एडवांस्ड सर्च

मौनी अमावस्या पर करें दान, मिलेगी पापों से मुक्त‍ि और होगी हर मनोकामना पूरी

माघ के पवित्र महीने की अमावस्या को मौनी अमावस्या कहते हैं. मान्यता है कि इस दिन इंसान के किए हर दान-पुण्य, पूजन और स्नान का शुभ फल बहुत जल्दी मिलता है.

Advertisement
aajtak.in
दीपल सिंह नई दिल्ली, 08 February 2016
मौनी अमावस्या पर करें दान, मिलेगी पापों से मुक्त‍ि और होगी हर मनोकामना पूरी मौनी अमावस्या पर करें पवित्र स्नान

ज्योतिष के अनुसार मौनी अमावस्या पर गरीबों को खाना खिलाना बहुत फलदायी होता है. ऐसा करने से आपसे जाने-अनजाने जो पाप हुए हैं, उनका प्रायश्चित होता है. ऐसे और भी कई शुभ फल देने वाली है मौनी अमावस्या.

मौनी अमावस्या का महत्व -
- इस दिन मौन रहकर स्नान और दान करने का विशेष महत्व है.
- पूरे दिन मौन रहें तो अच्छी सेहत और ज्ञान मिलता है.
- इस अमावस्या पर स्नान से मानसिक समस्या, डर या वहम से निजात मिलती है.
- यह व्रत पूरे नियम से करें तो कुंडली के सभी ग्रह दोष दूर होते हैं.
- इस साल की मौनी अमावस्या के साथ कुम्भ का अद्भुत संयोग बहुत फलदायी है.

इस मौनी अमावस्या पर ग्रहों का संयोग -
इस मौनी अमावस्यापर ग्रहों का अद्भुत संयोग इसे और भी खास बना रहा है. यहां जानें इस अमावास्या पर ग्रहों के मिलन का क्या बन रहा है खास संयोग :
- अमृत का ग्रह चन्द्रमा अपने ही नक्षत्र में होगा.
- देव गुरु और दैत्य गुरु दोनों के बीच सुन्दर संबंध बने रहेंगे.
- राहु और बृहस्पति एक साथ होंगे, जिससे सभी धार्मिक कार्य लाभकारी होंगे.
- शनि और सूर्य के संबंध की वजह से यह पर्व और भी लाभकारी होगा.

 

मौनी अमावस्या पर स्नान और पूजन के नियम -
माघ महीने में पवित्र नदियों में स्नान शुभ माना जाता है. लेकिन मौनी अमावस्या पर इस स्नान का पुण्य कई गुना बढ़ जाता है. इस अमावस्या पर मौन रहकर स्नान और दान करने से इंसान के कई जन्मों के पाप मिट जाते हैं.
- सुबह या शाम को स्नान से पहले संकल्प लें.
- पहले जल को सिर पर लगाकर प्रणाम करें फिर स्नान करें.
- साफ कपड़े पहनें और जल में काले तिल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें.
- फिर मंत्र जाप करें और दान दें.
- चाहें तो इस दिन जल और फल ग्रहण करके उपवास रख सकते हैं.
- मौनी अमावस्या के दिन क्रोध न करें.
- किसी को अपशब्द न बोलें.

मौनी अमावस्या पर राहु-केतु की शांति के उपाय -
अमावस्या का दिन पितरों की तृप्ति के लिए विशेष माना गया है. इस दिन मौन रहकर अपने इष्टदेव के मंत्र का जाप करने से मंत्र जल्दी सिद्ध होता है और पाप ग्रह भी शांत होते हैं.
- शिव जी के मंदिर जाकर उन्हें एक रुद्राक्ष की माला चढ़ाएं.
- शिव जी के सामने धूप जलाकर रुद्राक्ष की माला से शिव के मंत्र का 108 बार जाप करें.
- इस मंत्र का जाप करें - 'रूपं देहि, यशो देहि, भोगं देहि च शंकर; भुक्ति, मुक्ति फलं देहि, गृहीत्वार्घ्यम नमोस्तुते।'.
- मंत्र जाप के बाद रुद्राक्ष की माला अपने पास रखें या गले में पहनें.

मौनी अमावस्या पर दान के महत्व -
मौनी अमावस्या के दिन अलग-अलग चीजों का दान करके आप अपनी हर मनोकामना पूरी कर सकते हैं.
- मुक्ति और मोक्ष के लिए गौ दान करें.
- आर्थिक समृद्धि के लिए भूमि दान करें.
- ग्रह- नक्षत्र की बाधा से मुक्ति के लिए काले तिलों का दान करें.
- रोग और कर्ज से मुक्ति के लिए सोने का दान करें.
- पारिवारिक जीवन की खुशहाली के लिए पात्र सहित घी का दान करें.
- किसी भी प्रकार की बाधा से मुक्ति के लिए नमक का दान करें.
- वंश वृद्धि और संतान की उन्नति के लिए चांदी का दान करें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay