एडवांस्ड सर्च

ये है इंद्राणी मुखर्जी के रिश्तों का 'मायाजाल'

शीना बोरा मर्डर केस में हर पल नया मोड़ आ रहा है. इस केस की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व पति संजीव खन्ना और ड्राइवर श्यामवर राय ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है. दोनों ने शीना की लाश ठिकाने लगाने में इंद्राणी की मदद करने की बात मान ली है. लेकिन इंद्राणी खुद को बेकसूर बता रही है. सच से पर्दा उठाने के लिए मुंबई पुलिस सभी आरोपियों का नार्को और लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने जा रही है.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमारनई दिल्ली, 21 September 2015
ये है इंद्राणी मुखर्जी के रिश्तों का 'मायाजाल' रिश्ते की फांस ने इंद्राणी को ऐसा जकड़ा की सब कुछ खत्म होने के कगार पर है.

शीना बोरा मर्डर केस में हर पल नया मोड़ आ रहा है. इस केस की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व पति संजीव खन्ना और ड्राइवर श्यामवर राय ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है. दोनों ने शीना की लाश ठिकाने लगाने में इंद्राणी की मदद करने की बात मान ली है. लेकिन इंद्राणी खुद को बेकसूर बता रही है. सच से पर्दा उठाने के लिए मुंबई पुलिस सभी आरोपियों का नार्को और लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने जा रही है.

रिश्तों के मकड़जाल में उलझी इस मर्डर मिस्ट्री ने देश को झकझोर दिया है. 15 साल की उम्र में घर से भागी एक लड़की एक दिन अरबों की संपत्ति की मालकिन बन जाएगी, ये शायद उसने भी नहीं सोचा होगा. धन के नशे में चूर इस महिला ने रिश्तों की जरा भी परवाह नहीं की. सफलता की सीढियां चढ़ती गई. रिश्ते दरकते गए. आज उसी रिश्ते की फांस ने उसे ऐसा जकड़ा की सब कुछ खत्म होने के कगार पर है.


ये है इंद्राणी के रिश्तों का मायाजाल...

इंद्राणी मुखर्जी
गुवाहाटी में उपेन बोरा और दुर्गा रानी बोरा के घर परी बोरा उर्फ इंद्राणी मुखर्जी का जन्म हुआ था. महज 15 साल की उम्र में परी बोरा अपने बॉयफ्रेंड के साथ शिलॉन्ग भाग गई. कुछ दिन उसके साथ रहने के बाद उसकी मुलाकात स्टील प्लांट के एग्जिक्यूटिव सिद्धार्थ दास से हुई.

सिद्धार्थ दास (पूर्व प्रेमी)
उस समय परी नाबालिग थी. इसलिए उसकी शादी सिद्धार्थ दास से नहीं हो पाई. लेकिन दोनों लिव-इन में रहने लगे. वहां परी उर्फ इंद्राणी ने दो बच्चों को जन्म दिया. 17 साल की उम्र में एक बच्ची और 18 साल की उम्र में एक बेटा पैदा हुआ.

शीना बोरा (बेटी)
परी बोरा उर्फ इंद्राणी ने 17 साल की उम्र में 1987 में शीना बोरा को जन्म दिया. इसी बेटी की हत्या के जुर्म में मुंबई पुलिस उसे गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है. उस पर आरोप है कि उसने शीना की हत्या करके जंगल में शव को दफन करा दिया है.

मिखाइल बोरा (बेटा)
शीना के जन्म के एक साल बाद ही 1988 में 18 साल की उम्र में इंद्राणी ने मिखाइल को जन्म दिया. 1989 में वह सिद्धार्थ से अलग हो गई. इसके बाद 1990 में वह वापस अपने माता-पिता के पास गुवाहाटी आ गई.

संजीव खन्ना
इंद्राणी ने गुवाहाटी में माता-पिता की मदद से बिजनेस करने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो पाई. इसके बाद वह कोलकाता आ गई. वहां उसने संजीव खन्ना से शादी कर ली. एक बेटी को जन्म दिया. इसका नाम विधि रखा.

पीटर मुखर्जी
इसी बीच इंद्राणी को मुंबई में एचआर मैनेजर की जॉब मिल गई. उसके बाद 2001 में उसने खन्ना का घर छोड़ दिया. अपना एचआर फर्म शुरू कर दिया. 2002 में उसकी मुलाकात स्टार इंडिया के तत्कालीन सीईओ प्रतिम उर्फ पीटर मुखर्जी से हुई. पीटर उस वक्त 46 साल के थे. दोनों ने बाद में शादी कर ली.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay