एडवांस्ड सर्च

शीना मर्डर केस: CBI ने सुनवाई में तेजी लाने का किया अनुरोध

शीना बोरा मर्डर केस में सुनवाई में तेजी लाने का अनुरोध करते हुए सीबीआई ने कहा कि इस मामले की सुनवाई पखवाड़े में लगातार कम से कम तीन दिन होनी चाहिए.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: मुकेश कुमार गजेंद्र]मुंबई, 22 March 2018
शीना मर्डर केस: CBI ने सुनवाई में तेजी लाने का किया अनुरोध शीना बोरा मर्डर केस

शीना बोरा मर्डर केस में सुनवाई में तेजी लाने का अनुरोध करते हुए सीबीआई ने कहा कि इस मामले की सुनवाई पखवाड़े में लगातार कम से कम तीन दिन होनी चाहिए. जांच एजेंसी ने कहा कि मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी, उनके पति पीटर मुखर्जी और उनके पूर्व पति संजीव खन्ना के खिलाफ मामले में आरोप पिछले साल जनवरी में तय किए गए थे.

विशेष सरकारी वकील भरत बादामी और कविता पाटिल ने एक अर्जी दायर कर कहा कि इस अवधि के दौरान सिर्फ सरकारी गवाह श्यामवर राय से जिरह पूरी हुई है. इस मामले की सुनवाई में प्रगति और गंभीरता को देखते हुए पखवाड़े में कम से कम लगातार तीन तारीखों को सुनवाई किए जाने और एक त्वरित सुनवाई की जरूरत है.

सीबीआई ने विशेष सीबीआई अदालत के न्यायाधीश जेसी जगदले के समक्ष यह दलील दी. जांच एजेंसी ने अदालत से यह भी कहा कि फोरेंसिक प्रयोगशाला ने सूचना दी कि राय द्वारा इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन का विश्लेषण नहीं किया जा सकता है, क्योंकि प्रयोगशाला में उपलब्ध सॉफ्टवेयर हार्डवेयर औजार फोन के मीडिया के अनुकूल नहीं हैं.

अर्जी में कहा गया कि इसलिए कोई डेटा बरामद नहीं किया जा सका. अदालत ने बचाव पक्ष के वकील की अर्जी पर सीबीआई को राय का मोबाइल फोन पेश करने को कहा. इस बीच बादामी ने मौखिक रूप से अदालत से कहा कि निचली अदालत वीडियो लिंक के जरिए सुनवाई कर सकती है. बहरहाल, अदालत द्वारा मामले पर 23 मार्च को सुनवाई किए जाने की उम्मीद है.

बताते चलें कि इंद्राणी मुखर्जी के पुराने ड्राइवर श्यामवर राय ने अदालत को शीना बोरा मर्डर केस से जुड़ी अहम जानकारियां दी थीं. उन्होंने बताया था कि मुख्य आरोपी इंद्राणी ने शीना की हत्या से पहले उसके शव को ठिकाने लगाने के लिए कई दिन तक किसी सही जगह की तलाश की थी. इंद्राणी अपने बेटे मिखाइल को भी मार डालना चाहती थी.

उन्होंने आगे कहा कि मार्च 2012 में जब इंद्राणी देश से बाहर थीं, तो उनकी सेक्रेटरी काजल शर्मा ने उसकी 'स्काइप' के जरिए उनसे बात करवाई थी. इंद्राणी ने श्यामवर राय से कहा कि वह शीना और मिखाइल को मार डालना चाहती हैं. इंद्राणी ने उसके इस जघन्य अपराध में शामिल होने के एवज में उसे लालच दिया गया था.

उन्होंने दावा किया, 'इंद्राणी ने मुझसे कहा कि वह मेरे बच्चों की देखरेख, उनकी पढ़ाई, परिवार के खर्च संबंधी सभी जिम्मेदारियां संभाल लेंगी. साथ ही मुझे स्थायी नौकरी भी दी जाएगी.' इंद्राणी ने शीना और मिखाइल को मारने का प्लान बनाने के बाद शवों को ठिकाने लगाने के लिए जगह तलाशने की जिम्मेदारी भी उसे दी थी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay