एडवांस्ड सर्च

Advertisement

लड़कों से ऑनलाइन दोस्ती करके बनाता था शारीरिक संबंध, फिर करता था कत्ल

इंग्लैंड में पुलिस ने एक गे सीरियल किलर को गिरफ्तार किया है. जिस पर चार लोगों की हत्या करने का आरोप है. यह किलर सोशल नेटवर्किंग एप के जरिए गे लोगों से दोस्ती करता था. और फिर उन्हें किसी जगह बुलाकर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाता था. और हवस की आग शांत होने के बाद उनका कत्ल कर देता था.
लड़कों से ऑनलाइन दोस्ती करके बनाता था शारीरिक संबंध, फिर करता था कत्ल पुलिस ने तफ्तीश के बाद गे किलर को गिरफ्तार कर लिया
aajtak.in [Edited by: परवेज़ सागर]लंदन, 02 August 2016

इंग्लैंड में पुलिस ने एक गे सीरियल किलर को गिरफ्तार किया है. जिस पर चार लोगों की हत्या करने का आरोप है. यह किलर सोशल नेटवर्किंग एप के जरिए गे लोगों से दोस्ती करता था. और फिर उन्हें किसी जगह बुलाकर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाता था. और हवस की आग शांत होने के बाद उनका कत्ल कर देता था. पुलिस के मुताबिक आरोपी इससे पहले भी आठ युवकों को मौत के घाट उतार चुका है.

ऑनलाइन करता था दोस्ती
एक समाचार वेबसाइट के मुताबिक, घटना इंग्लैंड के ओल्ड बैली इलाके की है. इलाके में रहने वाला 41 वर्षीय स्टेफन पोर्ट एक गे है. उसके ऊपर पुलिस ने चार युवकों की हत्या का केस दर्ज किया है. वह पहले तो ऑनलाइन डेटिंग एप के जरिए गे लोगों से दोस्ती करता था. बाद में वह उन युवकों को घर में बुलाकर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाता था और उसके बाद उन्हें जहरीला पदार्थ खिलाकर मार डालता था.

गे किलर ने ली आठ लोगों की जान
ओल्ड बैली और उसके आस-पास के इलाके में इस तरह की घटनाओं में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही थी. उसके बाद पुलिस ने छानबीन शुरू की. छानबीन के दौरान स्टेफन का नाम सामने आया. पुलिस ने उसे दोषी पाते हुए गिरफ्तार कर लिया. खास बात यह है कि तफ्तीश के बाद पुलिस को पता चला कि आरोपी इससे पहले भी हत्या की कई वारदातों को अंजाम दे चुका है. 2011 से लेकर 2015 तक उसने कुल सात रेप किए और आठ लोगों की हत्या की.

ऐसे खुला किलर का राज
पुलिस ने बताया कि स्टेफन गे होने के साथ साथ एक सीरियल किलर है. इलाके में इससे पहले हो रही घटनाओं के बारे में पुलिस कई दिनों से छानबीन कर रही थी लेकिन उन्हें नहीं मालूम था कि उन सभी हत्याओं के पीछे एक ही व्यक्ति का हाथ है. पुलिस ने स्टेफन के खिलाफ हत्या, रेप और धोखाधड़ी का केस दर्ज करने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया है.

आप भी रहिए सावधान
बतातें चलें कि सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों और ऑनलाइन एप के जरिए शातिर अपराधी लोगों को अपना शिकार बनाने लगे हैं. इस तरह के मामलों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी होती जा रही है. पहले तो लोग इन वेबसाइटों के माध्यम से दोस्ती करते हैं और फिर मिलने के बहाने बुलाकर रेप, लूट या फिर हत्या की वारदात को अंजाम देते हैं. इसलिए इस तरह के एप और साइट का प्रयोग करते हुए सावधान रहिए.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay