एडवांस्ड सर्च

केरल सीरियल मर्डर: 2 मासूम बच्चियों को भी मारना चाहती थी कातिल 'बहू'

केरल पुलिस की मानें तो खाने में पेटोशियम साइनाइड मिला कर छह लोगों को धीमी मौत देने वाली जॉली ने दो और कत्ल करने की तैयारी कर ली थी. इन दोनों कत्ल के लिए उसने साइनाइड की खुराक देनी भी शुरू कर दी थी.

Advertisement
aajtak.in
शम्स ताहिर खान / परवेज़ सागर नई दिल्ली, 10 October 2019
केरल सीरियल मर्डर: 2 मासूम बच्चियों को भी मारना चाहती थी कातिल 'बहू' इस मामले ने पुलिस को भी हैरान कर दिया है

  • केरल सीरियल मर्डर केस में नया खुलासा
  • बहू ने खानदान के 6 लोगों को दिया साइनाइड
  • 2 और बच्चियों को साइनाइड देने वाली थी कातिल बहू

14 साल में छह कत्ल करने वाली केरल की लेडी साइनाइड किलर की कहानी हम लगातार आप तक पहुंचा रहे हैं. इस दिल दहला देने वाले मामले में जैसे-जैसे पुलिस की तफ्तीश आगे बढ़ रही है, कहानी का दायरा भी बढ़ता जा रहा है. केरल पुलिस की मानें तो खाने में पेटोशियम साइनाइड मिला कर छह लोगों को धीमी मौत देने वाली जॉली ने दो और कत्ल करने की तैयारी कर ली थी. इन दोनों कत्ल के लिए उसने साइनाइड की खुराक देनी भी शुरू कर दी थी. छह कत्ल करने के बाद अगले दो कत्ल दो मासूम बच्चियों के होने थे.

2 मासूम बच्चियों पर थी नजर

केरल की कोझिकोड़ पुलिस की पूछताछ जैसे जैसे आगे बढ़ती जा रही है, वैसे वैसे केरल सीरियल मर्डर केस में नया खुलासा होता जा रहा है. ससुराल के 6 लोगों को पोटेशियम साइनाइड खिलाकर मौत की नींद सुलाने वाली इस जॉली का अगला निशाना परिवार की 2 और मासूम बच्चियां थीं. जिनकी परिवार के मुखिया टॉम थॉमस से रिश्तेदारी थी. और वो यहां इसी घर में रहती हैं. जॉली ने उन बच्चियों को खाने में मिलाकर पोटेशियम साइनाइड की बेहद हल्की डोज़ दे भी दी थी.

खाने में मिलाकर दिया था जहर

पुलिस के मुताबिक इन दोनों बच्चियों का भी वही हाल होता. जैसा अनम्मा थॉमस, टॉम थॉमस, रॉय थॉमस, मैथ्यू मंजादियिल, अल्फाइन और फिली थॉमस का हुआ था. मगर वक्त रहते उन बच्चियों को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी जान बचाई जा सकी. परिवारवालों ने भी बताया कि इन बच्चियों को खाना खाते ही बेचैनी महसूस हुई और मुंह से झाग तक निकल आया था. जॉली उस वक्त भी वहां मौजूद थी. क्योंकि ये खाना भी उसी ने तैयार किया था.

हत्या की कोशिश का मामला दर्ज

पुलिस फिलहाल ये जांच कर रही है कि अस्पताल में भर्ती उन बच्चियों की तबीयत किन वजहों से खराब हुई. रिश्तेदारों से भी बयान लिया जा रहा है, ताकि इस मामले में भी जॉली पर हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया जा सके. इनमें से एक बच्ची जॉली के पहले पति रॉय थॉमस की सगी बहन की बेटी है. जबकि दूसरी बच्ची इस परिवार के ही एक रिश्तेदार की बेटी है.

पोटेशियम साइनाइड देने की कोशिश

मगर सवाल ये था कि जॉली अल्फाइन की तरह आखिर उन बच्चियों को अपना निशाना क्यों बना रही थी. क्यों उसे बच्चियों से नफरत थी. दरअसल जॉली को लगता था कि बच्चियां बड़ी होकर मुसीबत बन जाती हैं. पुलिस सूत्रों के मुताबिक जिन बच्चियों को जॉली ने मारने की कोशिश की उनकी तादाद 2 नहीं बल्कि 5 है. मगर, फिलहाल परिवार की ही 2 बच्चियों की हत्या की कोशिश के सबूत पुलिस को मिल रहे हैं. ऐसा माना जा रहा है कि जॉली ने अपने दोस्तों की बच्चियों को भी खाने में पोटेशियम साइनाइड देने की कोशिश की है.

14 वर्षों में परिवार के 6 लोगों का मर्डर

केरल के कोझिकोड़ में पुलिस ने जॉली थॉमस नाम की इस महिला को गिरफ्तार किया है. इसपर इल्ज़ाम है कि इसने 14 सालों में अपने परिवार के 6 लोगों को खाने में पोटेशियम साइनाइड देकर मार डाला. जॉली की गिरफ्तारी के बाद 4 अक्टूबर को पुलिस ने कुडाथाई के लॉर्डेस माथा चर्च के क़ब्रिस्तान से खुदाई करके गड़े मुर्दे निकाले. और उन्हें जांच के लिए भेज दिया गया है. जॉली ने ये हत्याएं साल 2002 से लेकर साल 2016 तक की थीं. सभी को खाने में पोटेशियम साइनाइड की हल्की मात्रा देकर मारा गया था ताकि इसे खाने वाले की मौत फौरन ना हो बल्कि धीरे-धीरे हो और उस पर कोई शक ना जाए.

हर एंगल से जांच कर रही है पुलिस

केरल की सीरियल किलिंग के बाद पुलिस इस मामले से जुड़ा कोई भी एंगल छोड़ना नहीं चाहती है. लिहाज़ा कब्र से निकाले गए कंकालों की फॉरेंसिक जांच की जा रही है. केरल के डीजीपी का कहना है कि ज़रूरत पड़ी तो अवशेषों को जांच के लिए विदेश भी भेजा जा सकता है. ताकि मौत की सही वजह का पता लगाया जा सके.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay