एडवांस्ड सर्च

ये हैं पाकिस्तान की पनाह में पलने वाले खूंखार आतंकी संगठन

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट करके कहा कि पाकिस्तान को अब कोई आर्थिक मदद नहीं मिलेगी, क्योंकि उसने अब तक आतंकवाद के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया है. इसके बाद अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 255 मिलियन डॉलर की सैन्य मदद पर रोक लगा दी.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर नई दिल्ली, 10 January 2019
ये हैं पाकिस्तान की पनाह में पलने वाले खूंखार आतंकी संगठन आतंक के आका पाकिस्तान को करारा झटका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट करके कहा कि पाकिस्तान को अब कोई आर्थिक मदद नहीं मिलेगी, क्योंकि उसने अब तक आतंकवाद के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया है. इसके बाद अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 255 मिलियन डॉलर की सैन्य मदद पर रोक लगा दी. अमेरिका के इस सख्त कदम से डरकर आतंकियों को पनाह देने वाले मुल्क पाकिस्तान ने फौरन मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद पर अप्रत्यक्ष कार्रवाई कर दी.

पाकिस्तान ने हाफिज सईद से जुड़े चैरिटी संगठनों और उनके वित्तीय संसाधनों पर प्रतिबंध लगा दिया है. सिक्योरिटीज़ एंड एक्सचेंज कमीशन ऑफ पाकिस्तान ने हाफ़िज सईद से जुड़े तीन संगठनों जमात-उद-दावा, लश्कर-ए-तैयबा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन पर पाबंदी लगा दी है. खास बात ये है कि ये कार्रवाई उसी दिन की गई है जिस दिन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को जमकर फटकार लगाई है. उसे दी जा रही है मदद रोक दी है.

दुनिया जानती है कि आतंकवाद रोकने के नाम पर अमेरिका से फंड लेने वाला पाकिस्तान आतंकवादियों को पनाह देता है. इसका सबसे बड़ा सबूत उस वक्त सामने आया था, जब अमेरिकी सेना ने पाकिस्तान के ऐबटाबाद में अपने सबसे बड़े दुश्मन ओसाम बिन लादेन को मार गिराया था. साल 2011 में पाकिस्तान का नापाक चेहरा सबके सामने उजागर हो गया था. पाकिस्तान की सरजमी से एक नहीं कई आतंकी संगठन भारत के खिलाफ काम करते हैं.

इन आतंकी संगठनों में सबसे प्रमुख नाम लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन, इंडियन मुजाहिदीन और अल कायदा का नाम प्रमुख है. लश्कर-ए-तैयबा का सरगना हाफिज सईद हमेशा भारत के खिलाफ जहर उगलता रहता है. मुंबई हो या संसद पर हमला, सबके पीछे उसी का शातिर दिमाग काम करता रहा है. बीते महीने जेल से रिहाई के बाद भी हाफिज ने भारत के खिलाफ मोर्चा खोला था और अपनी नजरबंदी के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया था.

अमेरिका जान चुका है कि जिस आंतकवाद से लड़ाई के लिए पाकिस्तान आर्थिक मदद मांगता रहा है, वही आतंक का पनाहगाह भी है. अब आतंकवाद के खिलाफ जंग के नाम पर बरसों से चल रहा उसका खेल खत्म हो चुका है तो पाकिस्तान हाफिज सईद के आतंकी अड्डों पर शिकंजा करने की तैयारी में जुट गया है. लेकिन पाकिस्तान की फितरत सारी दुनिया जानती है कि कहीं हर बार की तरह इस बार भी ये सिर्फ एक्शन के नाम पर दिखावा न कर रहा हो.

पाकिस्तान की पनाह में भारत के दुश्मन

- जैश-ए-मोहम्म्द

- लश्कर-ए-तैयबा

- हिजबुल मुजाहिदीन

- इंडियन मुजाहिदीन

- अल कायदा

- तहरीक-ए-तालिबान

- तहरीक-ए-फुरकान

- अल बद्र

- जमात-उल-मुजाहिदीन

- हरकत-उल-मुजाहिदीन

- हरकत-उल-अंसार

- हरकत उल जिहाद ए इस्लामी

- अल उम्र मुजाहिदीन

- जम्मू कश्मीर इस्लामिक फ्रंट

- स्टूडेंटस इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी)

- दीनदार अंजुमन

- दुख्तरान-ए-मिल्लत

- जुनदुल्लाह

- लश्कर-ए-झांगवी

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay