एडवांस्ड सर्च

Advertisement

उत्तर भारत में पंजाब के गैंगस्टरों का आतंक, ISI से भी कनेक्शन!

पंजाब के गैंगस्टर और अराधियों ने पुलिस के नाक में दम कर रखा है. सुरक्षा एजेंसियां इनकी करतूतों पर पहले ही चिंता जता चुकी हैं. ये जेल में बंद होने के बावजूद भी अपने गुर्गों से अपराध करा रहे हैं.
उत्तर भारत में पंजाब के गैंगस्टरों का आतंक, ISI से भी कनेक्शन! पंजाब के कई गैंगस्टर जेल से अपने गैंग संचालित कर रहे हैं
मनजीत सहगल [Edited by: परवेज़ सागर]चंडीगढ़, 07 August 2018

पिछले साल यानी नवंबर 2017 में कोलकाता का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें एक होटल के पिछवाड़े से पंजाब के कुख्यात गैंगस्टर हरविंदर संधू उर्फ रिन्दा और दिलप्रीत सिंह दाहा उर्फ बाबा कूद रहे थे. उन दोनों गैंगस्टर के खिलाफ पंजाब के अलावा पश्चिम बंगाल और कई राज्यों में आपराधिक मामले दर्ज हैं.

इसके फिर एक दूसरा वीडियो सामने आया, जिसमें महाराष्ट्र का एक स्कूल दिखाई दे रहा है. स्कूल के बाहर गोलियों की आवाजें सुनाई दे रही हैं. स्कूल के खौफजदा बच्चे अपने बस्ते उठाकर बाहर निकल रहे हैं. स्कूल के बाहर जो लोग गोलियां बरसा रहे हैं, वो दिलप्रीत उर्फ बाबा और हरविंदर संधू उर्फ रिन्दा नाम के गैंगस्टर हैं. जो वहां एक शख्स को मौत के घाट उतार कर वहां से फरार हो गए थे.

पंजाब के ये दोनों गैंगस्टर अपने अलग-अलग गैंग चलाते हैं. हरविंदर संधू रिन्दा गैंग और दिलप्रीत दाहा उर्फ बाबा दिलप्रीत गैंग का सरगना है. यह दोनों गैंग पंजाब के ए क्लास गैंग्स में शामिल है. दिलप्रीत को हाल ही गिरफ्तार किया जा चुका है और रिन्दा अब भगोड़ा है.

पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग के प्रमुख कुंवर विजय प्रताप सिंह के मुताबिक पंजाब की जेलों में 400 से अधिक गैंगस्टर कैद हैं. इसके अलावा पंजाब में 8ए क्लास गैंग्स काम कर रही है और हर गैंग में कम से कम 50 से 60 गैंगस्टर हैं. यानी जितने गैंगस्टर पंजाब की जेलों के भीतर हैं, उतने ही जेलों से बाहर भी सक्रिय हैं.

1. जयपाल गैंग

पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग ने राज्य के जिस खूंखार गैंग को पहले नंबर पर जगह दी है, उनमें जयपाल गैंग सबसे ऊपर बताया जा रहा है. इस गैंग का सरगना जयपाल सिंह भुल्लर है, जो फिरोजपुर के एक सेवानिवृत पुलिस सहायक इंस्पेक्टर का बेटा है. इस गैंग के सिर्फ तीन सदस्य जेलों में है और बाकी को भगोड़ा करार दिया गया है. जयपाल खुद भी एक भगोड़ा है. जयपाल कभी भी मोबाइल फोन इस्तेमाल नहीं करता. यही कारण है कि वह अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. जयपाल और उसकी गैंग के सदस्यों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और हिमाचल में हत्या, अपहरण और फिरौती के 40 से अधिक मामले दर्ज हैं. जयपाल और उसके साथियों ने फाजिल्का के गैंगस्टर से राजनेता बने जसविंदर सिंह रॉकी की 30 अप्रैल 2016 को हिमाचल प्रदेश के परवाणू में दिनदहाड़े गोलियां बरसा कर हत्या कर दी थी.

2. जग्गू गैंग

इस गैंग का सरगना जग्गू भगवानपुरिया उर्फ जसदीप सिंह है. जो बटाला के भगवानपुर गांव का रहने वाला है. इसके खिलाफ पंजाब और दूसरे राज्यों की विभिन्न अदालतों में 26 अपराधिक मामले विचाराधीन हैं. वह खुद फिलहाल पटियाला जेल में बंद है. जग्गू और उसके आधा दर्जन साथी पंजाब की जेलों में बंद हैं, जबकि तीन गैंगस्टर्स को भगोड़ा करार दिया गया है. विरोधी गुरप्रीत सेखों गैंग ने 15 जनवरी 2015 को इस गैंग के एक खूंखार शार्प शूटर सुखा काहलवा की दिन दिहाड़े हत्या कर दी थी.

3. लॉरेंस गैंग

इस गैंग का सरगना लॉरेंस बिश्नोई है जो पंजाब के अबोहर का रहने वाला है. फिलहाल वह राजस्थान की अजमेर जेल में बंद है और जेल से ही अपना गैंग चलाता है. उसने इस साल जनवरी 2018 में बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को जान से मारने की धमकी दी थी. उसके बाद हाल ही जून 2018 में हैदराबाद से गिरफ्तार उसके गुर्गे शार्प शूटर संपत नेहरा ने बकायदा सलमान खान के मुंबई स्थित घर की रेकी करने की बात भी कबूली थी.

4. रिंदा गैंग

इस गैंग का सरगना हरविंदर संधू उर्फ रिंदा है जो मूलतः पंजाब के तरनतारन का रहने वाला है. वह महाराष्ट्र के नांदेड़ से अपना गैंग चलाता है और पंजाब पुलिस द्वारा भगोड़ा करार दिया गया है. उसने पिछले साल होशियारपुर के सरपंच सतनाम सिंह की चंडीगढ़ के सेक्टर 38 में दिनदहाड़े हत्या कर दी थी. वह तरन- तारन में भी एक युवक की हत्या कर चुका है. उसने वर्ष 2016 में पटियाला जेल के कर्मचारियों पर भी हमला बोल दिया था. उसके खिलाफ पंजाब, महाराष्ट्र, हरियाणा और कई राज्यों में कई संगीन आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं. पुलिस को शक है कि वह एक खालिस्तान समर्थक भी है.

5. दिलप्रीत गैंग

इस गैंग का सरगना दिलप्रीत सिंह दाहा उर्फ बाबा है जो है जुलाई 2018 को चंडीगढ़ में पुलिस के हत्थे चढ़ा ।फिलहाल उससे चंडीगढ़ और पंजाब की पुलिस पूछताछ कर रही है। उसके गैंग के चार सदस्य पंजाब की विभिन्न जिलों में बंद है जबकि दो भगोड़े करार दिए जा चुके जा चुके हैं.

दिलप्रीत एक आशिक मिजाज गैंगस्टर है और एक समय में दो सगी बहनों को डेट कर रहा था. दिलप्रीत Facebook पर एक्टिव है और उसने पंजाब के गायक परमीष वर्मा पर जानलेवा हमला करने के बाद बाकायदा Facebook पोस्ट डाल कर उसकी जिम्मेवारी ली थी. वह एक गैंगस्टर होने के अलावा एक ड्रग्स स्मगलर और गैर कानूनी हथियार सप्लायर भी है.

वह अपने कई युवा और पढ़े-लिखे गुर्गों की मदद मदद से फिरौती का कारोबार चला रहा था. उसने हिमाचल प्रदेश के बद्दी और नालागढ़ के दर्जनभर उद्योगपतियों को धमकाकर फिरौती मांगी थी. पंजाबी गायक परमीश वर्मा पर भी उसे 20 लाख रुपए की फिरौती देने का आरोप है. पुलिस ने उसकी कार और उसकी एक गर्लफ्रेंड के घर से भारी मात्रा में हथियार और डेढ़ किलो हेरोइन बरामद की है.

6. बंबिहा गैंग

बंबिहा गैंग का सरगना दविंदर बंबीहा था जिसे बठिंडा पुलिस ने 9 सितंबर 2016 को एक एनकाउंटर में मार गिराया था. पंजाब पुलिस ने हाल ही इस गैंग के 11 सदस्यों को हथियारों सहित गिरफ्तार किया है, लेकिन इस गैंग का नया सरगना सुखप्रीत सिंह बूढा फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है.

सुखप्रीत बूढा ने जून 17, 2018 को भटिंडा के एक व्यवसायी को इसलिए मौत के घाट उतार दिया था, क्योंकि उसे शक था कि उसने पुलिस को देवेंद्र बंबीहा के बारे में जानकारी दी थी और बाद में पुलिस ने उसका एनकाउंटर कर दिया. पुलिस ने सुखप्रीत बुड्ढा को भगोड़ा घोषित किया है. बंबिहा गैंग के सदस्यों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा और दूसरे कई राज्यों में 40 से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं जिनमें फिरौती, हत्या, डकैती, लूटपाट और आर्म्स एक्ट से जुड़े अपराध शामिल हैं.

7. हैरी चठा गैंग

इस गैंग का सरगना सुप्रीत सिंह उर्फ हैरी चट्ठा है. वह पंजाब के बटाला के एक गांव का रहने वाला है. इसके खिलाफ अपहरण, गैंगवार, हत्या, चोरी, डकैती और नाभा जेल ब्रेक जैसे आठ संगीन मामले दर्ज हैं. वह फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है और उसे भगोड़ा करार दिया गया है. उस पर आरोप है कि उसने नाभा जेल तोड़ने वाले खालिस्तानी उग्रवादियों और गैंगस्टरों की मदद की थी.

8. गुरप्रीत सेखों गैंग

इस गैंग का सरगना गुरुप्रीत शेखों है, जो फिरोजपुर का रहने वाला है. उसकी गैंग का एक खूंखार गैंगस्टर विक्की गौंडर पुलिस एनकाउंटर में मारा जा चुका है. गुरप्रीत सेखों पर नाभा जेल तोड़ने और सुखा काहलवा गैंगस्टर की हत्या करने और पुलिस से हथियार छीनने का के मामले दर्ज हैं. यह गैंगस्टर कितना खूंखार है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जनवरी 2015 में सुखा कहलवा के शरीर में 40 गोलियां उतारने के बाद उसने और उसके साथियों ने उसकी लाश पर भांगड़ा किया था.

देश की सुरक्षा के लिए खतरा बने पंजाब के गैंगस्टर

गौरतलब है कि खुफिया एजेंसियां पहले ही पंजाब और दूसरे राज्यों की सरकारों को आगाह कर चुकी हैं कि पंजाब के गैंगस्टर देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन गए हैं. दरअसल पंजाब के गैंगस्टर आईएसआई के संपर्क में है जो न केवल इनको बराबर हथियार मुहैया करवाती है बल्कि नशा तस्करी में लिप्त कई गैंगस्टरों को नकली नोट और हेरोइन की सप्लाई भी करती है. पंजाब पुलिस द्वारा हाल ही गिरफ्तार किए गए बंबीहा गैंग के 11 सदस्यों से चीन में निर्मित हथियार बरामद किए गए हैं, जो इस बात का सबूत है.

पाकिस्तान से ऑपरेट करने वाले बब्बर खालसा के नए प्रमुख वधावा सिंह पर आईएसआई लगातार पंजाब में नकली करेंसी और हेरोइन तस्करी के लिए दबाव डाल रही है. विदेशों में बैठे खालिस्तानी ग्रुप नकली करेंसी और हेरोइन की स्मगलिंग के जरिए न केवल हथियार खरीद रहे हैं बल्कि उस पैसे से पंजाब के युवाओं को लुभाने का प्रयास भी कर रहे हैं.

हाल ही चंडीगढ़ में एक एनकाउंटर के दौरान जिंदा गिरफ्तार किए गए गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह दाहा उर्फ बाबा ने पुलिस पूछताछ में खुलासा किया कि वो और भगोड़ा गैंगस्टर हरविंदर संधू उर्फ रिन्दा कई बार वधावा सिंह से बात कर चुके हैं. पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस विभाग प्रमुख कुंवर विजय प्रताप सिंह ने माना है कि कई गैंगस्टर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के संपर्क में हैं, पुलिस उन पर नजर रख रही है.

सोशल मीडिया के जरिए अपराध

बीते कुछ समय से पंजाब के गैंगस्टर अपनी गतिविधियां चलाने के लिए सोशल मीडिया का खुलकर इस्तेमाल कर रहे हैं. पंजाब की जेलों में बंद बड़े गैंगस्टर अपनी आपराधिक गतिविधियों के अपडेट बकायदा अपने फेसबुक पेज पर साझा करते हैं. पंजाब के लगभग हर गैंगस्टर का अपना फेसबुक पेज है और कई गैंगस्टरों की फैन फॉलोइंग लाखों में है.

जयपाल गैंग ने 30 अप्रैल 2016 को जब फाजिल्का के पूर्व गैंगस्टर और राजनेता जसविंदर सिंह रॉकी की हत्या की थी. उसके बाद जयपाल ने खुद फेसबुक अपडेट के जरिए न केवल इसकी जिम्मेवारी ली थी, बल्कि भटिंडा के एक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को धमकाया भी था.

हाल ही गिरफ्तार किए गए गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह दाहा उर्फ बाबा ने भी पंजाबी गायक परमेश वर्मा पर हमला करने के बाद फेसबुक पर इसकी जिम्मेवारी ली थी. उसने बकायदा सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने के लिए एक MBA गुर्गा भी हायर किया था, जिसे मोहाली पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

पंजाब पुलिस ने सोशल मीडिया खासकर फेसबुक और WhatsApp पर गैंगस्टर और अपराधियों की बढ़ती सरगर्मी को देखते हुए बाकायदा एक साइबर सेल का गठन किया है, जो इनकी गतिविधियों पर नजर रखता है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक हाल ही गिरफ्तार किए गए दर्जन से ज्यादा गैंगस्टर सोशल मीडिया पर मिले लिंक्स के जरिए ही पकड़े गए हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay