड सर्च

Advertisement

श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र

aajtak.in
20 August 2019
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
1/10
भगवान श्रीकृष्ण का जन्महोत्वस यानी जन्माष्टमी का त्योहार आने वाला है. चारों ओर भगवान कृष्ण की चर्चा हो रही हैं. पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान कृष्ण की 16108 पत्नियों और उनके डेढ़ लाख से भी ज्यादा पुत्र थे. इस बात में कितनी सच्चाई है आइए जानते हैं.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
2/10
श्रीकृष्ण की रासलीला के बारे में तो भक्तों के पास ढेर जानकारियां हैं. जब गोकुल में उन्होंने अपनी सभी गोपिकाओं के संग एक साथ अनेक रूप धारण कर महारास रचाया था. पुराणों के अनुसार श्री कृष्ण की 16 हजार 108 रानियां थीं.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
3/10
महाभारत के अनुसार श्रीकृष्ण ने रुक्मिणी का हरण कर उनके साथ विवाह रचाया था. विदर्भ के राजा भीष्मक की पुत्री रुक्मणि भगवान कृष्ण से प्रेम करती थी और उनसे विवाह करना चाहती थीं, लेकिन रुक्मणि के अलावा भी कृष्ण की 16107 पत्नियां थीं.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
4/10
कैसे थी 16108 पत्नियां
पुराणों में उल्लेख है कि एक दानव भूमासुर ने अमर होने के लिए 16 हजार कन्याओं की बलि देने का निश्चय कर लिया था. श्री कृष्ण ने इन कन्याओं को कारावास से मुक्त कराया और उन्हें वापस घर भेज दिया.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
5/10
इस कहानी का अंत यहीं नहीं हुआ. जब ये कन्याएं घर पहुंचीं तो परिवारवालों ने चरित्र के नाम पर इन्हें अपनाने से इनकार कर दिया. तब श्री कृष्ण ने 16 हजार रूपों में प्रकट होकर एक साथ उनसे विवाह रचाया था. इस विवाह के अलावा श्री कृष्ण ने कुछ प्रेम विवाह भी किए.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
6/10
कालिंदी से विवाह
श्रीकृष्ण जब पांडवों से मिलने के लिए इंद्रप्रस्थ पहुंचे तो युधिष्ठिर, भीम, अर्जुन, नकुल, सहदेव, द्रौपदी और कुंती ने उनका आतिथ्‍य-पूजन किया. इस दौरान एक दिन अर्जुन को साथ लेकर भगवान कृष्ण वन विहार के लिए निकले.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
7/10
जिस वन में वे विहार कर रहे थे वहां पर सूर्य पुत्री कालिन्दी, श्रीकृष्ण को पति रूप में पाने की कामना से तप कर रही थी. कालिन्दी की मनोकामना पूर्ण करने के लिए श्रीकृष्ण ने उसके साथ विवाह कर लिया.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
8/10
हालांकि ऐसी कथाएं भी सामने आती रही हैं जिनमें यह कहा गया है कि समाज से बहिष्कृत होने के डर से कन्याओं ने कृष्ण को अपना पति मान लिया था, लेकिन कृष्ण ने कभी उन्हें पत्नी के रूप में स्वीकार नहीं किया.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
9/10
कृष्ण की 8 पटरानियां
कृष्ण की पत्नियों को पटरानियां कहा जाता है. ऐसा कहा जाता है कि भगवान श्रीकृष्ण की सिर्फ 8 पत्नियां थी जिनके नाम रुक्मणि, जाम्बवन्ती, सत्यभामा, कालिन्दी, मित्रबिन्दा, सत्या, भद्रा और लक्ष्मणा था.
श्रीकृष्ण की 16108 पत्नियों का क्या है सच? 1 लाख 61 हजार थे पुत्र
10/10
कृष्ण के 1 लाख 61 हजार पुत्र
पुराणों के अनुसार  कृष्ण की 1 लाख 61 हजार 80 पुत्र इतना ही नहीं, उनकी सभी स्त्रियों के 10-10 पुत्र और एक-एक पुत्री भी उत्पन्न हुई. इस प्रकार उनके 1 लाख 61 हजार 80 पुत्र और 16 हजार 108 कन्याएं थीं. इस प्रकार श्री कृष्ण भारत के सबसे बड़े परिवार के मुखिया बने, जिन्होंने अपने गृहस्थ जीवन के हर धर्म का समुचित पालन किया.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay