एडवांस्ड सर्च

Advertisement

एम्स बना डेंगू फैलाने वाले मच्छरों का गढ़

डेंगू के डंक ने दिल्ली का बुरा हाल कर दिया है. राजधानी में डेंगू के 59 नए मामले पाए गए हैं, जबकि एक दिन पहले यह आंकड़ा 67 मरीजों का था.
एम्स बना डेंगू फैलाने वाले मच्छरों का गढ़
आज तक ब्‍यूरोनई दिल्‍ली, 25 October 2012

डेंगू के डंक ने दिल्ली का बुरा हाल कर दिया है. राजधानी में डेंगू के 59 नए मामले पाए गए हैं, जबकि एक दिन पहले यह आंकड़ा 67 मरीजों का था.

बीमारों की तादाद अब 800 तक पहुंच चुकी है. प्रशासन डेंगू से बचाव के लिए उपाय करने के दावे कर रहा है, लेकिन बीमारी पर काबू होता नहीं दिख रहा.

इस बीच, डेंगू से बचाव के लिए फॉगिंग के काम में लगाए गए एम सी डी के कर्मचारियों ने आज से हड़ताल पर जाने का एलान कर दिया है. उनका आरोप है कि हाई कोर्ट से उनके पक्ष में फैसला आने के बावजूद एम सी डी ने उनकी नौकरी नियमित करने की मांग नहीं मानी है.

ऐसे में जब दिल्ली पर डेंगू का कहर बरपा हुआ है, देश का अग्रणी मेडिकल इंस्टीट्यूट एम्स ही इस बीमारी को फैलाने वाले मच्छरों का गढ़ बन गया है.

एनडीएमसी ने एम्स प्रशासन को डेंगू का लार्वा पनपने के मामले में नोटिस भी थमाया है. एनडीएमसी को यहां 11 जगहों पर डेंगू मच्छर का लार्वा मिला है. हालत यह है कि लगातार चार साल से एम्स में डेंगू के मच्छर पनपते हुए पाये जा रहे हैं.

हर बार चालान होता है लेकिन इसे रोकने के लिए ठोस कदम नहीं उठाये जाते. एम्स के डाक्टरों का कहना है कि कैम्पस में कई लोग डेंगू से बीमार हो गए हैं. एक कर्मचारी की मौत की भी खबर है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay